पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टॉर्चर करने का मामला:चोरी के शक में स्कूली बच्चे को किया टॉर्चर स्कूल के संचालक सहित छह पर मामला दर्ज

हांसी15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

उमरा के एक प्राइवेट स्कूल के संचालक और कोचों पर एक छात्र के परिजनों ने चोरी के शक में थर्ड डिग्री टॉर्चर करने का आरोप लगाया है। परिजनों ने बताया कि उस पर 3500 रुपये की नकदी व एक अन्य छात्र का कुछ सामान चुराने का आरोप लगाया गया था। साथ ही छात्र को घर पर कुछ बताने से मना किया गया। पुलिस ने स्कूल संचालक, तीन कोच सहित छह के खिलाफ मामला दर्ज किया।

पुलिस को दी शिकायत में लोहारू क्षेत्र के एक गांव के बच्चे ने कहा कि वह उमरा स्थित एक प्राइवेट स्कूल में में पढ़ता है। 21 अप्रैल को यहां दाखिला लिया था। यहां पर बाक्सिंग की ट्रेनिंग व अन्य खेल भी कराते हैं। एक महीना पहले एक अन्य छात्र उसके बेड के पास आया और कहा कि उसका सामान गुम है। इसलिए वह उसके बेड की तलाशी लेगा। बेड उस समय खुला था। उसने बेड की तलाशी लेने के लिए कह दिया। उसके बैग से सैंट की शीशी व एक छोटा स्पीकर मिला। जिसका उसे पता नहीं था कि कहां से आया है।

छात्र ने कहा यह सामान तेरे बैग में मिला है। इस बारे में कोच को बताऊंगा। पीड़ित छात्र ने कहा कि वह उसे विक्रम कोच का नाम लेकर डराने लगा। छात्र का आरोप है कि उनसे 500 रुपये की मांग की गई। डर की वजह से पीड़ित छात्र ने 300 रुपए दे दिये और उसे जूस भी पिलाया। ताकि उनकी शिकायत न करे। क्योंकि उसने विक्रम कोच को अकेडमी में बच्चो को टॉर्चर करते देखा हुआ था।

उसके ऊपर 3500 रुपये चोरी करने का भी आरोप लगा दिया गया। इसके बाद 9 जुलाई को उसे दिन में समय करीब 3 बजे विक्रम कोच ने वार्डन रूम मे बुलाया और बिना कुछ बोले पिटाई करनी शुरू कर दी। पूरे मामले की पुलिस जांच कर रही है।

मारपीट के बाद आरोपियों ने करवाई खेल की प्रैक्टिस

छात्र के अनुसार फिर उसे मारपीट करके 4 बजे बच्चों से साथ प्रैक्टिस करने के लिए भेज दिया। रात 11 बजे उसको कबड्डी कोच बुला कर वार्डन रूम में विक्रम कोच के पास ले गया। जहां पर नवीन शर्मा कोच, वार्डन रूम के बाहर संजय कोच जो संस्था के संचालक है और विक्रम कोच ने उसकी हाथ पीछे मरोड़ कर पिटाई की व उसके बाद गर्दन से पकड़-पकड़ कर उठा-उठा कर मारा पीटा।

होद में लगवाई डुबकी

बाहर खड़े संजय कोच ने कहा कि इसे अपना पानी के होद वाला ट्रीटमेंट दो। पानी के होद में विक्रम कोच ने डुबोया। होद मे डुबोने में कुछ और लड़के भी शामिल थे। उसकी 15 बार होद मे डुबकी लगवाई। उसने बताया कि पिटाई के कारण उनके कंधा, पसली, छाती, पीठ, कोहनी व गर्दन, सिर में दर्द है। उनके शरीर के प्राइवेट पार्ट को भी कोच ने खींचा गया। उसे रात को गाड़ी में बाहर रोड पर सुनसान जगह में लेकर गए थे और कहा कि अगर किसी को बताया तो यह जगह देख लेना।

परिजनों ने छात्र का करवाया सीएचसी में मेडिकल

स्कूल से जाते हुए विक्रम कोच ने उनके माता पिता को कहा कि आप ने जो करना है कर लेना, मेडिकल करवा लो और जो कुछ करवाना है वो भी करवा लेना। उसके माता-पिता ने लोहारू सीएचसी में उसका मेडिकल करवाया तो डॉक्टर ने भिवानी रेफर कर दिया। जहां पर वह उपचाराधीन है। सदर पुलिस ने पीडि़त छात्र के बयान पर विक्रम कोच, नवीन शर्मा कोच, संजय कोच, शशिकांत कोच, विनय व सचिन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

16 को पीड़ित छात्र को परिजन ले गए थे गांव

मारपीट के बाद एक सप्ताह तक उसे दर्द की दवाई दी। उनके साथी ने बर्फ से उसकी सिकाई की। साथ ही यह बात माता-पिता को के नहीं बताने दी। रविवार को घर पर माता-पिता से बात की तो शशिकांत कोच मेरे पास खड़ा रहा और उसकी बातों को ध्यान से सुनता रहा। जल्दी फोन छीन लिया। 16 जुलाई को उसके माता पिता अकेडमी में आए और उसे अपने गांव में ले आए।

छात्र के बयान पर मामला दर्ज कर लिया है। छानबीन कर रहे हैं। इसके बाद आगामी कार्रवाई करेंगे।'' -सुखदेव सिंह, एसएचओ, थाना सदर।

खबरें और भी हैं...