चौटाला परिवार में फिर चले शब्दों के बाण:अजय बोले-इनेलो इतिहास के पन्नों में गुम होगी; अभय के बयान के बाद भड़का है डिप्टी CM का परिवार

फतेहाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जन नायक जनता पार्टी (जजपा) का विलय भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में होगा या फिर इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) का फिर जजपा में, इसको लेकर चौटाला परिवार में छिड़ी बहस खत्म नहीं हो रही है। इनेलो विधायक अभय चौटाला, जजपा महासचिव दिग्विजय चौटाला के एक दूसरे पर प्रहार के बाद सोमवार को जजपा नेता और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के पिता अजय चौटाला भी इस लड़ाई में कूद पड़े।

अभय के बयान से तनातनी

बता दें कि इनेलो विधायक अभय चौटाला ने कहा था कि जजपा का जल्द भाजपा में विलय होने वाला है। इसी बयान को लेकर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का परिवार भड़का हुआ है और जुबानी जंग में इनेलो को लगभग खत्म कर चुका है। फतेहाबाद में पहुंचे अजय चौटाला ने तो यहां तक कह दिया कि इनेलो इतिहास के पन्नों में गुम होने वाली है।

भोड़िया खेड़ा में अजय का भाई पर तंज

इनेलो पर तंज कसते हुए कहा कि आने वाले समय में मीडिया यह कहा करेगी कि एक होती थी इनेलो। गांव भोड़िया खेड़ा में जनसभा के बाद पत्रकारों से बातचीत में अपने भाई और इनेलो नेता अभय चौटाला पर अप्रत्यक्ष रूप से वार करते हुए कहा कि कुछ लोगों को मीडिया में रहने के लिए आधारहीन बात करने की आदत होती है।

जिसके पास 23%वोट थे, अब देखो हाल

वे पिक्चर में बने रहना चाहते हैं। हम कोई भविष्य वक्ता तो नहीं है, लेकिन जिस प्रकार के हालात हैं, उन्हें देखकर हम यह कह सकते हैं। जिस पार्टी के पास 23 प्रतिशत वोट थे, 20 विधायक थे और विपक्ष का पद था। 10 माह बाद यानि चुनाव में कहां से कहां पहुंच गई और चुनाव से 10 माह पहले ही बनी जजपा कहां से कहां पहुंची, इस चीज का आकलन किया जाना चाहिए।

फतेहाबाद के भोड़िया खेड़ा गांव में लोगों के बीच अजय चौटाला। सभा में चौटाला समेत अधिकतर ने मास्क नहीं लगाया हुआ था। सभी कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाते दिखे, लेकिन रोकने-टोकने वाला कोई नहीं था।
फतेहाबाद के भोड़िया खेड़ा गांव में लोगों के बीच अजय चौटाला। सभा में चौटाला समेत अधिकतर ने मास्क नहीं लगाया हुआ था। सभी कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाते दिखे, लेकिन रोकने-टोकने वाला कोई नहीं था।

पंजाब में भाजपा के लिए वोट

अजय ने पंजाब चुनाव पर बोलते हुए कहा कि वे पंजाब जरूर जाएंगे। पंजाब में जजपा अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा का ही समर्थन करेगी। वहीं आज के कार्यक्रम पर उन्होंने कहा कि पिछले 2 सालों से कोरोना और किसान आंदोलन के चलते जनता से संपर्क नहीं कर सके थे। अब हर हलके में जाकर लोगों से संपर्क किया जा रहा है। उनकी समस्याओं के समाधान का प्रयास किया जा रहा है। पूरे प्रदेश में के सभी हलके में पार्टी का सदस्यता अभियान भी चलाया जा रहा है।

कोरोना गाइडलाइन की उड़ाई धज्जियां

भोड़िया खेड़ा की जनसभा में जजपा नेता अजय चौटाला ने कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ा दी। लोगों से बात करते हुए न तो उन्होंने मास्क लगाया था ओर न ही उनके साथ सोफे पर बैठे लोगों ने। उनके पीछे खड़े लोगों में से भी अधिकतर ने मास्क नहीं लगा रखा था।

गरीबों पर 500 रुपए जुर्माना

बता दें कि हरियाणा में बिना मास्क घर से बाहर निकलने वालों पर 500 रुपए का जुर्माना किया जा रहा है। वे अपनी गाड़ी में अकेले बैठें हों तो भी मास्क अनिवार्य है। पुलिस कहीं भी रोक कर उसका चालान कर देगी। लेकिन नेता नेताओं पर इस प्रकार की बंदिशें हैं, यह कहीं नहीं दिखाई पड़ रहा। दुष्यंत चौटाला जो कि काेराेना पॉजिटिव हो चुके हैं, वे भी रविवार को सोनीपत में बिना मास्क के दिखे।

आप ने उठाई आवाज

नेताओं के इस व्यवहार और प्रशासन के मौन रहने को देखते हुए सोमवार को हिसार में आम आदमी पार्टी ने लघु सचिवालय में भैंस के साथ जाकर डीसी को ज्ञापन सौंपा। मनोज राठी ने कहा कि मास्क के नाम पर सिर्फ आम आदमी, गरीब को ही प्रताड़ित किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...