• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Fatehabad
  • After 60 Hours, The Dead Bodies Of The Two Friends, Found 60 Kilometers Away, Were On The Difference Of A Day, The Birthdays Of Manty And Munish, Used To Celebrate Together

धरना प्रदर्शन:60 घंटे बाद 60 किलोमीटर दूर बरामद हुए दाेनाें दाेस्ताें के शव, एक दिन के अंतर पर था माेंटी और मुनीश का जन्मदिन, मिलकर मनाते थे

जाखल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जाखल। पुलिस थाने के बाहर धरना देकर घेराव करते मृतक मुुनीश के परिजन। - Dainik Bhaskar
जाखल। पुलिस थाने के बाहर धरना देकर घेराव करते मृतक मुुनीश के परिजन।
  • परिजन बाेले- किसी से नहीं थी दुश्मनी, रात 9 बजे बंद हाे गया था फाेन
  • दाेनाें​​​​​​​ के शरीर पर मिले चाेट के निशान, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका, पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगा किया थाने का घेराव

जाखल की नई बस्ती रेलवे रोड निवासी मुनीश व उसके दोस्त मोंटी का शव घटना के 60 घंटे बाद 60 किलोमीटर दूर बरामद हुआ। शवों को नहर से बाहर निकाला गया तो दोनों के शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। मुनीश के सिर पर जहां रॉड से चोट मारी हुई है वही मोंटी के सिर में भी नुकीली चीज से वार किया हुआ मिला है।

जिससे आशंका है कि दोनों की मारपीट कर हत्या की गई है। लेकिन परिजनों का कहना है कि दोनों का न तो किसी से कोई झगड़ा था और न ही किसी से कोई दुश्मनी थी। वह दोनों इकट्ठे ही रहते थे। घटना वाले दिन भी वह बाजार से घर का सामान लेने के लिए गए थे। सामान लाकर घर रखने के तुरंत बाद मुनीश मोंटी की बाइक पर चला गया। लेकिन इसके बाद दाेनाें घर वापस नहीं लौटे और करीब 9 बजे उनका फोन बंद हो गया।

आरोप- घटनास्थल के नजदीक है म्योंद पुलिस चाैकी, पुलिसकर्मी सतर्क होते तो रोकी जा सकती थी घटना

मुुनीश के परिजनों ने पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाया। मुनीश के परिजनों सहित नई बस्ती के सैकंडों लोग बुधवार को शव मिलने पर भड़क गए। परिजनों का कहना है कि घटनास्थल म्योंद पुलिस चौकी से मात्र 800 मीटर की दूरी पर है। पुलिस अगर चाहती तो मौके पर पहुंचकर घटना को रोक सकती थी।

लेकिन पुलिस ने इस मामले में कोई ध्यान नहीं दिया। परिजनों का कहना है कि दोनों युवकों के भाखड़ा नहर में डूबने पर भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। यहां तक कि वह 60 किलोमीटर दूर तक खुद ही उनकी तलाश करते रहे। अगर वह तलाश न करते तो दोनों के शव भी बरामद नहीं होने थे।

परिजनों ने कहा कि दोनों की कॉल डिटेल निकालने के 2 दिनों तक भी पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची। मामले को लेकर परिजनों ने पुलिस थाने का घेराव किया और नारेबाजी करते हुए रोष प्रदर्शन किया। परिजनों ने कहा कि पुलिस तुरंत हत्या आरोपियों को काबू करे। उन्होंने यह भी कहा कि इस मामले में गहनता से जांच की जाए।

दोनों दोस्तों की मौत भी एक ही दिन हुई

मुनीश व मोंटी में इतनी गहरी दोस्ती थी कि वह अपना जन्मदिन भी एक ही दिन मनाते थे। दोनों के जन्मदिन में 1 दिन का ही अंतर था। मुनीश का जन्मदिन 2 नवंबर को व मोंटी का 1 नवंबर को होता था। लेकिन दोनों अपना जन्मदिन भी एक साथ ही मनाते थे। लेकिन विडंबना कि दोनों दोस्तों की मौत भी एक ही दिन हुई।

पुलिस हर पहलू की जांच कर रही

दोनों युवकों की कॉल डिटेल निकलवा कर जांच की जा रही है। पुलिस घटना से जुड़े हर पहलू की जांच कर रही है। दोनों शवों का पोस्टमार्टम करवाया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के उपरांत जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी। मामले में जो भी कोई दोषी हाेगी उसे बख्शा नहीं जाएगा।''

-बीरम सिंह, डीएसपी, टोहाना।

खबरें और भी हैं...