पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भास्कर सरोकार:क्षेत्र की तरक्की के लिए बेहतर उच्च शिक्षण संस्थान होना बेहद ही जरूरी: प्रमोद श्योराण

चरखी दादरी14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला मुख्यालय पर गवर्नमेंट कॉलेज की मुहिम की मांग से जुड़ रहा हर वर्ग

आज तक हमारा क्षेत्र क्यों पिछड़ा हुआ है। इसका सीधा सीधा सा कारण है अच्छी और उच्च शिक्षा की कमी। क्षेत्र में आज तक हायर एजुकेशन की उपलब्धता के लिए प्रयास नहीं किए गए। क्षेत्र में हर कोई तो अमीर नहीं कि वो अपने बच्चों को दूसरे शहरों में हायर एजुकेशन की पढ़ाई के भेजे। इतना पैसा लोगों के पास नहीं है। बेहतर उच्च शिक्षा के अभाव के ये बच्चे बीच में पढ़ाई छोड़ देते हैं। इस कारण से इनके आर्थिक हालात भी नहीं सुधर पा रहे। बेहतर रोजगार प्राप्त करने के लिए उच्च शिक्षा ग्रहण करना जीवन में बहुत ही जरूरी है। अब हर वर्ग और समुदाय यहीं चाहता है कि जिला मुख्यालय पर एक बेहतर उच्च शिक्षा पाने के लिए सरकारी शिक्षण संस्थान खोला जाना बहुत ही जरूरी है। जब क्षेत्र में पढ़े लिखे लोग होंगे तो क्षेत्र की तरक्की भी सुनिश्चित है।

सरकारी कॉलेज बनने से हमारी भावी पीढ़ी को मिलेगा लाभ

हमारी भावी पीढ़ी को इसका लाभ मिलेगा जिला मुख्यालय पर सरकारी कॉलेज होना बहुत ही जरूरी है। सरकारी कॉलेज न होने की वजह से कुछ खास प्रतिभावान बच्चे दूर-दराज के कॉलेजों में उच्च शिक्षा के लिए नहीं जा पाते। प्राईवेट कॉलेज और छात्रावास में रहकर पढ़ाई करना महंगा भी है। अभिभावक दूर भेजकर पीजी की पढ़ाई नहीं करवा पा रहे है। कल की बागड़ोर हमारे युवा बेटा-बेटियों के हाथ में है अगर सरकारी कॉलेज खुलता है तो इसका लाभ उन्हें मिलेगा तथा शिक्षित नौजवानों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। हमारी भावी पीढ़ी को इसका लाभ मिलेगा। क्षेत्र की प्रतिभा को आगे बढ़ने का अवसर प्राप्त होगा। क्षेत्र की बेटियां जो स्कूल शिक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ देती है उनको अपने क्षेत्र में ही आगे बढ़ने का अवसर मिलेगा। एक बेटी शिक्षित होने पर दो परिवारों का फायदा करती है। मेरे क्षेत्र का विस्तार हो और सरकारी कॉलेज का निर्माण हो।-कमला चौधरी, आईएएस, रिटायर्ड कमिश्नर।

युवा दिल्ली व चंडीगढ़ जाकर महंगी शिक्षा प्राप्त करने को हैं मजबूर

शिक्षा वह नींव है जिसके ऊपर आचार्य चाणक्य ने 2 हजार वर्ष पूर्व एक अक्षीण मौर्य साम्राज्य खड़ा कर दिखाया था। यह दुर्भाग्य की बात है कि आज तक चरखी दादरी की भूमि बेहतर उच्चतर शिक्षा देने में असमर्थ है। हमारे क्षेत्र के योग्य बच्चे जब यहीं पर अच्छी पढ़ाई करेंगे तो उनका इस क्षेत्र की तरक्की में काफी बड़ा योगदान होगा। यहां के युवा दिल्ली और चंडीगढ़ जाकर महंगी शिक्षा प्राप्त करने को मजबूर है। मैं भी उन्हीं में से एक रहा हूं और अधिकतर गरीब वर्ग के बच्चों के साथ खासकर लड़कियों को तो वंचित ही रहना पड़ता है। तीन दशकों बाद ‘नई शिक्षा नीति-2020’ लाई गई है। इस शिक्षा नीति का लक्ष्य भारत को सुपर पावर बनाना है। ऐसे अवसर में मेरे क्षेत्र के लोग पीछे न रह जाए इसलिए मैं एक बेहतर एवं आधुनिक समाज के निर्माण के लिए एक अच्छा उच्च शिक्षा के लिए सरकारी शिक्षा संस्थान बनाने की मुहिम को अपनी वैचारिक एवं व्यक्तिगत समर्थन प्रदान करता हूं।-प्रमोद श्योराण, आईआरएस, डिप्टी कमीश्नर, कस्टम।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें