पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • 8 Asian Lions Found Positive In Hyderabad; Special Attention Is Being Paid To The Wildlife In Deer Park, The Department Also Included Pulses In The Deer Diet.

कोरोना का डर:हैदराबाद में 8 एशियन शेर मिल चुके पॉजिटिव; डियर पार्क में वन्य प्राणियों पर दिया जा रहा विशेष ध्यान, विभाग ने हिरणों की डाइट में दाल भी शामिल की

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिसार के डियर पार्क में घूमते हिरन। (फाइल फोटो।) - Dainik Bhaskar
हिसार के डियर पार्क में घूमते हिरन। (फाइल फोटो।)
  • कोविड के चलते अभी आम पब्लिक के लिए बंद ही रहेगा डियर पार्क
  • पार्क परिसर में सेनिटाइजर के इस्तेमाल पर दिया जा रहा ध्यान

हैदराबाद में 8 एशियन शेर काेराेना पॉजिटिव मिलने के बाद हिसार का वन्य प्राणी विभाग भी अलर्ट हाे गया है। डियर पार्क में माैजूद हिरणाें पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यही नहीं अभी काेराेना से बचाव के मद्देनजर डियर पार्क अभी बंद रहेगा। अभी उसे नहीं खाेला जाएगा।

डियर पार्क के इंस्पेक्टर राजबीर सिंह का कहना है कि पार्क में माैजूद 109 हिरणाें पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्हें हरे चारा के अलावा दाल आदि खिलाई जा रही है। जिन कर्मचारियाें की ड्यूटी हिरणाें की देखरेख के लिए लगाई है। सेनिटाइजर आदि का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए हैं। लुवास के वैज्ञानिक पशुपालकाें काे काेराेना से बचाने के संबंध में टिप्स दे रहे हैं।

लुवास असिस्टेंट प्राेफेसर डाॅ. निलेश सिंधू के अनुसार कोविड 19 रोग एक विषाणु जनित संक्रामक रोग है जो संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से होता है। यदि संक्रमित व्यक्ति अपने पालतू बिल्ली व कुत्ते के संपर्क में आता है तो वह उन्हें भी संक्रमित कर सकता है। यह रोग संक्रमित के श्वास से, खांसने से एवं छींकने से फैलता है।

लुवास के वैज्ञानिकाें के अनुसार पशुपालक यह बरतें सावधानी...

  • पशुओं से संपर्क में रहने पर सावधानी रखनी चाहिए ताकि मनुष्यों से पशुओं में इसके फैलने के संभावना से बचा जा सके।
  • घर पर ही रहकर पशुओं का और पालतू जानवरों का रखरखाव करें।
  • पशुओं को चारा और पेयजल घर पर ही दें। पालतू कुत्ते व बिल्ली को भी घर पर रहकर, पर्याप्त भोजन व पीने के पानी की व्यवस्था करें।
  • पालतू कुत्ते व बिल्ली को घर पर ही व्यायाम करवाएं। घर के आंगन या छत पर यह कार्य कर सकते हैं।
  • पशुओं को नहलाने की व्यवस्था घर पर ही करें।
  • पशुशाला की सफाई पर विशेष ध्यान दें। पशुशाला की सफाई 1 प्रतिशत हाइपोक्लोराइट एवं ब्लीच (7 ग्राम एक लीटर पानी में) से करें उसी तरह घर के फर्श की सफाई भी 1 प्रतिशत हाइपोक्लोराइट से करें।
  • दरवाजे व उनके हैंडल, खिड़की इत्यादि को भी 1 प्रतिशत हाइपोक्लोराइट से साफ करें।
  • पालतू कुत्ते व बिल्ली के खान पान के बर्तनों को गरम पानी एवं ब्लीच (15 ग्राम, 4 लीटर पानी) से साफ करें।
  • यदि आप स्वस्थ महसूस नहीं कर रहे तो आप किसी अन्य सदस्य की मदद से पशुओं का, पशुशाला का एवं कुत्ते व बिल्ली के रखरखाव का कार्य सम्पूर्ण करें और पशु के नजदीक न जाएं।
  • अपने हाथों को बार-बार साबुन से धोएं, इसके बाद सैनिटाइजर (70% आइसोप्रोपिल अल्कोहल) लगाएं। सैनिटाइजर लगाने के बाद आग/अग्नि (धूम्रपान, माचिस, लाइटर, खाना पकाने वाली गैस, बिजली के खटके इत्यादि) के समीप न जाएं जब तक यह सम्पूर्ण रूप से वाष्पीकृत न हो जाए।
  • पालतू कुत्ते व बिल्ली के संपर्क में आने के बाद हाथों को अवश्य धोएं।
  • अपने चेहरे पर मास्क लगाएं (मुंह और नाक को ढकें), इसके बाद ही पशु की देखभाल करें।
  • पशुओं को पौष्टिक आहार समय पर उपलब्ध करवाएं ताकि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहे।
  • आवश्यक परामर्श एवं जानकारी हेतु पशु चिकित्सक से दूरभाष द्वारा संपर्क करें। आपात स्थिति में पशु को तुरंत पशु चिकित्सालय लेकर जाएं।
खबरें और भी हैं...