• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Fatehabad
  • Lies Told About Running Out Of Stock, 125 Bags Were Found When Warehouse Was Opened, Farmers Caught Disturbance In Ratia After Jakhal, Allegations Of Selling Fertilizers At Higher Rates In Punjab On Aadhar Card Of Ratia Farmers

खाद पर दूसरे दिन भी बवाल:स्टॉक खत्म होने का बोला झूठ, गोदाम खुलवाया तो मिले 125 बैग, किसानों ने जाखल के बाद रतिया में पकड़वाई गड़बड़ी, रतिया के किसानों के आधार कार्ड पर पंजाब में अधिक रेट में खाद बेचने के आरोप

फतेहाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किसानों ने गोदाम को घेरा तो व्यवस्था संभालने पहुंची पुलिस व विभाग की टीम। - Dainik Bhaskar
किसानों ने गोदाम को घेरा तो व्यवस्था संभालने पहुंची पुलिस व विभाग की टीम।

बीते दिन जाखल के किसानों द्वारा खाद वितरण में गड़बड़ी पकड़वाने के बाद वीरवार को रतिया के किसानों ने एक गोदाम में रखे डीएपी के लगभग 125 बैग पकड़वाए हैं। आरोप है कि किसानों ने रतिया मंडी स्थित किसान केमिकल के मालिक से डीएपी खाद मांगी थी, लेकिन उसने कहा कि स्टॉक में खाद नहीं है। इसके बाद कई किसान एकत्रित होकर उक्त दुकानदार के एक्सचेंज रोड स्थित गोदाम में पहुंच गए, जैसे ही किसानों ने विरोध शुरू किया तो मौके पर पहुंचे पुलिस व तहसीलदार ने दुकानदार को बुलाकर जब उसका गोदाम खुलवाया। गोदाम में डीएपी खाद के 135 बैग मिले।

हालांकि किसान केमिकल के स्टॉक में भी उक्त खाद दिखाई गई है लेकिन दुकानदार के किसानों को खाद होने से इनकार करने के चलते विभाग लिखित शिकायत पर उसके खिलाफ कार्रवाई करेगा।इस मामले में किसानों ने विरोध करते हुए कालाबाजारी के आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की।

किसान बोले- 200 रुपये तक अधिक पर पंजाब में बेच रहे खाद

किसान मंदीप नथवान, जगसीर सिंह, काला सिंह, अमनदीप, रुप सिंह ने कहा कि वे दुकानदार के पास गये तो उसने कहा कि खाद नहीं है। उन्हें पता चला कि गोदाम में खाद का स्टाक जमा कर रखा है। किसानों ने आरोप लगाया कि हरियाणा के किसानों व अन्य लोगों के आधार कार्ड इस्तेमाल कर विक्रेता अधिकारियों की मिलीभगत से पंजाब के लोगों को खाद बेच रहे हैं, आरोप है कि इसकी एवज में बड़े व्यापारी अफसरों को मोटा कमिशन देते हैं जिसके चलते अफसर कार्रवाई नहीं करते और विक्रेता किसानों से प्रति थैले पर 200 रुपये अतिरिक्त ले कर पंजाब में खाद बेच रहे हैं। किसानों ने कहा कि सरकार गड़बड़ी में अफसरों की मिलीभगत की जांच करवाए तथा प्रशासन स्टाक करने वालों के खिलाफ केस दर्ज करे।

किसानों ने एक अन्य गोदाम से बंटवाई 300 बैग खाद

उक्त घटनाक्रम से पहले मंडी के ही एक विक्रेता द्वारा अपने गोदाम से चहेते किसानों को खाद वितरण करने की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे किसान संघर्ष समिति के किसानों ने मंडी में आए हुए अन्य किसानों को लगभग 300 बैग खाद वितरित करवाई। किसान नेता मंदीप नथवान ने बताया कि इस यह विक्रेता अपने चहेतों को खाद बांट रहा था, इसके बाद सबको खाद देने के चलते उन्होंने विभाग को कोई शिकायत नहीं दी।

जाखल मामले की जांच में मिलीं ये भी कमियां

  • फर्म द्वारा किसानों के जो बिल काटे गए उसमें किसानों को कम खाद दी गई है जबकि बिल अधिक बैग के काटे गए हैं।
  • गड़बड़ी करने वाली केवल फर्टीलाइजर फर्म के किसी भी गोदाम में फर्म के नाम का बोर्ड नहीं लगा हुआ था।
  • फर्म ने स्टॉक बोर्ड नहीं भरा हुआ था तथा बिलों में किसानों का मोबाइल नंबर व पूरा पता नहीं लिखा था।

​​​​​​​खाद का उपलब्ध स्टॉक

  • यूरिया3.80 लाख बैग
  • डीएपी46580 बैग
  • एनपीके16800 बैग
  • एसएसपी73500 बैग
  • प्रशासन के अनुसार इस समय जिले में 13719 मीट्रिक टन यानि 3लाख 8680 बैग यूरिया और 2329 मीट्रिक टन यानि 46 हजार580 बैग डीएपी खाद, एनपीके के 16 हजार 800 तथा एसएसपी के 73 हजार 500 बैग उपलब्ध है।

ओवर रेट और एडिशनल सामग्री देने वालों पर कार्रवाई के निर्देश

जिले में खाद की बोगस बिलिंग तथा खाद के साथ अन्य दवाएं बेचने वालों पर सख्ती करते हुए निगरानी के लिए सभी इंस्पेक्टरों को कहा गया है कि प्रतिदिन खाद की स्थिति चेक करें। अगर कोई कोई अनियमितता करता है तो कार्रवाई करें।​​​​​​​

एसडीएम कार्यालय के बाहर दिया धरना, जाम की चेतावनी​​​​​​​

खाद की कालाबाजारी के आरोपों व कार्रवाई न करने के विरोध में गुरुवार को किसानों ने एसडीएम कार्यालय के गेट पर अनिश्चित कालीन दिया। नाराज किसानों ने नारेबाजी कर रोष जताया और कहा की दो दिन में खाद ना मिली तो 16 अक्तूबर को रतिया-फतेहाबाद रोड जाम करेंगे।

आरोप.. लाइसेंस सस्पेंड करना माइनर कार्रवाई

जाखल में किसानों द्वारा पकड़वाई गई गड़बड़ी के बाद विभाग द्वारा फर्म का लाइसेंस सस्पेंड करने पर किसानों ने विभाग के अधिकारियों पर दबाव में काम करने के आरोप लगाया। कहा कि एक्ट में गड़बड़ी करने वाले का गोदाम सीज करने, लाइसेंस कैंसिल करने व केस दर्ज करवाने का भी प्रावधान है, लेकिन विभाग ने 14 दिन के लिए लाइसेंस रद्द की माइनर कार्रवाई की।​​​​​​​

नहीं होने देंगे गड़बड़ी : ओमप्रकाश पूनिया

खाद वितरण में गड़बड़ी रोकने को विभाग गंभीर है, किसानों की शिकायत पर कार्रवाई की जा रही है, रतिया के एक गोदामों में जो खाद मिली है, वह स्टॉक में थी, लेकिन विक्रेता ने किसानों को गुमराह किया है इसलिए कार्रवाई की जाएगी, जाखल मामले में विक्रेता का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया है''-ओमप्रकाश पूनिया, क्यूसीआई।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...