पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पारदर्शिता लाई जाएगी:खुले दरबार में दो घंटे से अधिक समय में नहीं निकला कोई संतोषजनक समाधान

हांसी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खुले दरबार में सवालों का जवाब देते एसडीओ सब अर्बन सुरेंद्र बुद्धिराजा। - Dainik Bhaskar
खुले दरबार में सवालों का जवाब देते एसडीओ सब अर्बन सुरेंद्र बुद्धिराजा।

सुलतानपुर के लोगों द्वारा बिजली के बिलों का भुगतान न करने के ऐलान के बाद बिजली निगम द्वारा गांव में खुला दरबार लगाया गया। खुले दरबार में दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के एसडीओ सब अर्बन सुरेंद्र बुद्धिराजा व अन्य अधिकारी मौजूद थे। दरबार में अधिकारियों व ग्रामीणों में बिलों को लेकर लंबे दौर की बातचीत हुई। मगर समस्या का सर्वमान्य समाधान नहीं निकल सका।

ग्रामीणों ने एसडीओ से कहा लोगों के 80-80 हजार रुपए तक के बिल आए हुए हैं। बिल घरों के मीटर के हैं। लोग यहां फैक्ट्रियां नहीं चला रहे। जवाब में एसडीओ ने कहा कि मामले में पूरी पारदर्शिता लाई जाएगी। कहां पर चूक हुई, यह देखखर जल्दी ही भूल सुधारी जाएगी। देखा जाएगा कि कहां गड़बड़ी हुई है। मीटर रीडिंग में गलती हुई या दफ्तर की कोई गलती है। लोगों ने कहा कि बिजली के मीटर लगाए गए हैं, बहुत तेज चलते हैं। आप चाहो तो चेक करके देखें। अधिकारियों के बीच बातचीत का दौर करीब दो ढाई घंटे चलता रहा। एसडीओ ने कहा कि जल्द ही समस्याओं का समाधान किया जाएगा। जो डिफेक्टिव मीटर है, उनको चेक करके बदला जाएगा। जिसके बिल ज्यादा आए हैं, उनका रिकॉर्ड चेक करके जल्द दुरुस्त करवाए जाएंगे। राम भगत मलिक, देवेंद्र मलिक, दीपू मलिक, संदीप, बलजीत, सुरेश मलिक, प्रदीप धारीवाल ने कहा कि वह खुले दरबार से संतुष्ट नहीं हैं, क्योंकि उनकी जो समस्या थी, उसका मौके पर समाधान नहीं हो सका।

आशा करते हैं कि बिजली निगम जल्द ही हमारी मूलभूत समस्याओं का निवारण करेगा। नहीं तो आगे भी पुरजोर तरीके से विरोध किया जाएगा। बिजली निगम अपने सिस्टम के खामी को स्वीकार करेगा, तभी समस्या दूर होगी।'' -देवेंद्र मलिक, पूर्व पंच।

खबरें और भी हैं...