जहरीला धुंआ घाेंट रहा सांसें:जिले में धड़ल्ले से बिके और बजे पटाखे, 80 स्थानों पर फसल अवशेष जलने से दीपावली की रात 410 पर पहुंचा एक्यूआई

फतेहाबाद23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोहाना इलाके के खेतों में जलते फसल अवशेष। - Dainik Bhaskar
टोहाना इलाके के खेतों में जलते फसल अवशेष।
  • 500 के पार पहुंची फायर लोकेशन, धान की कटाई का 60% काम पूरा
  • पाबंदी के बावजूद पटाखे बेचने पर दो नामजद, आतिशबाजी रोकने को ढीली दिखी प्रशासन की कार्रवाई, गाेदामाें के पिछले दरवाजाें से बेचे पटाखे

सुप्रीम कोर्ट व एनजीटी के आदेशों पर जिले में लगाई गई पटाखों की बिक्री पर रोक की दीपावली के दिन नागरिकों से खूब धज्जियां उड़ाई। दीपावली के दिन प्रशासन की ढीली निगरानी के चलते पटाखा गोदामों पर खूब पटाखे बिके तथा लोगों ने खूब आतिशबाजी कर दीपावली मनाई।

लोगों द्वारा आतिशबाजी करने व किसानों द्वारा 80 स्थानों पर धान की फसल के अवशेषों को जलाने के चलते दीपावली के रात जिले का एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 को पार करते हुए 410 पहुंच गया। हालांकि शुक्रवार को दिन में एक्यूआई में 100 प्वाइंट की गिरावट दर्ज की गई तथा एयर क्वालिटी इंडेक्स 330 दर्ज किया गया।

पुलिस ने जिले के कुलां इलाके में पटाखे बेचने वाले दो लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। वहीं जिले में फसल अवशेष जलने की लोकेशन का आंकड़ा भी 500 को पार कर गया है। प्रशासन व विभाग की टीमों द्वारा कार्रवाई नहीं किए जाने के चलते किसान लगातार फसल अवशेषों को जला रहे हैं। जिसके चलते पिछले 3 दिन से जिले में लगातार जहरीला स्मॉग छाया हुआ है, दिन में हवा चलने से थोड़ी राहत मिलती है लेकिन शाम होते फिर से घना स्मॉग छाने से परेशानी पैदा हो जाती है।

चोरी छिपे बिके पटाखे, टीमों ने नहीं की रेड

दीपावली के दिन सुबह के समय पटाखों की बिक्री को लेकर एक बार पुलिस की टीमें सक्रिय दिखाई दी, लेकिन इसके बाद दिन में पटाखों के गोदाम संचालकों से पाबंदी के बावजूद खूब पटाखे बेचे। अधिकतर गोदामों में पिछले दरवाजे से पटाखे बेचे गए। हालांकि प्रशासन ने पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने के लिए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की टीमें गठित की हुई थीं, लेकिन जिले में कहीं भी कोई बड़ी कार्रवाई नहीं हुई।

दो दुकानदारों से बरामद हुए 36 किलोग्राम पटाखे

पुलिस ने बाजार में छापेमारी कर दो दुकानदारों को पटाखों सहित गिरफ्तार किया। कुलां पुलिस चौकी प्रभारी कपिल देव ने बताया कि दिवाली के मौके पटाखे बेचने पर रोक होने के बारे सभी दुकानदारों को अवगत करवाया हुआ था। इसके बावजूद कुछ दुकानदार के चोरी छिपे पटाखे बेचने की शिकायत मिली। पुलिस ने दुकानों पर छापेमारी की तो दो दुकानदारों से 36 किलो पटाखे बरामद किए। दुकानदार संदीप गोयल से 22 किलो व विजय कुमार से 14 किलो पटाखे बरामद किए। बाद में पुलिस ने उन्हें जमानत पर छोड़ दिया।

चिंता बढ़ा रहा प्रदूषण, रोगियों का रखें ध्यान

फसल अवशेषों का आग लगाने के चलते हवा की गुणवत्ता स्वास्थ्य के लिए हानिकारक बनी हुई है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने नागरिकों से सांस व आंख के रोगियों, अन्य गंभीर रूप से बीमार व्यक्तियों तथा बच्चों को कमरे के अंदर ही रखने की अपील की है, ताकि उन्हें हवा में मौजूद प्रदूषण से बचाया जा सके। इसके अलावा सुबह के समय सैर करने वाले नागरिकों से भी कहा गया है कि वे कुछ दिनों तक सुबह की सैर ना करें।

मुच्छल व 1121 की कटाई अभी पेंडिंग

यहां बता दें कि जिले में परमल धान की कटाई का लगभग 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है, अब जिले में मुच्छल व 1121 धान की कटाई का काम बाकी है जो अगले 1 सप्ताह में पूरा किया जाना है। वहीं गेहूं की बिजाई के रफ्तार पकड़ने के चलते किसान लगातार फसल अवशेषों को आग लगा रहे हैं ताकि गेहूं की अगेती बिजाई की जा सके।

सिर्फ कागजों में गठित टीमें

जिले में फसल अवशेषों को जलाने की घटनाओं को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने गांव, ब्लॉक, उपमंडल व जिला स्तर पर विशेष टीमों का गठन किया हुआ है, लेकिन किसानों द्वारा लगातार फसल अवशेष जलाने के बावजूद भी कोई अधिकारी फील्ड में नहीं जा रहा है, इतना ही नहीं विलेज लेवल की कमेटियां प्रशासन को सूचना तक नहीं दे रही हैं, ऐसे में बड़ा सवाल है कि प्रशासन लगातार जल रहे फसल अवशेषों को लेकर गंभीर क्यों नहीं है और क्या टीमों का गठन केवल कागजी खानापूर्ति करने के लिए किया गया है।

खबरें और भी हैं...