रूपरेखा तैयार:तीज उत्सव में पारंपरिक व्यंजन रहेंगे, आकर्षण का केंद्र लोक सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ झूला झूलने का प्रबंध

चरखी दादरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कस्बा बाढड़ा व झोझूकलां में 10 और 11 अगस्त को तीज उत्सव मनाया जाएगा

कस्बा बाढड़ा और झोझूकलां में 10 और 11 अगस्त को तीज उत्सव मनाया जाएगा। इस दो दिवसीय उत्सव में स्वयं सहायता समूह की महिलाएं अपने बनाए गए उत्पादों का प्रदर्शन करेंगी। ग्रामीण खेल, पींग, लोकगीत, लोकनृत्य, मीठी सुहाली, गुलगुले आदि पकवान से इस उत्सव को सुसज्जित किए जाने की पूरी तैयारी की जा रही है। इसको लेकर उपायुक्त कार्यालय में अधिकारियों की बैठक का आयोजित हुई। जिसमें तीज उत्सव मनाए जाने की रूपरेखा तैयार की गई। उत्सव में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, पंचायत विभाग, महिला एवंं बाल विकास विभाग की प्रमुख भूमिका रहेगी। एसडीएम डाॅ. विरेंद्र सिंह ने बताया कि इस उत्सव को मनाने का मुख्य उद्देश्य स्वयं सहायता समूह के उत्पादों की मार्केटिंग को बढ़ावा देना है। जिससे आम नागरिक स्वयं सहायता समूह के बनाए गए उत्पाद देखें और उनकी ज्यादा से ज्यादा खरीद करें।

उन्होंने कहा कि 10 व 11 अगस्त को बाढड़ा और झोझू राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में तीज उत्सव का आयोजन होगा। उत्सव में स्वयं सहायता समूह के अलावा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा वर्कर, ग्राम पंचायतों की सदस्य रही महिलाएं भी भाग लेंगी। बाढड़ा के एसडीएम शंभू राठी ने कहा कि तीज उत्सव में महिलाओं के लिए वैक्सीनेशन कैंप लगाया जाएगा। इसके अलावा मटका रेस, चम्मच दौड़, मेहंदी आदि महिलाओं की प्रतियोगिता करवाई जाएगी। इस उत्सव में महिलाओं की बनाई गई मिठाइयां विशेष आकर्षण का केंद्र रहेगी। उन्होंने कहा कि तीज उत्सव में पींग झूलने व लोक सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए पूरा प्रबंध किया जाएगा।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कौशल कटारिया ने बताया कि दादरी जिला के गांवों में इस समय 11 सौ से अधिक स्वयं सहायता समूह काम कर रहे हैं। इन समूह की महिलाएं खिलौने, अचार, मंगोड़ी, पेंसिल, डिजाइनदार कपड़े आदि बेहतरीन उत्पाद बना रहे हैं। इनकी स्टालें तीज उत्सव में लगाई जाएंगी। यहां ग्रामीण आजीविका मिशन के कार्यक्रम अधिकारी योगेश पाराशर, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी कंवरदमन सिंह, तहसीलदार बंसीलाल, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी सुभाष शर्मा, नरेश छिकारा, रोशनलाल श्योराण इत्यादि उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...