पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत:8 टिपरों का हुआ रजिस्ट्रेशन, 7 वार्डों में होगा डोर टू डोर कचरा कलेक्शन

हांसी7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नप ने खरीदे गए टिपर। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
नप ने खरीदे गए टिपर। फाइल फोटो
  • चालकों की व्यवस्था होने के बाद उतरेंगे सड़कों पर

टिपर से डोर टू डोर कचरा कलेक्शन से वंचित आठ वार्डों में सुविधा शुरू होने वाली है। नगर परिषद द्वारा खरीदे गए टिपर सड़कों पर उतरने के लिए तैयार हो गए हैं। टिपरों का रजिस्ट्रेशन हो गया है और चालकों के लिए टेंडर दिए जाने वाले हैं। सफाई व्यवस्था में सुधार के लिए परिषद दो नए ट्रैक्टर-ट्रॉलियां खरीदने जा रही है।

शहर में अप्रैल में 8 नए टिपर आए थे। रजिस्ट्रेशन न होने के कारण टिपर एक जगह खड़े थे। इन टिपरों की आरसी परिषद ने तैयार करा ली है। अब इनके लिए चालकों के लिए व्यवस्था की जाएगी। जिसके बाद इन्हें फील्ड में उतारा जाएगा। इसके लिए टेंडर लगाने की प्रक्रिया चल रही है। एक टिपर की कीमत 4 लाख रुपए के आसपास है।

इन टिपरों को वार्ड 7, 9, 10, 16, 18, 21 व 23 में चलाया जाएगा। इन वार्डों में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए टिपर की व्यवस्था नहीं थी। टिपर न होने के कारण यहां पर या तो साथ लगते वार्डों के टिपर भेजे जाते थे या फिर रेहड़ियों के माध्यम से कचरा कलेक्शन होता था। वह भी प्रतिदिन नहीं होता था। जिससे इन क्षेत्रों के लोगों को काफी समस्या होती थी। टिपरों को हनुमानगढ़ से तैयार करवाया गया है।

32 लाख रुपए की लागत से यह टिपर तैयार हुए हैं। सफाई व्यवस्था बनाए रखने के लिए दो नए ट्रैक्टर-ट्राली के लिए जनवरी में योजना बनी थी। लेकिन योजना सिरे नहीं चढ़ी थी। योजना कागजों में ही उलझकर रह गई थी। अब इसके लिए प्रशासनिक मंजूरी मिल गई है। आगामी दिनों में इन्हें खरीदा जाएगा।

परिषद के पास पहले से दो ट्रैक्टर व ट्राली हैं। वह वर्ष 2002 मॉडल हैं। नियमानुसार वाहन 15 वर्ष बाद कंडम घोषित हो जाता है। ऐसे में यह ट्रैक्टर ट्राली भी कंडम हो चुके हैं। खराब होने के कारण इनसे अभी काम नहीं लिया जा सकता। ऐसे में नए ट्रैक्टर ट्राली खरीदने की योजना बनी थी।

खबरें और भी हैं...