पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पहल:हिसार रेंज में पुलिस कर्मियों के 220 मेधावी बच्चों के लिए स्वीकृत की 10 लाख की राशि

हिसार14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अराजपत्रित अधिकारियों के बच्चों के लिए 75% अंक की शर्त थी, 65% की

पुलिस कर्मियों की भलाई के लिए आईजी राकेश कुमार आर्य ने कल्याण शाखा के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने पुलिस कर्मियों की पेंशन, एक्सग्रेसिया के तहत नौकरी व रिटायरमेंट लाभ, संंबंधित कामकाज को तीन कार्य दिवस के अंंदर-अंंदर निपटाने के निर्देश दिए।

पुलिस कर्मियों के मेधावी बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए मंडल के पांचों जिलों के 220 बच्चों के लिए 10 लाख रुपये की धनराशि स्वीकृत की। पुलिस कर्मियों के उन बच्चों को भी छात्रवृत्ति के लिए मैरिट में राहत दी गई है, जो बीएएमएस या बीएचएमएस की पढ़ाई कर रहे हैं। पहले इन कोर्सों के लिए अराजपत्रित अधिकारियों के बच्चों के लिए 75 प्रतिशत अंक की अनिवार्यता थी, जो अब 65 प्रतिशत कर दी गई है।

सिपाही व मुख्य सिपाही के बच्चों के लिए पहले 70 प्रतिशत अंकों की अनिवार्यता घटाकर अब 60 प्रतिशत कर दी व पुलिस विभाग में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के लिए 60 प्रतिशत से घटाकर 55 प्रतिशत कर दी गई है।

आईजी राकेश कुमार आर्य ने उन सभी पुलिस कर्मचारियों की भी सूची मांगी है, जिन्होंने अपने बच्चों का सही मार्गदर्शन करके उन्हें उच्च पदों पर पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग सेवा, सुरक्षा, सहयोग की भावना से अपने कर्तव्य का निर्वहन के साथ-साथ हर वर्ष राष्ट्र एवं समाज की सेवा के लिए दर्जनों सेना अधिकारी, वैज्ञानिक, डाॅक्टर, इंजीनियर व प्रशासनिक अधिकारी भी तैयार करता है।

उन्होंने पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए की पुलिस कॉलोनियों को स्वच्छ रखा जाए। पार्को के रखरखाव पर भी विशेष ध्यान दें। पुलिस कॉलोनियों में बनी सड़कों व अन्य रिपेयर कार्यों के लिए हरियाणा पुलिस हाउसिंग काॅॅरपोरेशन से पत्राचार करें।

समय-समय पर पुलिस काॅलोनियों का दौरा करके पुलिस कर्मचारियों की सुविधाओं के साथ-साथ उनके बच्चों को स्वच्छ माहौल दिया जाए तथा पढ़ाई व गेम में उनमें अच्छा करने की संभावनाओं पर ध्यान दिया जाए।

खबरें और भी हैं...