पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हादसे में मौत:पुलिस की गाड़ी से घायल बुजुर्ग की मौत, धरने की तैयारी में थे परिजन, पंचायत ने समझाकर करवाया दाह संस्कार

कालांवाली8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गत दिनों डबवाली रोड पर गांव पन्नीवाला रूलदू में पुलिस की गाड़ी के कारण हुए सड़क हादसे में एक बच्ची राजवीर कौर की मौत के बाद उसके साथ ही घायल हुए गांव कालांवाली निवासी 60 वर्षीय साधु खान माैत हाे गई। शनिवार देर शाम को उसका शव कालांवाली लाया गया। लापरवाही को लेकर साधु खान के परिवारजनों में पुलिस प्रशासन के प्रति गहरा रोष पहले से ही था वे रविवार को ओढ़ां कैंचियों पर धरना लगाकर रोष प्रदर्शन करने की तैयारी में थे, लेकिन ग्राम पंचायत ने मौके पर पहुंचकर साधु खान के परिवारजनों को समझाया और धरना न लगाकर साधु खान का संस्कार करने की अपील की।

जिसके बाद रविवार को साधु खान को दफनाकर अंतिम संस्कार किया गया। बता दें कि गत 31 अक्टूबर को कालांवाली पुलिस एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार आरोपियों को डबवाली अदालत मेें पेश करने के लिए ले जा रहे थे। इस दौरान काफी तेज रफ्तार में जा रही पुलिस की बेलेरो गाड़ी अनियंत्रित होकर गांव पन्नीवाला रूलदू के वाल्मीकि मंदिर में वाल्मीकि जयंती के उपलक्ष्य में लगे मेले में घुस गई। जिस दौरान पुलिस की गाड़ी से मेले में जूस पी रही करीब 14 वर्षीय बच्ची राजवीर की मौके पर मौत हो गई थी। जबकि खिलौने का अड्डा लगाकर बैठा साधु खान गंभीर रूप से घायल हो गया था। घटना के बाद राजवीर कौर के परिजनों व ग्रामीणों ने मौके पर जाम लगाकर पुलिस प्रशासन के प्रति रोष व्यक्त किया था।

गांव पन्नीवाला रूलदू में पुलिस प्रशासन की लापरवाही के कारण हुई घटना के बाद राजवीर कौर की मौत से उसके परिजनों के सपने चूर-चूर हो गए। जबकि साधु खान की हुई मौत से उसके परिवार पर दो वक्त की रोटी के लाले पड़ गए है। इसी तरह पुलिस की गाड़ी से क्षतिग्रस्त हुई साधु खान के भतीजे सौदागर खान की कार व नष्ट हुए हजारों रुपयों के खिलौनों से बेरोजगार हो गए है। साधु खान व सौदागर खान ने सरकार व पुलिस प्रशासन से आर्थिक सहायता की मांग की है।

साधु खान के भतीजे सौदागर खान ने बताया कि साधु खान की पत्नी की मृत्यु हो चुकी है। साधु खान के एक ही बेटा है और वह भी क्रिटिकल रोग पीड़ित है। इसके अलावा साधु खान के बेटे की पत्नी व पोती है। साधु खान ही जैसे तैसे पैसों का इंतजार करके बेटे का इलाज खर्च और किराए के घर सहित अपने परिवार को गुजारा करता था। लेकिन साधु खान की मौत के बाद साधु खान के बेटे के इलाज और उसके परिवार पर दो वक्त की रोटी के लाले पड़ गए है। सौदागर खान ने बताया कि वह भी जागरण आदि में गायकी करके अपने परिवार का गुजारा करता था। लेकिन लॉक डाउन के बाद धार्मिक कार्यक्रमों में प्रतिबंध के बाद उसके परिवार पर दो वक्त की रोटी के भी लाले पड़ गए थे। जिसके बाद उसने अपना मकान गिरवी रखकर पुरानी कार व 50 हजार रुपये के खिलौनों का सामान खरीदकर गांव-गांव जाकर उसे बेचकर अपने परिवार को गुजारा करने लगा था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें