पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का कहर:मास्क नहीं लगाने वालों पर सख्ती का दुकानदारों ने किया विरोध, बुधवारी माता पर बिना मंजूरी के लगाया मेला

चरखी दादरी15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एक तरफ कोरोना वायरस दोबारा तेज रफ्तार के साथ एक्टिव होता जा रहा है। जिसे लेकर दोबारा लॉकडाउन जैसे हालात बनते जा रहे हैं। मगर जिले में 26 मौते होने पर भी जिला प्रशासन हो या फिर आम नागरिक कोई भी कोविड 19 नियमों को गंभीरता से नहीं ले रहा है। लोग तो बेपरवाह हैं ही साथ ही जिला प्रशासन भी खानापूर्ति करने के लिए सख्ती दिखा रहा है।

उपायुक्त ने बुधवार को दोपहर तक जिला कल्याण अधिकारी को सख्ती के निर्देश दिए थे। मगर उन्हें लोगों का विरोध झेलना पड़ा तो इसके बाद खानापूर्ति ही करते रहे। दोपहर बाद नगर परिषद सचिव ने अपनी टीम के साथ शहर में सख्ती दिखाई। जिन्होंने कुछ लोगों के चालान भी काटे। दूसरी तरफ बिना ही किसी मंजूरी के शहर के बीचों बीच बुधवारी माता का मेला भी लगा। जहां पर भारी भीड़ उमड़ी हुई थी और 80 प्रतिशत लोग बिना फेस मास्क के ही वहां पहुंचे हुए थे। मगर इन पर कार्रवाई तो दूर की बात जागरूक करने भी कोई नहीं पहुंचा। यहीं कारण है कि जिले में कोरोना के 47 केस एक्टिव हो गए हैं। अगर यहीं हालात बने रहे तो एक सप्ताह भी नहीं लगेगा और कोरोना एक्टिव केस का आंकड़ा सैंकड़ा पार हो जाएगा।

भीड़ के बावजूद सख्ती नहीं
मेले में लगी भीड़ के सामने पुलिस कर्मचारी भी विवश ही दिखाई दे रहे थे। इसलिए मेले में सिर्फ एक बाइक पर दो पुलिस कर्मचारी ही स्थिति संभालने पहुंचे थे। मगर वहां भीड़ के कारण उनकी बाइक तक नहीं चल पाई। ऐसे में वह भी दोबारा मेले की तरफ नहीं आए और हालात भगवान भरोसे ही छोड़ दिए।

चालान काटने गया अधिकारी विरोध के बाद खिसका
डीसी के निर्देश पर बुधवार को शहरभर में बिना फेस मास्क और सोशल डिस्टेंस नहीं रखने वालों पर कार्रवाई के लिए जिला कल्याण विभाग अधिकारी विनोद चावला की ड्यूटी लगाई हुई थी। रोहतक चौक नजदीक विनोद चावला अपनी टीम और पुलिस के साथ दुकानों पर पहुंचे। जहां एक दुकानदार बिना फेस मास्क दिखा तो उसने चालान नहीं कटवाया। वहीं आस पड़ोस के दुकानदारों ने विरोध जताना शुरू कर दिया और कहा कि जनता सड़कों पर घूम रही है उनका चालान काटते नहीं हो और दुकानदारों को परेशान करने के लिए आ जाते हो।

बिना दस्ताने खुले हाथों से खिलाए गोल गप्पे
लघु सचिवालय के सामने ही बुधवारी माता पर मेला लगाया गया। यहीं पर बच्चे हो या बड़े सभी मेले में लगी स्टॉलों पर बिक रहे व्यंजन खाने में मशगुल थे। और रेहड़ी संचालक बिना हाथों में दस्ताने पहले एक साथ 10-10 लोगों को गोल गप्पे खिला रहे थे। जबकि एक सप्ताह पहले ही डीसी ने खुले हाथों से खाद्य पदार्थ खिलाने वालों पर रोक लगाने के निर्देश जारी किए थे।

विरोध के बाद खानापूर्ति पर उतरे अधिकारी
बिना फेस मास्क वालों के चालान काटने गए कल्याण विभाग अधिकारी दुकानदारों के विरोध पर वहां से खिसक गए। लेकिन इसके बाद अधिकारी ने भी ज्यादा गंभीरता से यह अभियान नहीं लिया। अधिकारी अपनी टीम के साथ रोहतक चौक पर ही आकर बिना मास्क वालों को मास्क लगाने के लिए जागरूक करना शुरू कर दिया।

मेले के बारे में नहीं थी कोई सूचना: एसडीएम
एसडीएम डॉ.विरेंद्र अहलावत ने कहा कि पूजा पाठ करने के लिए किसी मंजूरी की जरूरत नहीं होती। मगर बुधवारी माता पर मेले का भी आयोजन है इसके बारे में कोई सूचना नहीं थी। मेले की मंजूरी उपायुक्त महाेदय से लेनी पड़ती है। हमारी टीमें ग्राउंड में जाकर कोविड 19 नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई कर रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें