पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हस्ताक्षर अभियान:सरकारी कॉलेज खुलता है तो यहां के बच्चे उच्च शिक्षा ग्रहण कर आत्मनिर्भर बन पाएंगे

चरखी दादरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला मुख्यालय पर सरकारी पीजी कॉलेज की मांग को लेकर शुक्रवार को हस्ताक्षर अभियान नगर के पुराना डाकघर व पुराना अस्पताल बैक साइड स्थित फौगाट मार्केट में चलाया गया। अभियान का शुभारंभ शिव फैलेक्स आर्ट के कुलदीप कुमार, संजय आर्य, कृष्ण कुमार यादव, नरेंद्र फौगाट, विक्की फौगाट, ऋषि, महेंद्र सिंह यादव, कृष्ण कुमार यादव की अगुवाई में हुआ।

सभी ने अपने-अपने हस्ताक्षर कर मांग को समर्थन दिया। हस्ताक्षरकर्ताओं ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि जिला मुख्यालय पर सरकारी पीजी कॉलेज खोल कर जिले को नई दिशा देने एवं नए आयाम स्थापित करने का काम करें। यदि जिला मुख्यालय पर उच्च शिक्षा के लिए कॉलेज खुलता है तो रोजगार, व्यापार, व दादरी के शहर का विकास होगा और जो विद्यार्थी दूर-दराज जाकर पढ़ने में असमर्थ है उन्हें अपने ही जिले में उच्च शिक्षा ग्रहण करने का अवसर प्रदान होगा।

क्षेत्र में ऐसे अनेकों विद्यार्थी है जो अपनी प्रतिभाओं का गला घोंट कर अपने सपनों को साकार नहीं कर पाते है जिसका मुख्य कारण प्राइवेट सेक्टरों में फीस की अधिकता होना है और बीच में ही पढ़ाई छोड़ने पर मजबूर होते है। यदि जिला मुख्यालय पर सरकारी पीजी कॉलेज खुलता है तो यहां के बच्चे उच्च शिक्षा ग्रहण कर आत्मनिर्भर बन पाएंगे।

इसलिए सभी हस्ताक्षरकर्ताओं ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए की गई घोषणाओं के आधार पर वे चरखी दादरी जिला मुख्यालय पर कॉलेज का निर्माण कर अपनी घोषणाओं को सिरे चढ़ाएं। इस अवसर पर संदीप फौगाट, अशोक कुमार, रवि शंकर, श्याम लाल, गिरधारी लाल महाराज, सुनील, अमित, रविंद्र, सत्यवान, प्रीतम सिंह इत्यादि एवं आने जाने वाले राहगीरों ने भी अपना समर्थन दिया तथा हस्ताक्षर एवं समर्थन पत्र सरकारी पीजी कॉलेज के कमेटी सदस्य रोहतास शर्मा को सौंपा दिया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें