पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रदेश में टॉप रहे हम:एनएमएमएस परीक्षा में जिले के 214 विद्यार्थी हुए पास; गांव बैजलपुर के सबसे अधिक 16 और गाजूवाला स्कूल के 10 विद्यार्थी हुए पास

फतेहाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फतेहाबाद। गांव बैजलपुर का राजकीय विद्यालय।(फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
फतेहाबाद। गांव बैजलपुर का राजकीय विद्यालय।(फाइल फोटो)

एससीईआरटी ने नेशनल मीन्स कम मैरिट परीक्षा का अंतिम परिणाम जारी कर दिया है, जिसमें जिला के 214 विद्यार्थी मैरिट में आए हैं तथा जिला प्रदेश में पहले नंबर रहा है। प्रदेश में टॉप रहने पर शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से जिला शिक्षा अधिकारी के माध्यम से मैरिट में आए जिले के विद्यार्थियों को बधाई दी है।

इस परीक्षा में पास होने वाले विद्यार्थियों को अगले 4 सालों तक सरकार की तरफ से प्रति महीने 1 हजार के हिसाब से छात्रवृति दी जाएगी, यानि विद्यार्थी को 4 साल में कुल 48 हजार छात्रवृति मिलेगी। परीक्षा में पास होने वाले विद्यार्थियों को जिला शिक्षा अधिकारी दयानंद सिहाग, मौलिक शिक्षा अधिकारी अनिता सिंगला, उप जिला शिक्षा अधिकारी सत्यवृत ने भी बधाई दी।

इन स्कूलों के अधिक विद्यार्थी हुए पास

गांव बैजलपुर के सबसे अधिक 16 विद्यार्थी मैरिट में आए हैं। गांव गाजूवाला के 10, गांव मिराना व मोचीवाली स्कूल के 7-7 तथा गांव बनावाली, सिधानी, इंदाछोई और रत्ताखेड़ा राजकीय विद्यालय के 5-5 विद्यार्थी पास हुए हैं।

जानिए... छात्रवृति लेने के लिए यह जरूरी

मैरिट में आए विद्यार्थी को अगले 4 सालों तक जो छात्रवृति मिलेगी उसके लिए विद्यार्थी को कक्षा 9वीं, 10वीं व 11वीं में 60 फीसदी से अधिक अंक लेने होंगे। विद्यार्थी के परिवार की सालाना इनकम 1.50 लाख से कम होनी चाहिए।

हर साल होती है नेशनल मीन्स कम मैरिट परीक्षा

एससीईआरटी हर साल नेशनल मीन्स कम मैरिट परीक्षा आयोजित करवाता है जिसमें 8 कक्षा के विद्यार्थी परीक्षा देते हैं। इस परीक्षा में मैरिट में आने वाले विद्यार्थियों को 12वीं कक्षा तक उक्त छात्रवृति दी जाती है।

खबरें और भी हैं...