अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव:‘गीता के उपदेश पर चलकर राष्ट्र, समाज और स्वयं को मजबूत करें’

चरखी दादरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गीता महोत्सव के दौरान निकाली गई शोभा यात्रा में शामिल झांकियां। - Dainik Bhaskar
गीता महोत्सव के दौरान निकाली गई शोभा यात्रा में शामिल झांकियां।
  • राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव के समापन पर पहुंचे मुख्य अतिथि विधायक सोमबीर ने समारोह को संबोधित किया

गीता के उपदेशों पर चलते हुए हम एक समृद्घ और शक्तिशाली राष्ट्र की स्थापना कर सकते हैं। भारत जैसी पावन भूमि पर जन्म लेने वाले लोग धन्य हैं, जिन्हें यहां के ऋषि मुनियों द्वारा रचित पावन ग्रंथों और संत-महात्माओं की शरण में रहकर भगवत सत्ता को पाने की प्रेरणा मिलती है।

राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव के समापन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित रहे दादरी के विधायक सोमबीर सांगवान ने ये शब्द कहे। सर्वप्रथम मुख्य अतिथि ने गीता आरती स्थल पर दीप प्रज्जवलित कर भगवान श्रीकृष्ण के इस पावन ग्रंथ को प्रणाम किया। उसके बाद उपायुक्त प्रदीप गोदारा व अन्य अधिकारियों के साथ विधायक सोमबीर सांगवान ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया।

मंच पर समारोह को संबोधित करते हुए विधायक ने कहा कि गीता हमें बुराई का रास्ता त्याग कर अच्छाई पर चलना सिखाती है। हमें इस बात पर गर्व है कि हम उस हरियाणा के रहने वाले हैं, जहां भगवान श्री कृष्ण ने गीता जैसा अप्रतिम ज्ञान मानव जाति को दिया था। गीता का महत्व आज भी हमारे जीवन में ज्यों का त्यों है, जैसा कि उस काल में था।

छात्राओं ने नगर में निकाली गीता शोभा यात्रा

श्लोकों का उच्चारण कर मंगलवार को पचगांव कन्या गुरुकुल की छात्राओं ने राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की भूमि को गीता मंत्रों से और पावन कर दिया। गीता महोत्सव के तीसरे दिन की शुरूआत सुबह 11 बजे उपायुक्त प्रदीप गोदारा ने दीप प्रज्ज्वलित करके की। यहां मुख्य मंत्र पर पंतजलि योग समिति के बच्चों ने योगा की भाव मुद्राओं के साथ प्रस्तुति दी।

दोपहर 12 बजे कन्या गुरुकुल की छात्राओं ने अष्टादश श्लोकी गीता का पूरे भाव से मंत्रोच्चारण किया। गीता के 18 श्लोकों में अर्जुन को कर्मबंधन से मुक्त होने का भगवान श्री कृष्ण ने ज्ञान दिया है, उसका विवरण किया गया है। ये सभी श्लोक गीता के 18 अध्यायों से चुने गए हैं। जिसकी शुरूआत धृतराष्ट्र के श् लोक धर्मक्षेत्रे कुरूक्षेत्रे समवेता युयुत्सव: से होती है। पंद्रह मिनट का यह मंत्रोच्चारण हरियाणा के सभी जिलों में एक साथ किया गया, जिसे ग्लोबल चैंंटिंग कहा जाता है। नगराधीश अमित मान ने राकवमावि के मुख्य द्वार के सामने गीता की नगर शोभा यात्रा व गीता पालकी को झंडी दिखाकर रवाना किया।

विधायक सोमबीर सांगवान ने बेहतर प्रदर्शन करने वाली टीमों को सम्मानित किया

समारोह में मुख्य अतिथि सोमबीर सांगवान ने गीता महोत्सव में तीन दिन तक मनोहारी प्रदर्शन करने वाली टीमों एवं विद्यार्थियों पुरस्कार व प्रशस्ति पत्र प्रदान कर उनका उत्साह बढ़ाया। उन्होंने कार्यक्रम में आए विशिष्ट अतिथि को भी सम्मानित किया। दादरी के उपायुक्त प्रदीप गोदारा, अतिरिक्त उपायुक्त डा. मुनीष नागपाल, नगराधीश अमित मान ने विधायक सोमबीर सांगवान को शाल एवं स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया।

सांस्कृतिक संध्या के दौरान राजकीय विद्यालय पिचौपा कलां की छात्राओं का कृष्ण-अर्जुन संवाद, बौंद राजकीय महाविद्यालय के छात्र-छात्रा की नृत्य प्रस्तुति, राजकीय मॉडल संस्कृति विद्यालय दादरी की टीम का लोकनृत्य, भिवानी से आए कलाकार सुनील कौशिक, पवन कौशिक व उनकी टीम के द्वारा प्रस्तुत किए हरियाणवी लोकनृत्य ने दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया।

खबरें और भी हैं...