पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वायु प्रदूषण:हरसैक की भेजी 153 में से 64 लोकेशन मिली फेक, 9 और किसानों के खिलाफ एफआईआर

फतेहाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में रात को फसल अवशेष जला रहे किसान, सुबह सैर के लायक नहीं हवा
  • सुबह एक्यूआई 307 तो शाम को हुआ 189, पराली जलाने से लगातार बढ़ रहा वायु प्रदूषण

जिले के किसान लगातार फसल अवशेषों को आग लगा रहे हैं। अधिकतर किसानों द्वारा रात के समय आग लगाने के चलते सुबह के समय जिले की आबोहवा दिन व शाम के मुकाबले अधिक प्रदूषित होती है। सुबह के समय जिले का एयर क्वालिटी इंडेक्स 300 के पार पहुंच जाता है इसलिए इतनी प्रदूषित हवा सुबह की सैर के लायक नहीं है। वहीं दिन में हवाएं चलने से धुआं छंट जाता है जिसके चलते एक्यूआई कम हो जाता है तथा 200 से भी नीचे पहुंच जाता है। यहां बता दें कि जिले में हरसेक ने अब तक फसल अवशेषों को आग लगने की 153 लोकेशन प्रशासन को भेजी हैं। इनमें से 64 लोकेशन ऐसी हैं जो फेक पाई गई हैं। वेरिफिकेशन करने गए अधिकारियों के अनुसार उस लोकेशन पर आग लगी ही नहीं। फसल अवशेष जलाने पर सोमवार को भी पुलिस ने 9 और किसानों के खिलाफ केस दर्ज किए हैं। जिले में अब तक 77 किसानों के खिलाफ केस दर्ज हो चुके हैं।

एक्स सीटू मैनेजमेंट पर अधिकतम 1 हजार प्रोत्साहन

विभाग ने धान के अवशेषों की गांठें बनाने वाले किसानों को अधिकतम 1 हजार रुपये प्रोत्साहन देने का निर्णय लिया है। यह प्रोत्साहन 50 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से दिया जाएगा। यदि किसान अवशेषों को पंचायती भूमि पर रखता है, गोशाला भेजता है या बेचता है तो उसे यह प्रोत्साहन राशि मिलेगी। इन सीटू मैनेजमेंट करने वाले किसानों को कोई प्रोत्साहन नहीं मिलेगा।

भ्रम में न रहें पराली जलाने वाले...रात को भी लोकेशन भेजता है हरसैक

किसान फसल अवशेषों को रात के समय इसलिए आग लगाते हैं क्योंकि उन्हें भ्रम है कि रात को आग लगाने पर हरसैक में लोकेशन नहीं आएगी। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। हरसैक रात के समय भी आग लगाने पर लोकेशन भेजता है। क्योंकि इन दिनों शाम के समय वातावरण में नमी हो जाती है इसलिए पराली गीली होती है। ऐसे में उस पराली काे आग लगाने पर धुआं अधिक निकलता है। इसके अलावा रात के समय में हवा कम चलने से धुआं छंट नहीं पाता है। जो अधिक प्रदूषण का कारण बन रहा है।

अधिकतम 1 हजार मिलेगा अनुदान : डीडीए

फसल अवशेषों की गांठें बनाने वाले किसानों को 50 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से अधिकतम 1 हजार रुपये प्रोत्साहन राशि मिलेगी। जिले में अब तक 77 किसानों के खिलाफ केस दर्ज करवाए हैं। हरसेक से 153 लोकेशन मिली हैं जिनमें से 64 फेक थी।'' -राजेश सिहाग, डीडीए

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें