टिकरी बॉर्डर के लिए रवाना हुए किसान:फतेहाबाद से किसानों के जत्थे निकलने शुरू, 26 नवंबर को एक साल पूरा होने पर दिखाएंगे ताकत

फतेहाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फतेहाबाद से टिकरी बॉर्डर के लिए रवाना होते किसान। - Dainik Bhaskar
फतेहाबाद से टिकरी बॉर्डर के लिए रवाना होते किसान।

दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए किसान जत्थों में रवाना होने लगे हैं। आंदोलन के एक साल पूरा होने पर क्षेत्र के किसान दिल्ली के टिकरी बॉडर्र पर ताकत दिखाएंगे। पंजाब से आने वाले किसानों के दल भी यहां हाइवे से गुजर रहे हैं। किसानों का कहना है कि अभी मांगे पूरी नहीं हुई हैं।

फतेहाबाद से टिकरी बॉर्डर के लिए रवाना होते किसान।
फतेहाबाद से टिकरी बॉर्डर के लिए रवाना होते किसान।

फतेहाबाद से भी सैकड़ों किसानों का जत्था दिल्ली के टिकरी बॉर्डर के लिए रवाना हुआ। पगड़ी संभाल जट्टा किसान संगठन की अगुवाई में फतेहाबाद के बाइपास से किसान अपनी ट्रैक्टर ट्राली और अन्य गाड़ियों के साथ टिकरी बॉर्डर के लिए निकले। किसानों के द्वारा रवानगी से पहले नारेबाजी भी की गई। पगड़ी संभाल जट्टा किसान संगठन के प्रदेश अध्यक्ष मनदीप सिंह ने बताया कि 26 नवंबर को किसान आंदोलन को 1 वर्ष पूरा हो रहा है इसी को लेकर किसान हजारों की संख्या में दिल्ली बॉर्डर पर पहुंच रहे है।

फतेहाबाद से दिल्ली बॉर्डर जाते किसानों के जत्थे।
फतेहाबाद से दिल्ली बॉर्डर जाते किसानों के जत्थे।

मनदीप ने कहा कि अकेले फतेहाबाद से ही सैकड़ों किसान अलग-अलग साधन लेकर दिल्ली बॉर्डर जा रहे है। वह अपने किसान साथियों के साथ ट्रैक्टर ट्राली या लेकर दिल्ली की तरफ जा रहे हैं। जब तक सरकार संयुक्त किसान मोर्चा के द्वारा रखी गई अन्य मांगों पर विचार नहीं करती और उन मांगों को नहीं मानती तब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा। जो भी आदेश उन्हें किसान संयुक्त मोर्चा की ओर से मिलेगा उसी का पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 26 नवंबर को भारी संख्या में किसान दिल्ली बॉर्डर पर मौजूद रहेंगे और किसान आंदोलन की सालगिरह मनाएंगे।

खबरें और भी हैं...