किसानों पर मामला दर्ज:राखी खास में प्रदर्शन करने वाले 60 किसानों पर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत कार्रवाई

हांसी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राखी खास में धरना-प्रदर्शन करने वाले किसानों पर शाम को पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। मामला इंसीडेंट कमांडर धनपत राम की शिकायत पर दर्ज किया गया। धनपत राम जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी हैं और डीसी की तरफ से नारनौंद इलाके में इंसीडेंट कमांडर तैनात हैं। पुलिस को दी शिकायत में उन्होंने कहा कि 28 अप्रैल को नारनौंद थाना क्षेत्र में पेट्रोलिंग के दौरान दोपहर करीब एक बजे सूचना मिली कि राखी खास में कोऑपरेटिव सोसायटी के प्रांगण में कुछ किसान नेता व गांव के अन्य व्यक्ति धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं।

सूचना पाकर वह मौके पर पहुंचे और देखा कि 50-60 व्यक्ति मीटिंग कर रहे हैं। उन्हें वह नाम से नहीं जानते। यह व्यक्ति राखी खास में कॉपरेटिव बैंक में फसल बीमा घोटाला के बारे में चर्चा कर रहे थे। उन्होंने अपना परिचय देते हुए पूछा कि क्या आपके पास यहां पर एकत्रित होने की किसी सक्षम अधिकारी से अनुमति है।

आयोजक किसी प्रकार की कोई भी अनुमति पेश नहीं कर सके। वहां पर एकत्रित भीड़ ने कोविड-19 के नियमों की अवहेलना की हुई थी। इन सभी व्यक्तियों को अवैध बलवा न बनाने के लिए व कोविड-19 के दिशा निर्देशों की पालना के आदेश दिए गए। परंतु हाजिर किसी व्यक्ति ने कोई बात नहीं सुनी और उचित आदेशों की अवहेलना की। पुलिस ने उनकी शिकायत पर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 की धारा 51 के अलावा दंड संहिता की धारा 143, 145, 188 और 269 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

फर्जी फसल बीमा क्लेम मामले में धरना जारी

नारनौंद, पैक्स ब्रांच राखी शाहपुर में फर्जी फसल बीमा कलेम मामले में किसानों का लगातार चल रहा धरना 28वें दिन भी जारी रहा

बुधवार काे नारनौंद थाना प्रभारी नायब सिंह के नेतृत्व में भारी पुलिस बल राखी में धरना स्थल पर पहुंच गया। कोरोना काल के चलते जिले में धारा 144 लागू होने के दौरान पुलिस प्रशासन ने धरना स्थल पर पहुंच कर किसान धरना कमेटी से बात की। धरने में 20 लोगों से अधिक नहीं होने चाहिए। 30 किसानों पर सहमति बनी।

सभी किसान कोरोना प्रोटोकाल का ध्यान रखे हुए थे। वहीं भारतीय किसान यूनियन के नेता रवि आजाद धरने को समर्थन देने के लिए मौके पर पहुंचे। रवि आजाद धरना स्थल पर जा रहे थो तो बुडाना के करीब सीआईए स्टाफ द्वारा उन्हें रोका गया।

जानकारी मिलते ही धरना दे रहे किसान नेताओं ने माइक से कहा कि किसान शांतिपूर्वक धरना दे रहे हैं। पुलिस प्रशासन द्वारा रोके गए किसान नेता को 20 मिनट में धरना स्थल पर नहीं पहुंचाया गया तो धरना कमेटी दोनों गांव में जाकर लोगों, महिलाओं व बच्चों को बुलाकर धरना स्थल पर आकर बैठ जाएगी।

थाना प्रभारी नायब सिंह ने स्थिति की गंभीरता को समझते हुए सीआईए को फोन कर स्थिति से अवगत करवाया। तब जाकर रवि आजाद को धरना स्थल पर जाने दिया गया। किसानों को संबोधित करते हुए आजाद ने पैक्स सोसाइटी बैंक कर्मचारियों द्वारा की गई धोखाधड़ी से न्याय दिलवाने की मांग की। उन्हाेंने कहा कि घोटाले में शामिल कर्मचारियों को जांच होने तक सस्पेंड नहीं किया जाता तब तक लगातार धरना जारी रहेगा।

खबरें और भी हैं...