पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सफाई कर्मियों की हड़ताल पांचवें दिन भी जारी:एक माह का वेतन दिया नहीं माने सफाई कर्मचारी

हांसी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सफाई कर्मचारियों की पांच दिन से जारी हड़ताल का कोई समाधान नहीं निकला। अधिकारियों ने कर्मचारियों को दो टूक जवाब दिया की अभी उनके पास पैसे नहीं हैं, जब परिषद में फंड आएगा तो वेतन देंगे। कर्मचारियों का कहना है कि जब तक वेतन पूरा नहीं देंगे, तब तक काम पर नहीं लौटेंगे। इस बीच कर्मचारियों को एक महीने का वेतन दे दिया गया। लेकिन कर्मचारियों की हड़ताल जारी है।

नगर परिषद के प्रशासक और एसडीएम जितेंद्र सिंह सफाई कर्मियों से मिले। एक प्रतिनिधि मंडल उनसे मिला। कर्मचारियों ने वेतन पूरा देने की मांग की। जिस पर उन्हें बताया गया कि एक महीने का वेतन दे दिया गया है। बाकी का वेतन फंड आने पर दे दिया जाएगा। फंड के लिए मुख्यालय से मांग की गई है। कर्मचारियों का कहना है कि उनका दो महीने का वेतन बाकी है। जब तक पूरा वेतन नहीं मिलता, वह हड़ताल से नहीं उठेंगे। परिषद के अधिकारी ऐसे आश्वासन देकर हड़ताल समाप्त करवा देते हैं, लेकिन बाद में टाल मटोल करते हैं। बता दें कि पांच दिन से सफाई कर्मचारी हड़ताल पर हैं। अपने वेतन व अन्य मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल कर रहे हैं। परिषद में 156 कच्चे व पक्के कर्मचारी हैं। उनकी मांगें है के कर्मचारियों का बकाया दो महीने का वेतन दिया जाए, जीपीएफ, इपीएफ ईएसआई समय पर जमा करवाया जाए, कच्चे कर्मचारियों के वेतन से काटे गए ईएसआई का एरियर बना कर दिया जाए, कर्मचारियों को कोरोना काल से मिलने वाले साबुन तेल का भुगतान किया जाए, कर्मचारियों को शिक्षा भत्ता व एलटीसी दी जाए, कर्मचारियों को बकाया एसीपी एरियर व सातवां वेतन दिया जाए।

सफाई व्यवस्था नहीं होने देंगे प्रभावित-प्रशासक
कर्मचारियों से बात की थी। एक महीने का वेतन दे दिया है। बाकी का वेतन ग्रांट आते ही दे दिया जाएगा। जल्दी ही इसका हल निकालेंगे। सफाई व्यवस्था प्रभावित नहीं होने देंगे। जो स्थानीय स्तर की मांग है उन्हें यहीं हल कर देंगे। जो सरकार के लेवल की मांग है, उसे सरकार के पास भेजेंगे।'' -डॉ. जितेंद्र सिंह, एसडीएम व एडमिनिस्ट्रेटर, नगर परिषद।

खबरें और भी हैं...