पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

काेविड काल में रात में रेलवे स्टेशन का हाल:11 एसपीओ काे पुलिस लाइन बुलाया, रेलवे स्टेशन की सुरक्षा रात में सिर्फ दाे जीआरपी जवान के हवाले

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिसार रेलवे स्टेशन से नदारद जीआरपी के जवान। - Dainik Bhaskar
हिसार रेलवे स्टेशन से नदारद जीआरपी के जवान।
  • रेलवे अधिकारी रात में भी सेनिटाइजेशन के लिए कर्मचारियों की तैनाती का कर रहे दावा
  • स्क्रीनिंग और सेनेटाइजेशन करने वाला काेई नहीं दिखा

रेलवे स्टेशन पर काेविड काल में संक्रमण से बचाव के इंतजाम और रात के समय यात्रियाें की सुरक्षा रामभराेसे ही है। दरअसल, यहां पर तैनात 11 एसपीओ के जवानाें काे हाल में हटा कर लाइन भेेज दिया गया। इसके कारण गुुरुवार रात में सिर्फ जीआरपी के दाे जवान सुरक्षा काे तैनात मिले।

वहीं रात में रेलवे स्टेशन पर पहुंचने वाले यात्रियाें की स्क्रीनिंग से लेकर सेनिटाइजेशन कराने वाला ताे काेई दिखाई नहीं दिया। सेनिटाइजेशन करने वाले कर्मचारी नदारद थे। हालांकि रेलवे अधिकारी यात्रियाें की सुरक्षा और संरक्षा के लिए 24 घंटे कर्मचारियाें की तैनाती का दावा करते नहीं थकते हैं। भास्कर पहले ही खुलासा कर चुका है कि हिसार रेलवे स्टेशन पर यात्रियाें की सेनिटाइजेशन और स्क्रीनिंग के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है। रेलवे अधिकारी हर दूसरे दिन रेलवे स्टेशन काे सेनिटाइजेशन का फाेटाे कराकर खानापूर्ति करते नजर आते है। प्लेटफार्म नंबर एक पर 24 घंटे शिफ्ट वाइज सेनिटाइजेशन के लिए कर्मचारियाें की ड्यूटी लगाने का दावा किया जाता है मगर यहां से अधिकतर कर्मचारी नदारद रहते हैं।

खबरें और भी हैं...