पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मशीनें नहीं आने से अटका ऑक्सीजन प्लांट का काम:फतेहाबाद में सिविल वर्क पूरा हुए 1 सप्ताह बीता, रतिया में 20% काम कंप्लीट

फतेहाबाद25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फतेहाबाद के नागरिक अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट के लिए बनाया शेड। 8 मई को 10 दिन में प्लांट शुरू करने की योजना थी, अब तक नहीं हुआ। - Dainik Bhaskar
फतेहाबाद के नागरिक अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट के लिए बनाया शेड। 8 मई को 10 दिन में प्लांट शुरू करने की योजना थी, अब तक नहीं हुआ।
  • अधिकारी बोले : जल्द आ जाएंगी ऑक्सीजन मशीनें, एनएचआई ने कहा-रतिया के बाद भट्टू में शुरू करेंगे सिविल वर्क

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में अप्रैल और मई महीने में देश भर में आई ऑक्सीजन की किल्लत के चलते केंद्र सरकार ने फतेहाबाद नागरिक अस्पताल तथा रतिया व भट्टू सीएचसी में ऑक्सीजन प्लांट लगाने का निर्णय लिया था। इन तीनों प्लांटों का सिविल वर्क नेशनल हाईवे अथॉरिटी को करना था तथा डीआरडीओ को प्लांट के लिए मशीनें भेजनी थी।

एनएचआई ने अपना सिविल वर्क पूरा कर दिया लेकिन डीआरडीओ द्वारा ऑक्सीजन मशीनें नहीं भेजे जाने के चलते नागरिक अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट शुरू नहीं हो पा रहा है। जबकि, फतेहाबाद के नागरिक अस्पताल में सिविल वर्क पूरा हुए एक सप्ताह बीत चुका है।

हालांकि, बीती 8 मई को इन प्लांटों को 10 दिन में शुरू करने की बात कही गई थी। लेकिन अब मशीनरी नहीं पहुंच पाने के चलते काम अधर में लटक गया है। यहां बता दें कि एनएचआई अब रतिया में लगने वाले ऑक्सीजन प्लांट का सिविल वर्क कर रही है जो 6 से 7 दिन में पूरा हो जाएगा, इसके बाद भट्टू सीएचसी में कार्य शुरू किया जाएगा। प्लांट शुरू होने से जिले में ऑक्सीजन की कमी नहीं रहेगी।

कहां मिले कितने संक्रमित

  • फतेहाबाद 22
  • टोहाना 4
  • रतिया 29
  • भट्‌टू 15
  • बड़ोपल 7
  • भूना 9
  • जाखल 7
  • कुल 93

टोहाना प्लांट के लिए डीसी ने बनाई कमेटी

टोहाना में लगने वाले ऑक्सीजन प्लांट के लिए उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने जिला प्रशासन को 30 लाख रुपये की ग्रांट भेजी है जिसे जिला प्रशासन ने टोहाना एसएमओ को जारी कर दिया है तथा टोहाना एसडीएम, पीडब्ल्यूडी व स्वास्थ्य विभाग की कमेटी गठित की है जो प्लांट का कार्य करवाएगी।

फतेहाबाद में 500, भट्टू व रतिया में 200 एलपीएम होगी क्षमता

यहां बता दें कि फतेहाबाद में लगने वाले ऑक्सीजन प्लांट में प्रति मिनट 500 लीटर तथा रतिया व भट्टू सीएचसी में प्रति मिनट 200-200 लीटर ऑक्सीजन जेनरेट होगी। इसके अलावा प्रदेश सरकार एक प्लांट टोहाना के अस्पताल में भी लगवा रही जिसकी क्षमता भी 200 एलपीएम होगी। इन चारों ऑक्सीजन प्लांट के शुरू होने के बाद जिले में प्रति मिनट 1100 लीटर ऑक्सीजन जेनरेट हो सकेगी।

जानिए, केंद्र सरकार की थी जिले में 3 जगहों पर प्लांट शुरू करने की योजना

जिले में ऑक्सीजन की किल्लत ना रहे इसके लिए केंद्र सरकार की तरफ से फतेहाबाद के नागरिक अस्पताल व रतिया तथा भट्टू सीएचसी में उक्त क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट लगाने का निर्णय लिया गया था। योजना के तहत फतेहाबाद के नागरिक अस्पताल में 10 दिन में प्लांट शुरू किया जाना था। इसी प्रकार अगले 10-10 दिनों में रतिया व भट्टू में प्लांट शुरू करने की योजना थी। लेकिन अभी तक 20 दिन बीत जाने के बाद भी कोई प्लांट शुरू नहीं हो पाया है।

93 कोरोना पॉजिटिव मिले, 4 संक्रमितों की मौत, 221 को किया डिस्चार्ज

रविवार को जिले में कोरोना के 93 नए पॉजिटिव केस मिले तथा 4 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। जिले में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 16 हजार 894 हो गई है। इनमें से 15 हजार 256 लोग ठीक हो चुके हैं तथा अब तक जिले में 406 लोगों की मौत हो चुकी है। रविवार को 221 लोगों को डिस्चार्ज किया गया।

राहत- जिले में 3 दिन से ब्लैक फंगस का कोई केस नहीं

रविवार को भी ब्लैक फंगस का नया मरीज नहीं मिला। राहत की बात है कि पिछले तीन दिन से जिले में कोई नया मरीज नहीं मिला है। हालांकि शुक्रवार को एक मरीज की मौत हुई थी। फतेहाबाद में अब तक ब्लैक फंगस के 23 आशंकित मरीजों में 16 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। जिसमें से 4 की मौत हुई है।

इसी सप्ताह आ जाएंगी मशीने : लांग्यान

​​​​​​​ऑक्सीजन प्लांट डीआरडीओ द्वारा लगाए जा रहे हैं, इनका सिविल वर्क एनएचआई को करना है। डीआरडीओ की तरफ से इसी सप्ताह मशीनें आने के बाद प्लांट शुरू कर दिया जाएगा।'' -जेसी लांग्यान, नोडल अधिकारी ऑक्सीजन।

रतिया में जल्द पूरा हो जाएगा कार्य: नैन

हमने फतेहाबाद के ऑक्सीजन प्लांट का सिविल वर्क पूरा कर दिया है तथा रतिया सीएचसी में कार्य जारी है जो जल्द ही पूरा हो जाएगा। इसके बाद भट्टू में काम शुरू करेंगे।'' -अमित नैन, साइट इंजार्च, गावड़ कंपनी।

ऑक्सीजन की नहीं रहेगी कमी: डीसी

​​​​​​​जिले के टोहाना, फतेहाबाद, रतिया व भट्टू अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगने से प्रति मिनट 1100 लीटर ऑक्सीजन जेनरेट होगी जिससे ऑक्सीजन की कमी नहीं रहेगी। टोहाना में प्लांट के लिए कमेटी गठित कर दी है।'' -डॉ. नरहरि बांगड़, डीसी।

खबरें और भी हैं...