पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:पानी निकासी के लिए बनाए रिचार्ज बोर बंद हाेने के कारण कुदनी गांव के अंडरब्रिज पर हो रहा जलभराव

जाखल14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जाखल के कुदनी गांव के अंडरब्रिज में भरा बरसात का पानी। - Dainik Bhaskar
जाखल के कुदनी गांव के अंडरब्रिज में भरा बरसात का पानी।
  • बरसात के दौरान निकासी न होने से हो जाता है जलभराव, अंडरब्रिज के नीचे फंस जाते हैं वाहन

रेलवे फाटक की समस्या से समाधान दिलाने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए रेलवे अंडरब्रिज सुविधा की बजाए दुविधाजनक बनते जा रहे हैं। खासकर बारिश के मौसम में यह आफत बन जाते हैं। रेल लाइनों के नीचे बने अंडर ब्रिज में बारिश का पानी एकत्रित हो जाने से आवागमन में भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है। यह स्थिति पानी निकासी की सही व्यवस्था न होने के कारण हो रही है।

अंडर ब्रिज से एक दर्जन गांवों के लोगों का टोहाना के लिए आवागमन होता है। जिसमें जाखल शहर, जाखल गांव के अलावा साधनवास, सिधानी, चांदपुरा, तलवाड़ा, तलवाड़ी, कासिमपुर, नड़ैल, कुदनी, चुहड़पुर, नत्थुवाल, मामुपुर, म्योंद कलां, म्योंद खुर्द आदि के लोग इसके नीचे से गुजरते हैं।

गांव कुदनी के हरजिंदर सिंह, चुहड़पुर के सरपंच सुखचैन सिंह, जगजीत सिंह नड़ैल, चांदपुरा के सरपंच बलदेव सिंह, रामचंद्र, देशराज, जरनैल भंगु, बिक्कर सिंह, मुंदलिया से तरसेम यादव इत्यादि लोगों ने बताया कि अंडर ब्रिज का लाभ कम बल्कि परेशानी ज्यादा बनी है। एक बार बरसात होने पर कई कई दिनों तक पानी खड़ा रहता है।

पानी निकासी के लिए कोई भी इंतजाम नहीं है। पुल के नीचे जहां पर पानी निकासी के रिचार्ज बोर बनाए गए थे वह पिछले लंबे समय से बंद पड़े हैं। जिससे बरसात के कारण यहां पर दो से तीन फीट तक पानी खड़ा हो जाता है। ऐसे में यहां से गुजरने वाले वाहन चालक पानी में फंस जाते हैं।

हालांकि रेलवे फाटक को बंद कर लोगों की सुविधा के लिए यह अंडर ब्रिज बना था लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के कारण यह लोगों के लिए आफत बन चुका है। पिछले तीन दिनों में हुई बरसात के इस अंडर ब्रिज में पानी भर जाने के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

लोगों का आरोप : बनाने के बाद नहीं की देखभाल

लोगों का यह भी आरोप है कि लाखों रुपए की लागत से बने इस अंडरब्रिज की निर्माण के बाद देखभाल नहीं की। जिस वजह से उन्हें आवागमन करने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। मांग की कि इस अंडरब्रिज में पानी की निकासी के लिए प्रबंध किए जाए। जिससे अंडरब्रिज में पानी जमा न हो वही इसके अंदर बनी सड़क को दुरुस्त करवाया जाए।

रेलवे अधिकारियों से करेंगे बात

कुदनी में अंडर ब्रिज का निर्माण रेलवे द्वारा ही किया गया था। अंडर ब्रिज में पानी निकासी का समाधान भी उन्हीं द्वारा करवाया जाना है। पुल के नीचे पानी जमा होने के कारण हो रही परेशानी के बारे में रेलवे अधिकारियों को अवगत करवाया जाएगा। समस्या का जल्द समाधान करवाएंगे''
रामफल मोर, एसडीओ, पीडब्ल्यूडी टोहाना

यह कार्य संगरूर के अधीन
यह रेलमार्ग अंबाला रेलवे मंडल के अधीन है। जिसका कार्य संगरूर अधिकारियों के अधीन है''
एसके मिश्रा, इंस्पेक्टर, निर्माण विभाग जाखल।

खबरें और भी हैं...