पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रोष:कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने जिले में 25 जगह लगाए जाम, कच्चे रास्तों से निकले वाहन

फतेहाबाद22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जाखल. किसानों के चक्का जाम में फंसी बारात की गाड़ी पर लगा किसान समिति का झंडा जिस पर गाड़ी को तुरंत आगे रवाना कर दिया गया। - Dainik Bhaskar
जाखल. किसानों के चक्का जाम में फंसी बारात की गाड़ी पर लगा किसान समिति का झंडा जिस पर गाड़ी को तुरंत आगे रवाना कर दिया गया।
  • शहर के लालबत्ती चौक व हांसपुर कट पर किसानों ने रखा रोड जाम, जिले के दोनों पूर्व विधायकों काे मंच पर नहीं दी जगह
  • बारात के वाहनों और एंबुलेंस को दिया रास्ता, वाहनों के हॉर्न बजा शहीद हुए किसानों को दी श्रद्धांजलि

तीन कृषि कानूनों के विरोध में शनिवार को किसानों ने जिलेभर में 25 स्थानों पर नेशनल, स्टेट व लोकल रोड जाम कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया तथा कानूनों को रद्द करने की मांग की। किसानों ने फतेहाबाद शहर के लालबत्ती चौक व एनएच बाइपास के हांसपुर चौक पर रोड जाम किया।

इसके अलावा नेशनल हाइवे पर दरियापुर, धांगड़ व बड़ोपल में भी किसानों ने रोड जाम कर प्रदर्शन किया। किसानों के रोड जाम के चलते पुलिस द्वारा रूट डायवर्ट कर वाहनों को निकाला गया, जिससे वाहन चालकों व आमजन को कम परेशानी हुई।

वहीं जिलेभर में किसानों ने एंबुलेंस व बारात की गाड़ियों को रास्ते देकर जाने दिया। दोपहर तीन बजे सभी स्थानों पर किसानों ने अपने वाहनों के हॉर्न बजाकर शहीद हुए किसानों को श्रद्धांजलि देकर जाम का समापन किया। दोपहर बाद भूना में हुई किसानों की जनसभा में किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी पहुंचे।

कार्यक्रम में पहुंचे जिले के दोनों पूर्व विधायकों बलवान सिंह दौलतपुरिया व प्रहलाद सिंह गिल्लाखेड़ा को जहां मंच पर जगह नहीं दी गई वहीं गुरनाम सिंह चढ़ूनी की मौजूदगी में बोलने का मौका भी नहीं दिया। किसानों के प्रदर्शन के चलते जिले भर में तीन घंटे तक रोडवेज व प्राइवेट बस सेवा भी बंद रही। किसान समन्वय समिति के आह्वान पर किसान अनाज मंडी में एकत्रित हुए और लाल बत्ती चौक पर चक्का जाम किया। वहीं हांसपुर चाैक पर खेती बचाओं संघर्ष समिति की ओर से चक्का जाम किया गया।

हांसपुर रोड पर जाम से आमजन को हुई परेशानी

हांसपुर चाैक पर पर किसानों द्वारा चक्का जाम करने के बाद आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ा। हांसपुर की तरफ से आने वाले दुपहिया वाहन चालक अपना वाहन फुटपाथ के ऊपर से निकालते हुए नजर आए तो कुछ लोग जाम के चलते पैदल ही सामान लेकर वहां से निकलते हुए नजर आए।

चक्का जाम करने के दौरान एक व्यक्ति अपनी बेटी को बाइक पर बैठा जब जाम से निकलने लगा तो कुछ किसान ने उसे रोक लिया। वाहन चालक बोला कि उसकी बेटी की परीक्षा है और मजबूरी है, लेकिन कुछ युवा बोले कि ऐसा है तो रोल नंबर स्लिप दिखाओ।

इस बात वह व्यक्ति भड़क गया और बोला कि वह कौन होता है स्लिप मांगने वाला है। वह भी किसान है। अगर बेटी की परीक्षा न होती तो वह भी धरने पर बैठा होता है। वाहन चालक ने यह तक कह दिया कि तुम्हारे जैसे लोग ही आंदोलन को खराब करते हैं। इसके बाद कुछ मौजिज लोग वहां पहुंचे और वाहन चालक व उसकी बेटी को जाम से जाने दिया।

रतिया में बड़ी नहर के पुल, संजय गांधी चौक व खूनन में लगाया जाम

रतिया| किसानों ने रतिया में तीन जगह पर जाम लगाकर रोष जताया। जाम फतेहाबाद रोड पर बड़ी नहर के पुल, संजय गांधी चौक व गांव खूनन में लगाया गया। इनमें खेती बचाओ-किसान बचाओं समिति द्वारा बड़ी नहर पुल, किसान संघर्ष समिति द्वारा संजय गांधी चौक व देहाती मजदूर सभा द्वारा गांव खूनन में जाम लगाया गया। जाम के चलते वाहन चालकों को परेशानी हुई। जाम के दौरान केवल एंबुलेंस व विवाह की गाड़ियों को ही जाने दिया। जाम के चलते चालकों ने 11 बजे ही बसों को आगमन बंद कर दिया। हरियाणा व पंजाब की रोडवेज व निजी बसें रतिया बस स्टैंड पर ही सुरक्षा के लिहाज से रोकी गई। बस स्टैंड पर पुलिस बल भी तैनात किया गया। शाम को ही बसों को आगमन शुरु हो पाया।

टोहाना में 200 पुलिसकर्मी रहे तैनात, डायवर्ट रूटों से निकाले वाहन

टोहाना| किसानों ने शहर के हिसार रोड पर टाउन पार्क के सामने 148बी नेशनल हाईवे पर चक्का जाम किया। किसानों द्वारा शहर के उक्त चक्का जाम सहित गांव कन्हड़ी, समैण, ललौदा, डांगरा व रत्ताखेड़ा में भी सड़कों पर चक्का जाम किया गया, जिस कारण लोगों के विभिन्न स्थानों पर बंटे से यहां उपस्थिति काफी कम रही। वहीं डीएसपी बिरम सिंह के नेतृत्व में करीब दो सौ पुलिस कर्मियों ने सुरक्षा व्यवस्था को संभाला। उन्होंने विभिन्न चक्का जाम स्थलों से वाहनों का रूट डायवर्ट करवाकर यातायात को चालू रखा। {यहां से डायवर्ट किए वाहनों के रूट : टोहाना शहर के हिसार बाईपास से वाहनों को वाया डांगरा की ओर से बड़े बाईपास के रास्ते, वहां से न्यूकेम फैक्टरी के पास से लोहाखेड़ा होते हुए, कन्हड़ी व समैण गांवों में गांव के दोनों से निकलने वाले रास्तों से वाहनों को निकाला गया।

भूना में तीन स्थानों पर जाम किया सिरसा-चंडीगढ़ हाईवे

भूना| भूना में शहीद भगत सिंह पार्क व ढाणी गोपाल चौपटा तथा जाडली कलां बस स्टैंड पर किसानों ने सिरसा चंडीगढ़ रोड जाम किया। शहीद भगत सिंह पार्क के पास रतिया, जाखल, टोहाना, फतेहाबाद व उकलाना जाने वाले सभी मार्गों को अवरुद्ध किया गया। इसके अलावा गांव जांडली कला बस स्टैंड पर फतेहाबाद भूना मार्ग को तीन घंटों तक जाम किया गया। फतेहाबाद से भूना आने वाले वाहनों को वाया भूथन हसंगा नाढोड़ी रूट से निकाला गया। जबकि उकलाना से भूना आने वाले वाहनों को सनियाना वाया बुवान-भूना सड़क पर निकाला गया। धरने पर गायक पार्टियों ने लगातार 3 घंटे तक जाम स्थल पर बैठे लोगों का मनोरंजन किया।

सरकार सड़कों पर नुकीले लोहे लगाए या टैंक खड़े करे किसान अपनी मांग पर डटे रहेंगे: चढूनी

भूना| शास्त्री मंडी भूना में शनिवार को सर्व जातीय किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। जिसमें भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी मुख्य वक्ता के रूप में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि सरकार सड़कों पर नुकीले लोहे लगा दें और चाहे टैंक खड़े करें। किसान अनुशासित ढंग से अपनी मांग पर डटे रहेंगे। चढूनी ने 26 जनवरी के मामले मेंे कहा की वे सभी लोग सरकार के ही थे। यह सुनियोजित था। उन्होंने कहा कि किसानों ने ट्रैक्टर परेड पूरी तरह शांतिपूर्ण तरीके से निकाली थी। उन्होंने कहा कि सरकार के इशारे पर पिछले एक सप्ताह से किसानों को डराने का काम किया जा रहा है। कभी पुलिस तो कभी दूसरी एजेंसी परेशान कर रही हैं। सरकारी गुंडों ने गाजीपुर और कुंडली बार्डर पर पांच बार किसानों को निशाना बनाया है। यही नहीं किसानों की बिजली व पानी की सप्लाई तक बंद कर दी गई थी।

टैक्टरों से रोका कुलां चौक, दो दर्जन गांवों के किसान पहुंचे

कुलां| अखिल भारतीय किसान संघर्ष मोर्चा के आह्वान पर दो दर्जन गांव के किसानों ने चार घंटे कुलां चौंक पर धरना लगा कर रोड़ जाम कर दिया। वाहन चालक रुट बदल कर अपने गंतव्य पर जाते रहे। किसानों ने चौक के चारों तरफ की सड़कों पर ट्रैक्टर खड़े कर बाधा खड़ी कर दी गई। किसानों ने सरकार विरोधी नारेबाजी की गई।

जाखल में बारात की गाड़ी को दिया रास्ता

जाखल| जाखल के कड़ेल चौक पर पातड़ां, पटियाला, चंडीगढ़, कुलां भुना, एवं बुढलाडा, बठिंडा सहित सुनाम, लहरा मार्ग को जोड़ने वाला चौक किसानों ने पूर्ण तौर पर चारों ओर से बंद रखा। जिस कारण लोगों को काफी परेशानियों का भी सामना करना पड़ा। लेकिन वही इस जाम में पंजाब की ओर से जाखल में पहुंची एक बारात में दूल्हे की गाड़ी पहुंचने पर किसानों ने उनकी मजबूरी को समझा। इस गाड़ी को बैरिकेट हटाकर जाने दिया गया।

टाउन पार्क में मीटिंग कर फतेहाबाद रोड किया जाम

भट्टूकलां| अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर शनिवार को भट्टूमंडी में किसानों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए फतेहाबाद रोड़ जाम कर आक्रोश जताया। किसानों ने पहले चौधरी देवीलाल टाउन पार्क के पास मीटिंग की। उसके बाद पैदल यात्रा जत्था निकालकर रोष प्रदर्शन किया। सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए किसानों ने फतेहाबाद रोड पर मेहूवाला मोड़ के पास जाम लगा दिया। तीन घंटे तक लगातार जाम रहा। भट्टूमंडी - फतेहाबाद रोड जाम होने के कारण वाहनों को वाया मेहूवाला व ढींगसरा से निकाला गया।

आंदोलन को बदनाम करने की थी सरकार की साजिश : गुरनाम

भूना में शनिवार को सर्व जातीय किसान महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि सरकार सड़कों पर नुकीली कील लगा दे चाहे टैंक खड़े कर दे किसान अनुशासित ढंग से अपनी मांग पर डटे रहेंगे। 26 जनवरी के मामले कहा की वे सभी लोग सरकार के ही थे। ऐसा किसानों के आंदोलन को बदनाम करने की नीयत से किया गया था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें