चिंता बढ़ी:खाडी ओवरफ्लो होने से सीसीआई में डाला जा रहा बरसाती पानी, पुलिस लाइन सहित कई ब्रांच डूबी

चरखी दादरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दादरी। अस्थाई पुलिस लाइन में भरा बरसाती पानी। - Dainik Bhaskar
दादरी। अस्थाई पुलिस लाइन में भरा बरसाती पानी।
  • दो महीने से जिले में अच्छी बरसात, जिससे शहर में जलभराव से लोगों को परेशानी

2 महीने से बार-बार हो रही बारिश के कारण शहर के लोग जलभराव की समस्या को झेल रहे हैं। इसका समाधान करने में विभाग के प्रयास विफल साबित हो रहे हैं। विभाग अगर एक जगह से पानी निकासी करवाता है तो दूसरी जगह जमा हो जाता है। इसी तरह से अब शहर में भरा बरसाती पानी निकाल कर सीसीआई परिसर ग्राउंड में निकाला जा रहा है।

सीसीआई में अब जलस्तर इतना ज्यादा बढ़ गया है कि वह ग्राउंड को छोड़कर विभिन्न भवनों में चल रहे पुलिस विभाग के कार्यालयों में घुस गया है। जिसकी चपेट में अस्थाई पुलिस लाइन सहित ट्रैफिक थाना, सेफ हाउस, सीआईए व स्पेशल स्टॉफ भी आ गया है। यहां विभिन्न ब्रांचों में सैकड़ों पुलिस कर्मचारी हैं जो जलभराव के कारण परेशानी उठा रहे हैं। जलभराव से मच्छर मक्खी तो बढ़ ही गई हैं।

मगर शहर से पानी निकालने के लिए अभी भी दिन रात मोटरें चल रही हैं और यह पानी शहर से उठाकर पूरा का पूरा सीसीआई में ही डाला जा रहा है। इसे देख लग रहा है कि पुलिस कर्मचारियों की परेशानी अभी और ज्यादा बढ़ने वाली है।

209 एकड़ का जंगल ऊपर से जलभराव

दादरी जिला तो बना मगर यहां पुलिस कर्मियों के लिए लाइन व अन्य ब्रांच चलाने के लिए जगह तक नहीं थी। ऐसे में सीसीआई के पुराने भवनों में ही अस्थाई तौर पर यह ब्रांचें चलाई जा रही हैं। सीसीआई के पास 209 एकड़ जमीन है जिसमें हर तरफ झाड़ खड़े हुए हैं। इस झाड़ में पहले ही जहरीले जीव आते रहते हैं। लेकिन अब तो यहां 2 से 3 फुट तक पानी भर गया है। इससे तो पुलिस कर्मियों को और भी ज्यादा खतरा बढ़ गया है।

ब्रांचों में 300 पुलिस कर्मचारी तैनात

सीसीआई के खंडहरनुमा पुराने भवनों में अस्थाई पुलिस लाइन, एमटी ब्रांच, सेफ हाउस, ट्रैफिक थाना, स्पेशल स्टॉफ, सीआईए स्टॉफ सहित अन्य ब्रांच यहीं पर चल रही हैं। पुलिस लाइन सहित इन ब्रांचों में करीब 300 पुलिस कर्मचारी तैनात हैं। जिन्हें बरसाती व गंदे पानी से ही अपनी ब्रांचों में आना जाना पड़ रहा है।

जलभराव खत्म न होने तक सीसीआई में डालेंगे पानी

पिछले दो महीने से जिले में काफी अच्छी बरसात हुई है। जिसका असर ये है कि पूरे शहर में ही जलभराव बना हुआ है। यह पूरा पानी सदर थाना बेक साइड खाडी में निकाला जाता है। लेकिन इस बार ज्यादा बारिश होने से यह खाडी भी ओवरफ्लो हो रखी है।

ऐसे में प्रशासन पूरे शहर का पानी निकाल खाडी में डाल रहा है। वहीं खाडी में पाइप लाइन डालकर इसे सीसीआई परिसर में निकाला जा रहा है। अब सीसीआई परिसर में यह पानी जब तक डलता रहेगा जब तक शहर से जलभराव खत्म नहीं हो जाता।

ट्रैफिक थाना में इंपाउंड वाहन भी पानी में खड़े रहने से हो रहे खराब

सीसीआई में ट्रैफिक थाना है जहां बिना कागजात इंपाउंड हुए वाहन खड़े किए हुए हैं। वहीं खुद पुलिस प्रशासन की एमटी ब्रांच भी है। जिसमें पूरे पुलिस प्रशासन के सभी वाहन खड़े रहते हैं। मगर ज्यादातर जलभराव की चपेट में इंपाउंड किए वाहन आए हुए हैं। जिनके टायर पानी में डूबे हुए हैं। टायर तो खराब हो ही रहे हैं साथ ही वाहनों की बॉडी को भी जर लग रहा है।

एसटीपी में डाल रहे पानी : एक्सईएन

सीसीआई परिसर में जो पानी निकाला जा रहा है उसे आगे समसपुर एसटीपी में डाला जा रहा है। यहां से पानी निकासी के लिए पाइप लाइन लगाई हुई है।''

-दलबीर सिंह, एक्सईएन, जनस्वास्थ्य विभाग।

खबरें और भी हैं...