पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आरोप:अस्पताल के फार्मेसी संचालक सहित 4 पर दर्ज करवाया केस

हिसार10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दवाओं के बिल मांगने पर किया अभद्र व्यवहार

सिविल लाइन थाना पुलिस ने ढंढूर बीड़ वासी बलराज की शिकायत पर तोशाम रोड स्थित एक अस्पताल के परिसर में संचालित फार्मेसी संचालक सहित चार के खिलाफ जातिसूचक अपशब्द बोलने का केस दर्ज किया है। पुलिस को शिकायत में बलराज ने बताया कि मुझे फेफड़ों से संबंधित बीमारी थी। मैंने जयपुर से दवाइयां लेकर इलाज करना शुरू कर दिया था।

सिविल अस्पताल में भी ट्रीटमेंट होता रहा था। बीमारी बढ़ने की वजह से नवल अस्पताल में इलाज करवाना शुरू कर दिया था। आरोप है कि वहां फार्मासिस्ट बिना टेस्ट किए दवाइयां देता रहा। इस दौरान मुझे कोई आराम नहीं हुआ था। इसके बाद दूसरे अस्पताल में जाकर जांच करवाई थी। वहां पता चला कि दिल की बीमारी है। इलाज शुरू करवाया और कुछ आराम हुआ था।

आरोप है कि जब मेरी पत्नी जांच रिपोर्ट व बिल लेने के लिए उक्त अस्पताल में गई थी, तब वहां मौजूद फार्मासिस्ट, इनके सहायक राहुल, मंजू व विजय ने तैश में आकर पत्नी के साथ अभद्र व्यवहार किया। जातिसूचक अपशब्द बोले थे। इस संबंध में डीसी को शिकायत दी थी। आरोप है कि सिविल अस्पताल में फार्मासिस्ट व उसके सहायक से आमना सामना हुआ था। वहां पर फाइल जमा करवाने आए थे। उस दौरान भी इलाज संबंधित दस्तावेज नहीं दिए थे। इस मामले में फार्मासिस्ट संजय का कहना है कि आरोप निराधार हैं।

इधर परिजनों ने शव उठाने से कर दिया इंकार

मॉडल टाउन स्थित अस्पताल में दाखिल कोरोना ग्रस्त मरीज की उपचार के दौरान मौत हो गई। अस्पताल प्रबंधन ने मरीजों को सरकार द्वारा निर्धारित कोविड ट्रीटमेंट पैकेज अनुसार रुपये जमा करवाने के लिए कहा था। इस पर परिजनों ने इंकार कर दिया। आरोप लगाया कि इलाज किए बगैर ही बिल बना दिया। ऐसे में अस्पताल प्रबंधन ने डीसी सहित अन्य अधिकारियों को मामले की जानकारी दी। प्रशासनिक अधिकारियों ने हस्तक्षेप करते हुए शव को एंबुलेंस से फतेहाबाद पहुंचा दिया। इस मामले में गीतांजलि अस्पताल के संचालक डॉ. कमल किशोर ने बताया कि मरीज जब आया था उसमें 56 फीसद ऑक्सीजन थी। काफी गंभीर स्थिति में था। उसका 17 दिन तक इलाज चला और वह वेंटीलेटर पर था। दवाइयों से लेकर टेस्टिंग तमाम खर्चा अस्पताल द्वारा किया गया था। परिजनाें ने सिर्फ 3 हजार रुपये ही जमा करवाए थे। डॉ. कमल किशोर ने बताया कि लोग जानबूझकर दबाव बनाते हैं। सरकार की गाइडलाइन के तहत ही इलाज का खर्च मांगा था, जोकि देने से मना कर गए थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें