पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

10 करोड़ के 3 प्रोजेक्ट:शहर में 3 साल पहले शुरू हुए पानी निकासी के 3 प्रोजेक्ट अब भी अधूरे, इस मानसून में झेलनी पड़ेगी जलभराव की दिक्कत

फतेहाबाद3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फतेहाबाद। चिल्ली में पानी निकासी के लिए मशीन रखने को तैयार किया जा रहा स्थान। - Dainik Bhaskar
फतेहाबाद। चिल्ली में पानी निकासी के लिए मशीन रखने को तैयार किया जा रहा स्थान।
  • रंगोई नाले तक पाइप लाइन बिछी पर मशीनें फिट होने में लगेंगे 2 सप्ताह, धर्मशाला रोड से चिल्ली की पाइप लाइन का काम भी अधूरा
  • चिल्ली के झील बनने के प्रोजेक्ट के साथ जुड़े हैं बरसाती पानी निकासी के प्रबंध

बरसाती सीजन में इस बार भी शहरवासियों को जलभराव की समस्या से जूझना पड़ेगा। करीब 3 साल से शहर के बरसाती पानी निकासी की समस्या के समाधान को लेकर शुरू हुए प्रोजेक्ट अभी तक पूरे नहीं हुए हैं। हालांकि जनस्वास्थ्य विभाग की ओर से अस्थाई प्रबंध करने के दावे किए हैं, लेकिन यह कितने पर्याप्त हैं यह ज्यादा बरसात होने के बाद स्पष्ट हो पाएगा। इन तीनों प्रोजेक्ट की लागत करीब 10 करोड़ के आस-पास है।

इन इलाकों में रहती है पानी निकासी की समस्या : शहर के जिन इलाकों में बरसाती पानी की समस्या रहती है, उनमें धर्मशाला रोड, रविदास चौक, जवाहर चौक, शास्त्री नगर, बीघड़ चौक, लालबत्ती चौक, अनाज मंडी के पीछे का एरिया शामिल है। वहीं शहर का बरसाती पानी थाना रोड, भीमा बस्ती व डीएसपी रोड के रास्ते जवाहर चौक से होते हुए चिल्ली में जाता है। ऐसे में इन मुख्य मार्गों पर तेज व ज्यादा बरसात होने के बाद 4 से 5 घंटे पानी निकलने में लगते हैं।

1. चिल्ली से रंगोई नाले तक 8 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन का काम 80 प्रतिशत हुआ

चिल्ली को झील बनाने और शहर के बरसाती व सीवरेज के पानी की निकासी के लिए चिल्ली से लेकर रंगोई नाले तक करीब 8 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछाई जा रही है। पाइप लाइन, मशीनें व मोटरें आदि लगाने के काम पर करीब 8 करोड़ रुपये खर्च होने हैं। 3 साल पहले इस पर काम शुरू हुआ था। कोरोना व टेंडर प्रक्रिया पूरी न होने की वजह से काम में देरी होती रही। अब पाइप लाइन बिछ चुकी है, मशीनें भी आ चुकी हैं, लेकिन बरसाती सीजन की वजह से वहां जलभराव है, जहां मशीनें लगनी हैं, इस वजह से अभी 10 से 15 दिन तक मशीनों को फिट करने में लगेंगे। तब तक इस पाइप लाइन को शुरू नहीं किया जा सकता।

2. सरकारी स्कूल में अब तक नहीं लग पाया बूस्टिंग पंप

धर्मशाला रोड व वाल्मीकि चौक के आस-पास के बरसाती पानी की निकासी को लेकर सरकारी स्कूल में बूस्टिंग पंप लगना है। जिस पर करीब 41 लाख रुपये खर्च होने हैं, लेकिन दो साल से यह काम भी अटका हुआ है। पहले तय जगह को कुछ लोग सही नहीं बता रहे थे तो अब टेंडर नहीं हो पा रहा है। इस बूस्टिंग पंप से पानी खींचकर चिल्ली की तरफ भेजा जाएगा। लेकिन यह प्रोजेक्ट भी शुरू नहीं हो पा रहा है।

3. पाइप लाइन का काम भी पेंडिंग

धर्मशाला रोड के पास पानी को निकालने के लिए चिल्ली तक पाइप लाइन बिछाई जानी है, लेकिन यह लाइन 35 प्रतिशत ही बिछाई जा चुकी है। बाकी काम पेंडिंग है। पहले कोरोना व मंजूरी के अभाव में प्रोजेक्ट अटका रहा, अब फिर से कई दिक्कतें आ रही हैं।

जानिए... पानी निकासी के लिए नप ने जनस्वास्थ्य विभाग काे दिया था बजट

फतेहाबाद में नगर परिषद की ओर जनस्वास्थ्य विभाग को सीवरेज लाइन बिछाने के लिए बजट तो दिया लेकिन इस काम पर निगरानी नहीं रखी। इसका परिणाम यह हुआ कि जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने अपने हिसाब से काम कर दिया। अब रंगोई नाले की पाइप लाइन के लिए भी नप ने बजट दिया हुआ है। चूंकि शहर का पानी चिल्ली की ओर ही जाता है, लेकिन पहली बरसात ने अफसरों की ढीली कार्यप्रणाली की पोल खोल दी थी।

सीधी बात- गौरव कंसल, एक्सईएन, जनस्वास्थ्य विभाग

Q. चिल्ली से रंगोई पाइप लाइन का क्या हुआ A. 80 प्रतिशत काम हो चुका है, बस मशीनें फिट होनी है। 10-12 दिन में काम पूरा कर लिया जाएगा।

Q. स्कूल में लगने वाले बूस्टिंग पंप का क्या हुआ। A. इस का टेंडर लगाया हुआ है, दो बार कोई भी ठेकेदार नहीं आया। इसके लिए अभी 10 दिन और इंतजार करना पड़ेगा। 30 जुलाई को टेंडर खोला जाना है।

Q. इस बार पानी की निकासी हो पाएगी या नहीं A. हमें उम्मीद है कि इस बार लोगों को ज्यादा दिक्कत नहीं आएगी। इस बार सभी प्रोजेक्ट पूरे होने के बाद हमेशा के लिए समस्या दूर हो जाएगी।

हालात... 70 लाख से बिछाई थी सीवरेज लाइन, वह भी काम नहीं आई

धर्मशाला रोड, तुलसी दास चौक, सन्यास आश्रम रोड, वाल्मीकि चौक के बरसाती पानी की निकासी को लेकर 70 लाख रुपये से जनस्वास्थ्य विभाग ने सीवरेज बिछाई थी, लेकिन तुलसी दास चौक के पास अब भी पानी भरा रहता है। इस सीवरेज लाइन काे बिछाने के लिए सड़क उखाड़ी गई, जिसे दोबारा बनाने में 1 करोड़ से अधिक खर्च हुए। लाइन बिछाने के बाद बावजूद समस्या का हल नहीं हो पाया। चूंकि धर्मशाला रोड एरिया के पानी का नेचुरल फ्लो तुलसी दास चौक की ओर है। जिससेे पूरा पानी नहीं निकल पाता।

खबरें और भी हैं...