दलजीत और उसके साथियों पर फायरिंग का मामला:गन प्वाॅइंट पर छीनी गई थी वारदात में प्रयोग की कार

हांसी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हिस्ट्रीशीटर दलजीत सिहाग और उसके साथियों पर अंधाधुंध गोलियां चलाने की वारदात में प्रयोग की गई कार के बारे में पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे हैं। वहीं, हिसार के निजी अस्पताल में दाखिल घायलाें काे पुलिस प्राेटेक्शन दी गई है। पुलिस की अब तक की छानबीन में सामने आया है कि ऐसी ही कार को दो दिन पहले नरवाना इलाके में गन प्वाॅइंट पर छीना गया था। पुलिस को यकीन है कि दलजीत और उसके साथियों पर अंधाधुंध फायरिंग करने की वारदात में छीनी गई इसी कार का इस्तेमाल किया गया।

कार का नंबर हासिल करने के लिए पुलिस ने कई टोल प्लाजा के सीसीटीवी कैमरे खंगाले हैं। किसी टोल से यह कार गुजरती हुई नहीं दिखी। पुलिस के अनुसार वारदात को अंजाम देने वाले बेहद शातिर हैं। उन्हें पता था कि किसी भी टोल से गुजरते ही कार का नंबर तुरंत पकड़ में आ जाएगा।

फास्टैग से टोल टैक्स का भुगतान होने पर कार मालिक के पास मैसेज भी जा सकता है। ऐसे में आरोपियों ने कार को किसी टोल से नहीं निकाला। गांवों के रास्तों और संपर्क मार्गों से होते हुए सैनीपुरा फ्लाईओवर के पास आए और वारदात को अंजाम देकर ऐसे ही रास्तों से निकल गए।

हालांकि इस दौरान कार हाईवे पर बने ढाबों पर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई, लेकिन पुलिस को कार का नंबर नहीं मिल पाया। न ही आरोपियों के चेहरों की पहचान हो सकी। कैमरों की फुटेज खंगालने के बाद पुलिस को महज इतना पता चला कि कार में पांच लोग सवार थे। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की सीआईए वन, सीआईए टू, सिटी थाना पुलिस और स्पेशल स्टाफ की चार टीमें लगातार संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही हैं। संदिग्ध लोगों से पूछताछ की जा रही है। आरोपियों के बारे में पुलिस को पुख्ता सबूत हाथ लगे हैं। एक-दो दिन में खुलासा संभावित है।

कार को लेकर जानकारी जुटा रहे : डीएसपी

कार को लेकर जानकारी जुटा रहे हैं। नरवाना पुलिस के संपर्क में हैं। मालिक से जानकारी ली जा रही है। जल्द खुलासा कर देंगे।'' -जुगल किशोर, डीएसपी।

खबरें और भी हैं...