पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हादसों को न्यौता:दादरी-चंडीगढ़ मार्ग पर भीड़भाड़ वाले दो टी-प्वाइंट्स से वाहनों की तेज रफ्तार लोगों की लील रही जान

बौंदकलां8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दादरी चंडीगढ़ मुख्य मार्ग पर बौंदकलां के दो टी-प्वाइंटों से भारी वाहनों की तेज रफ्तार लोगों की जान लील रही है। वहीं पर पीडब्लूडी के अधिकारी स्पीड ब्रेकर को समस्या का समाधान नहीं बता रहे है। कस्बे में जहारवीर गोगापीर से लेकर गवर्नमेंट कॉलेज तक करीबन सवा किलोमीटर का एरिया क्षेत्र भीड़भाड़ वाला है। इस क्षेत्र में पिछले 12 सालों में 10 से 12 लोग अपनी जान गंवा चुके है। वहीं पर सैकड़ों की संख्या में चोटिल हो चुके है।

तेज रफ्तार से वाहनों के गुजरने पर ग्रामीण एडवोकेट अमित परमार, अजय गोयल, टीटू शर्मा व भोली परमार ने बताया कि बस स्टैंड होने और हनुमानजी मंदिर होने के साथ ही सरकारी अस्पताल होने से मुख्य मार्ग पर लोगों का आना जाना रहता है। नेशनल हाईवे 152 डी का निर्माण भी चल रहा है। जिससे हर रोज हजारों वाहन तेज गति से निकलते है। वाहनों की चपेट में आने से कई लोग मारे जा चुके है। उन्होंने विभाग से स्पीड ब्रेकर बनवाने की मांग की है।

टी-प्वाइंट नंबर-1

कस्बे में टी-प्वाइंट नंबर एक मुख्य मार्ग से बाजार को जाने वाला रास्ता है। इस रोड पर से सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थी भी आवागमन करते है। इसके साथ ही तीस हजार आबादी का आने जाने का मुख्य रास्ता है। बाजार में अन्य गांवों के ग्रामीण भी आते है। यहां पर बस स्टैंड होने से अक्सर भीड़ रहती है। वाहनों के मुख्य रोड पर चढ़ने और उतरने के कारण यहां पर अक्सर हादसे होते रहते है।

टी-प्वाइंट नंबर-2

कस्बे में दूसरा सबसे ज्यादा भीड़भाड़ वाला रास्ता मुख्य मार्ग को जोड़ने वाला मालकोष रोड है। इस प्वाइंट पर भी सुबह 4 बजे से ही काफी संख्या में महिलाएं और पुरुषों का सैर के लिए निकलना होता है जिनको मुख्य मार्ग क्रॉस करना पड़ता है। इसके साथ ही मालकोष लिंक रोड होने और निजी स्कूल होने से आवागमन काफी रहता है।

कस्बे के सवा किलोमीटर के दायरे में पांच स्पीड ब्रेकर बने हुए है। उन्होंने तेज रफ्तार से वाहनों के गुजरने की समस्या को मानने हुए कहा कि स्पीड ब्रेकर समस्या का समाधान नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि दोनों टी-प्वाइंटों के साथ ही सीएचसी के सामने जेब्रा क्रॉसिंग की पट्टी बनवा दी जाएगी।- सुरेंद्र सिंह दलाल, एक्सईएन|

खबरें और भी हैं...