पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • 281 Villages Of The Circle Will Be Included In The Jagmag Scheme In 6 Months, Now There Are 105 Villages In The Scheme

राहत की खबर:सर्कल के 281 गांव 6 माह में जगमग योजना में होंगे शामिल, अभी स्कीम में हैं 105 गांव

हिसार4 दिन पहलेलेखक: यशपाल सिंह
  • कॉपी लिंक
आगामी दाे माह में गांवाें के फीडराें की सप्लाई सुधारने के लिए लग सकते हैं टेंडर। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
आगामी दाे माह में गांवाें के फीडराें की सप्लाई सुधारने के लिए लग सकते हैं टेंडर। (फाइल फोटो)

ग्रामीणाें के लिए अच्छी खबर है। बिजली निगम सर्कल के सभी 281 गांव आने वाले छह माह में जगमग स्कीम में शामिल करेगा। जहां 24 घंटे बिजली की निर्बाध सप्लाई हाेगी। सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए गांवाें में बिजली का इंफ्रास्ट्रक्चर भी सुधारा जाएगा। इसके लिए डीएचबीवीएन ने टेंडर प्राेसेस शुरू किए हैं। आगामी दाे माह में गांवाें के फीडराें की सप्लाई सुधारने के टेंडर लग सकते हैं, इसके बाद छह माह में सर्कल के सभी गांवाें काे मेरा गांव जगमग गांव स्कीम में शामिल किया जाएगा।

उपभोक्ताओं को निर्बाध रूप से बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए इस योजना को शुरू किया है। इसके तहत एसई सर्कल के अंतर्गत आने वाले 298 गांवों को जोड़ा जाएगा। 105 गांवों में कार्य पूरा किया जा चुका है। 79 गांवों में कार्य प्रगति पर है। शेष 114 गांवों के उपभोक्ताओं को योजना के तहत लाने के लिए निगम द्वारा मुख्यालय के पास प्रस्ताव भेजा है।

इंफ्रास्ट्रक्चर में बदलाव, आर्म्ड केबल से लाइनलाॅस में आएगी कमी

गांवाें में बिजली सप्लाई का पुराना इंफ्रास्ट्रक्चर है। यह 40 से 50 साल पुराना है। जगमग याेजना के तहत यहां अब आर्म्ड केबल डाली जाएगी। इससे लाइनलाॅस में भी कमी आएगी। अभी गांवाें में जाने वाली बिजली सप्लाई में 40 प्रतिशत के करीब लाइनलाॅस बताया जा रहा है। आर्म्ड केबल आने से कुंडी कनेक्शन नहीं हाे पाएंगे। टेंडर प्राेसेस में फीडर में नए पाेल, कितने तार, कितने मीटर बाहर आने हैं आदि के एस्टीमेट तैयार किए जा रहे हैं। इससे गांवाें में बिजली इंफ्रास्ट्रक्चर में भी सुधार आएगा।

जानिए... क्या है जगमग याेजना
प्रदेश में मेरा गांव जगमग गांव याेजना 1 जुलाई 2015 को शुरू हुई थी। प्रदेश सरकार ने बिजली चोरी रोकने व बकाया बिजली बिल भरने के उद्देश्य को लेकर मेरा गांव जगमग गांव योजना शुरू की थी। योजना में शामिल गांवों के मीटर बदलने, केबल बिछाने व बकाया बिलों की रिकवरी के बाद इन गांवों में लाइन लाॅस प्रतिशत के हिसाब से अलग-अलग घंटे बिजली देने का प्रावधान किया गया था।

बिजली निगम सर्कल के सभी गांव आने वाले छह माह में जगमग स्कीम में शामिल किए जाएंगे। इसके लिए टेंडर प्रक्रिया चल रही है, अभी इसमें दाे माह का और समय लग सकता है''-पीसी मीणा, एमडी, बिजली िनिगम।

खबरें और भी हैं...