कार्रवाई:करोड़ों रुपये की देनदारी छोड़कर भागे शहर के दो व्यापारियों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज

कालांवाली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कालांवाली व पीपीली के चार लोगों की शिकायत पर पुलिस ने दोनों व्यापारियों की तीन फर्मों पर की कार्रवाई

गत दिनों शहर व आस-पास के गांवों के लोगोंं की करोड़ों रुपये की देनदारी छोड़कर भागे दो व्यापारियों के खिलाफ चार लोगों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। कालांवाली पुलिस ने कालांवाली व गांव पिपली के चार लोगों की शिकायत के आधार पर दोनों की तीन फर्मों पर लाखों रुपये के गबन दर्ज कर जांच का जिम्मा सहायक उप-निरीक्षक किशोरी लाल को सौंपा है।

कालांवाली पुलिस को दी गई पहली शिकायत में सोमनाथ गोयल निवासी मंडी कालांवाली ने बताया कि उसने फर्म संचालक राजेश कुमार उर्फ बॉबी सिंगला पुत्र वेदप्रकाश को चेक द्वारा 8 लाख और उसकी पत्नी दयावती ने 2 लाख रुपये चेक के माध्यम से दिए थे। जबकि राजेश सिंगला की पत्नी शालू सिंगला को उसकी पत्नी दयावती ने 10 लाख रुपये चेक के माध्यम से तथा चाैथा उसने शालू सिंगला को 5 लाख रुपये का दिया। इस प्रकार कुल 25 लाख रुपये की राशि चेक द्वारा दी गई थी। आरोपी पहले दी गई राशि लौटाने का भरोसा दिलाता रहा और अब धोखाधड़ी से पैसे ही हड़प गया है और मंडी छोड़कर नामालूम जगह पर भाग गया है। इसी तरह मंजीत सिंह निवासी गांव पिपली ने बताया कि मंडी के बूथ नंबर-23 मैसर्ज रूलिया राम राजेश कुमार के संचालक राजेश सिंगला उर्फ बॉबी सिंगला ने उनके साथ 2 लाख 44 हजार 200 रुपये का गबन किया है। उसने बॉबी सिंगला को उक्त राशि नगद दी थी। बॉबी सिंगला उक्त राशि लेकर फरार हो गया है। इसी तरह सुखविंद्र सिंह निवासी गांव पिपली ने बताया कि उसने श्रीश्याम ग्वार गम मिल के संचालक राजेश सिंगला उर्फ बोबी सिंगला को 31 अगस्त 2020 को 1 लाख 77 हजार रुपये की तथा 11 नवंबर 2020 को 30 हजार रुपये कीमत की गेहूं श्री श्याम ग्वार गम मिल के संचालक राजेश कुमार को बेची थी। आरोपी उसकी गेहूं की 2 लाख 7 हजार रुपये की पेमेंट किए बगैर फरार हो गया है।

इसी तरह चाैथी शिकायत में राजेश कुमार ने बताया कि अनाज मंडी कालांवाली की दुकान नंबर-125ए मैसर्ज श्री बालाजी ट्रेडर्स के प्रोपराइटर पहलाज मोंगा पुत्र केवल कृष्ण मोंगा ने उनके साथ गबन किया है। राजेश कुमार ने अपनी शिकायत में बताया कि उसने अपनी माता कृष्णा देवी के चैक और आरटीजीएस के माध्यम से पहलाज मोंगा को ढाई लाख रुपये दिए थे। मांगने पर उसने टालमटोल की और अब कई दिनों से गायब हो गया है। उसने अपना मोबाइल भी बंद कर लिया है। शिकायतकर्ता ने बताया कि श्री बालाजी ट्रेडर्स के प्रोपराइटर पहलाज मोंगा ने मंडी में कई लोगों से पैसे उधार लिए और गबन कर गया। शिकायत में बताया कि उसने सुशीला पत्नी नवीन कुमार से भी 6 लाख 70 हजार रुपये नगद लिए थे। इसके अलावा कई अन्य फर्मों, किसानों और अन्य लोगों से भी धोखा करके लाखों रुपये बटोरकर फरार हो गया है। पुलिस ने उक्त चार शिकायतों के आधार पर उक्त सभी आरोपियों पर धोखाधड़ी व गबन का केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...