प्रोजेक्ट:तीसरी बार टेंडर करने पर दो एजेंसी आईं आगे एक महीने में तैयार होगी आरओबी की ड्राइंग

चरखी दादरी9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दादरी रोहतक रोड रेलवे फाटक। - Dainik Bhaskar
दादरी रोहतक रोड रेलवे फाटक।
  • रेलवे फाटक पर बनेगा 800 मीटर लंबा आरओबी, 25 करोड़ का बजट हो चुका है मंजूर
  • जीएडी टेंडर के लिए एजेंसी नहीं आने के कारण हो रही थी देरी

दादरी रोहतक रोड रेलवे फाटक का निर्माण करने के लिए अगले माह टेंडर काॅल जारी हो जाएगी। क्योंकि आरओबी के लिए प्रदेश सरकार पहले ही 25 करोड़ रुपये बजट पास कर चुकी है। आरओबी बनाने की राह में सिर्फ जीएडी टेंडर के लिए एजेंसी नहीं आने के कारण देरी हो रही थी। मगर तीसरी बार टेंडर करने पर दो एजेंसियों ने आवेदन किया है।

ऐसे में अब दोनों कंपनियों की फाइलें पीडब्लूडी ने मुख्यालय भेज दी हैं। जहां एक एजेंसी को आरओबी की ड्राइंग तैयार करने का टेंडर अलॉट किया जाएगा। यह ड्राइंग एक महीने में तैयार करनी होगी। जिसके तुरंत बाद आरओबी निर्माण के लिए टेंडर जारी कर दिए जाएंगे। आरओबी बनने से जिले वासियों को पुरानी मांग पूरी हो जाएगी।

13 लाख 70 हजार रुपये में तैयार होगी ड्राइंग

पीडब्लूडी विभाग आरओबी की जीएडी (जनरल अरेंजमेंट ड्राइंग) बनाने वाले कंसल्टेंट को हायर करने के लिए दो बार पहले भी टेंडर लगा चुका है। लेकिन पहली बार किसी भी एजेंसी ने टेंडर नहीं भरा, दूसरे टेंडर के समय सिर्फ एक एजेंसी आई इसलिए टेंडर अलॉट नहीं हो पाया।

अब तीसरी बार टेंडर करने पर दो एजेंसी ड्राइंग के लिए आई हैं। ऐसे में दोनों की वर्क हिस्ट्री की फाइलें पीडब्लूडी ने मुख्यालय भेज दी हैं। एक महीने के अंदर ड्राइंग तैयार करने के लिए 13 लाख 70 हजार रुपये बजट खर्च किया जाएगा।

10 मीटर चौड़ी सड़क और 1 मीटर में बनेगा फुटपाथ

रेलवे फाटक पर आरओबी की चौड़ाई 11 मीटर की जाएगी। इसमें 10 मीटर तीन लेन का रोड बनाया जाएगा। जबकि 1 मीटर के दोनों साइड फुटपाथ भी बनाए जाएंगे। आरओबी की जमीन से ऊंचाई 6 मीटर ऊंची की जाएगी। जबकि आरओबी 800 मीटर लंबा बनाया जाएगा। इससे पहले बना आरओबी 4 मीटर ऊंचा है जिसे भी दोबारा तोड़कर बनाने के लिए योजना बनाई जा रही हैं। सभी जगहों पर रेलवे आरओबी डबल डेकर ट्रेनों के आधार पर 6 मीटर ऊंचा बनाने में जुटा हुआ है।

एक बार रद्द तो एक बार दब चुकी फाइल

करीब दस वर्ष पूर्व कांग्रेस सरकार के दौरान भी आरओबी को मंजूरी मिल गई थी। मगर सत्ताधारियों ने इसे अपने स्वार्थ के लिए रद्द करवा दिया था। वहीं अब भाजपा सरकार के दौरान करीब तीन साल पहले सीएम मनोहर लाल खट्टर ने दादरी रोहतक रोड रेलवे फाटक पर आरओबी बनाने की घोषणा की थी। मगर अभी तक घोषणा का लेटर जिले में पहुंचा ही नहीं था। ऐसे में पीडब्लूडी अधिकारी तीन वर्ष बाद इस लेटर को बाई हैंड चंडीगढ़ हैड क्वार्टर से लेकर आए हैं। जिन्होंने जमीन एनओसी ली और रेलवे से भी मंजूरी ली है। ऐसे में अब जीएडी टेंडर होने से लगने लगा है कि अब आरओबी का जल्द निर्माण शुरू हो जाएगा।

फाटक बंद होने पर जाम से मिलेगी निजात

दादरी राेहतक रेलवे फाटक शहर का सबसे मुख्य है। क्योंकि इकलौता यहीं मार्ग है जिससे चंडीगढ़, दिल्ली व गुरुग्राम का जुड़ता है। वहीं करीब दो दर्जन गांव के लोग भी इसी मार्ग पर हैं जो हररोज इसी रेलवे फाटक को क्रॉस कर शहर में प्रवेश करते हैं। वहीं इस फाटक से सामान्य दिनों में 26 ट्रेने चलती हैं। इनमें से 10 माल गाड़ी हैं जो अभी भी चल रही हैं। एक ट्रेन आने पर करीब 20 मिनट तो कभी 30 मिनट भी फाटक बंद हो जाता है। इसलिए यहां वाहनों की लंबी लाइन लगने से जाम की स्थिति बनी रहती है।

टेंडर प्रक्रिया की शुरू: दहिया

आरओबी की जीएडी बनाने के लिए टेंडर किया गया था। इसके लिए दो एजेंसी सामने आई हैं। जिनकी फाइल मुख्यालय भेज दी हैं। जहां पर टेंडर अलॉट होगा। जैसे ही एजेंसी ड्राइंग तैयार करती है आरओबी निर्माण के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।'' -सोमबीर सिंह दहिया, एक्सईएन, पीडब्लूडी।

खबरें और भी हैं...