हांसी नगर परिषद के JE को किया बर्खास्त:काली देवी रोड के निर्माण में घटिया सामग्री प्रयोग मामले में गिरी गाज

हांसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकातमक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकातमक फोटो।

हरियाणा के हांसी में काली देवी सड़क के निर्माण में प्रयुक्त सामग्री का सैंपल कई बार फेल होने की गाज जेई जितेंद्र खांडा पर गिरी है। डीएमसी ने नगर परिषद के ऑउटसोर्सिंग पर तैनात जेई जितेंद्र की सेवा समाप्त कर दी है।

नगर परिषद सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक काली देवी रोड के निर्माण में अनियमितता की शिकायत हुई थी। इस मामले की जांच के बाद निर्माण सामग्री की जांच के लिए नमूना भेजा गया। नमूना फेल होने पर ठेकेदार के खिलाफ 1 करोड़ 90 लाख रुपए की रिकवरी के आदेश दिए गए थे। मामले को लेकर जेई जितेंद्र खांडा को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। जेई के जवाब से उच्च अधिकारी संतुष्ट नहीं हुए। अब डीएमसी ने जेई की सेवा से हटा दिया है।

दो प्रयोगशालाओं में सैंपल फेल

बता दें कि काली देवी रोड का निर्माण शुरू से ही विवादों में रहा है। निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर बार-बार सवालिया निशान लगे। निर्माण सामग्री की सैंपल जांच के लिए अलग-अलग दो प्रयोगशालाओं को भेजी गई। दोनों ही जगह से सैंपल फेल होने की रिपोर्ट आई।

दूसरे जेई पर गिरी गाज

जितेंद्र खांडा से पहले परिषद के अन्य जेई राहुल की सेवा समाप्त कर दी गई थी। राहुल पर श्मशान घाट की जमीन में प्लाट काटने का आरोप था। दोनों ही आउटसोर्सिस से परिषद में नियुक्त थे। जितेंद्र खांडा ने बताया कि सेवा समाप्ति के आदेश की जानकारी मिली है। आदेश की प्रति मिलने पर अगला निर्णय लिया जाएगा।