गीता महोत्सव का समापन:50 स्कूलों के 2500 विद्यार्थियों ने ऑनलाइन जुड़कर किया श्लोकोच्चारण, शोभायात्रा से गीता मय हुआ शहर

फतेहाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव में एमएम कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में प्रस्तुति देते बच्चे। - Dainik Bhaskar
अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव में एमएम कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में प्रस्तुति देते बच्चे।
  • तीसरे दिन विधायक देवेंद्र सिंह बबली ने शोभा यात्रा को झंडी दिखाकर किया रवाना

जिले में 12 दिसंबर से शुरू हुए तीन दिवसीय जिला स्तरीय गीता महोत्सव का मंगलवार को समापन हो गया। महोत्सव के अंतिम दिन जिले के 50 स्कूलों के 2500 विद्यार्थियों ने ऑनलाइन माध्यम से जुड़कर एक साथ गीता के श्लोकों का उच्चारण किया। वहीं दोपहर बाद शहर में निकाली गई भव्य शोभा यात्रा से शहर गीता मय हो गया। एमएम कॉलेज में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में स्कूली बच्चों द्वारा प्रस्तुत किए गए सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने भी समा बांधा।

सुबह के कार्यक्रम में टोहाना के विधायक देवेंद्र बबली ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की तथा विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनियों का अवलोकन किया। इसके बाद उन्होंने पंचायत भवन से शुरू हुई पालकी एंव शोभायात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। वहीं शाम को आयोजित हुए संस्कृति संध्या कार्यक्रम में हरियाणा सार्वजनिक उपक्रम ब्यूरो के चेयरमैन सुभाष बराला ने शिरकत की और पुरस्कार वितरित किए।

शहर के इन इलाकों से निकाली शोभायात्रा, संगठनों ने किया स्वागत

अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव के उपलक्ष्य में मंगलवार को स्थानीय पंचायत भवन से पालकी एवं शोभा यात्रा निकाली गई। विधायक देवेंद्र सिंह बबली द्वारा झड़ी दिखाकर रवाना की गई इस यात्रा में विभिन्न सामाजिक-धार्मिक संगठनों व स्कूली बच्चों द्वारा झांकियां प्रस्तुत की गई। पंचायत भवन से शुरू हुई यह यात्रा डीएसपी रोड, जवाहर चौक, थाना रोड, फव्वारा चौक, लाल बत्ती चौक, बस अड्डा के रास्ते से होते हुए एमएम कॉलेज के प्रांगण में पहुंची। अनेक स्थानों पर सामाजिक-धार्मिक संगठनों ने यात्रा का जोरदार स्वागत किया।

गीता का संदेश अनुसरण करने से सुखमय होता है जीवन ः बबली

विधायक देवेंद्र बबली ने कहा कि गीता जीवन जीने की एक पाठशाला है, इसे जितना दोहराएंगे उतने ही पारंगत होते जाएंगे। गीता का संदेश अनुसरण करने से जीवन सुखमय होता है। एमएम कॉलेज में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए बबली ने कहा कि हरियाणा प्रदेश की संस्कृति पूरे देश में सबसे अलग है तथा इसी कारण हमारी विश्व भर में अलग पहचान है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा हर वर्ष आयोजित होने वाले गीता महोत्सव कार्यक्रम से प्रदेशवासियों में गीता के प्रति जागरूकता आई है और गीता घर-घर पहुंच रही है।

ये रहे मौजूद

इस अवसर पर उपायुक्त प्रदीप कुमार, एडीसी अजय चोपड़ा, सीजेएम डॉ. सविता कुमारी, एसडीएम डॉ. चिनार चहल, सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के उप निदेशक डॉ. साहिब राम गोदारा, डीईओ दयानंद सिहाग, डीडीएएच डॉ. काशी राम, सहायक निदेशक गुरप्रताप सिंह, उपनिदेशक डीआईसी जीसी लांग्यान, एडवोकेट संत लाल टूटेजा, टेकचंद शर्मा, सुदामा शास्त्री सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी व स्कूली बच्चे मौजूद रहे।

व्यक्ति के जीवन में मार्गदर्शक की भूमिका निभाती है गीता : बराला

​​​​​​​सार्वजनिक उपक्रम ब्यूरो के चेयरमैन सुभाष बराला ने कहा कि प्रदेश की मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व वाली सरकार ने गीता के प्रचार प्रसार को बढ़ावा दिया है तथा पिछले 6 साल से हर बार महोत्सव ना सिर्फ भारत बल्कि कई देशों में मनाया जा रहा है। बराला ने कहा कि गीता जीवन जीने की एक संपूर्ण पाठशाला के साथ-साथ व्यक्ति के जीवन में एक मार्गदर्शक की भूमिका भी निभाती है। गीता हमारी संस्कृति, परंपरा और सभ्यता की सूचक है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को आमजन तक पहुंचाए।

खबरें और भी हैं...