पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रॉपर्टी टैक्स:दो साल से चल रहा है प्रॉपर्टी टैक्स का सर्वे, अधिकारी बोले- सर्वे पूरा, अंतिम रूप देने के लिए चंडीगढ़ भेजा डेटा

हांसी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोगों को अपने प्रॉपर्टी टैक्स बिल जानने के लिए अभी और करना पड़ेगा इंतजार

दो वर्षों तक चले प्रॉपर्टी टैक्स के सर्वे के बावजूद शहर के लोगों को बिल नहीं मिले। कितना प्रॉपर्टी टैक्स बकाया है, यह जानने के लिए लोगों को अभी और इंतजार करना होगा। प्रॉपर्टी टैक्स का सर्वे का काम पूरा नहीं हुआ है। सर्वे को अंतिम रूप देने के लिए डाटा को चंडीगढ़ भेजा गया है।

अभी तक के सर्वे के हिसाब में शहर में करीब 40 हजार प्रॉपर्टी टैक्स यूनिट हैं। लोगों को यह ही नहीं पता चल रहा कि उनका कितना प्रॉपर्टी टैक्स बकाया है। यह जानने के लिए लोगों को परिषद कार्यालय में चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। कतार में लगने के बाद नंबर आ जाए तो पता लगेगा कि कितना टैक्स बकाया है। वहीं बिल भरने के लिए मशक्कत अलग से करनी पड़ती है। सर्वे करने वाली इसी कंपनी द्वारा ही प्रत्येक प्रॉपर्टी टैक्स पर बकाया टैक्स का हिसाब भी लगाया जा रहा है। इससे परिषद को पता लगेगा कि उपभोक्ता पर कितना टैक्स बकाया है। एनडीसी से संबंधित फाइलें अभी भी लंबित है। परिषद में ऐसी 120 फाइलें लंबित हैं। आवेदकों द्वारा लगातार चक्कर काटे जा रहे हैं, लेकिन तब भी उनका काम नहीं हो रहा।

पढें़: शहर पर कितना टैक्स बकाया, कैलकुलेशन शुरू
प्रॉपर्टी टैक्स में लोगों का बकाया टैक्स राशि निकाला गया है। वर्ष 2013-14 से अब तक का बकाया टैक्स प्रति यूनिट के हिसाब से निकाला जाएगा। इसके लिए हरियाणा सरकार ने एक कंपनी को टेंडर दिया हुआ है। कंपनी द्वारा सर्वे का कार्य बीते महीनों में यह कार्य पूरा कर लिया गया है। अब इसे मुख्यालय में भेजा गया है। साथ ही प्रॉपर्टी टैक्स ब्रांच द्वारा भी टैक्स से संबंधित रिकॉर्ड को मुख्यालय को भेजा गया है। लेकिन प्रॉपर्टी टैक्स सर्वे का कार्य पूरा होने में अभी और समय लगेगा। कंपनी द्वारा बाद में शहरों में बिल भी बंटवाए जाने हैं। सर्वे का कार्य वर्ष 2019 में शुरू हुआ था। कुछ महीने के बाद कार्य रुक गया था। बीते वर्ष इसे फिर से चालू किया गया। सर्वे तो पूरा हो गया लेकिन फायदा लोगों को नहीं मिला।

जानिए... बकाया टैक्स ऑनलाइन आएगा
प्रॉपर्टी टैक्स का बिल बांटने का काम वित्तीय वर्ष 2013-14 में हुआ था। इसके बाद से अभी तक बिल नहीं बंटे। बिना बिल के लोगों को पता ही नहीं चलता कि उनका प्रॉपर्टी टैक्स कितना बकाया है। बिना बिल के लोग भी अपना टैक्स भरने में रुचि नहीं दिखाते।

30 सितंबर तक 25 प्रतिशत की छूट
प्रॉपर्टी टैक्स को लेकर सरकार ने छूट दी हुई है। टैक्स के चालू वित्त वर्ष के बिलों पर 25 प्रतिशत और शेष राशि पर 10 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दिए जाने के आदेश है। 30 सितंबर तक यह छूट मिलेगी। मगर छूट का फायदा लोगों को तभी मिल सकता है, जब उनके पास बिल हो।

सर्वे का काम हो गया है पूरा-इंचार्ज
जो हमारे से रिकॉर्ड मांगा गया था, वह हमने उपलब्ध करवा दिया। सर्वे का कार्य पूरा है, अभी चंडीगढ़ में इस पर कार्य चल रहा है। बाकी जो आदेश होंगे, उनकी पालना होगी।'' -भूपसिंह, इंचार्ज, प्रॉपर्टी टैक्स ब्रांच।

खबरें और भी हैं...