पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परेशानी:धीमे उठान के कारण बोरियों से अटी मंडी, फसल डालने के लिए जगह नहीं

झोझू कलांएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बाजरे की खरीद को लेकर किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 26 दिनों में 27 हजार क्विंटल बाजरे की ही खरीद झोझू कलां खरीद केंद्र से हो पाई है। पहले जहां एक दिन में 10 से 12 किसानों की फसल की ही खरीद हो पा रही थी ताे अब खरीद केंद्र से उठान की समस्या बनी हुई है। ऐसे में किसानों की फसलों का दाम समय पर नहीं मिल रहा हैं। जिसके कारण किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

बाजरे की खरीद को लेकर किसान शुरू से ही परेशानियों का सामना कर रहे हैं। पहले एक दिन में 10 से 12 किसानों की फसल खरीद होने, पोर्टल पर किसानों की खरीद एजेंसी गलत होने व खरीद केंद्र को भी दादरी दर्शाए जाने के कारण किसानों को काफी परेशानी हो रही है। वहीं अब गांव घसौला हैफेड के गोदाम में स्टाॅक पूरा होने के कारण उठान धीमा होने से आढ़तियों के साथ किसानों की चिंता भी बढ़ गई है।

किसानों की इस समस्या को सांगवान खाप व अन्य सामाजिक संगठनों द्वारा उठाए जाने पर अब एक दिन में 140 से 150 किसानों के गेट पास कट रहे हैं। लेकिन समय पर उठान नहीं होने के कारण खरीद केंद्र पर फसल को रखने की जगह कम पड़ती जा रही है। जिससे आढ़तियों को परेशानी होगी वहीं किसानों को भी समय पर उनकी फसल के दाम नहीं मिल सकेंगे।

पोर्टल पर बाजरे की खरीद के लिए हर रोज 150 किसानों के नाम सूची जारी की जा रही है। जिनकी फसल की खरीद समय पर की जा रही है। वहीं जिन किसानों का नाम सूची में शामिल हो चुका है और वह किसी कारण वश अपनी फसल नहीं बेच सके ऐसे किसानों को भी खरीद केंद्र पर आमंत्रित कर उनकी फसल खरीदी जा रही है। घसौला में हेफैड गोदाम में स्टाॅक पूरा हो चुका है। जिसके कारण अब फसल को हांसी गोदाम में भेजा जा रहा है। जिससे ही उठान का कार्य धीमा चल रहा है। -शन्नी यादव, पर्चेजर, हैफेड।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें