सचिवालय के बाहर धरना:बीमा कंपनियों पर धोखाधड़ी का आरोप कई गांवों के किसान डीसी ऑफिस पहुंचे

हिसार6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सचिवालय के बाहर धरना देते किसान संगठनाें के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
सचिवालय के बाहर धरना देते किसान संगठनाें के पदाधिकारी।
  • मांगों काे लेकर किसानाें का सचिवालय के बाहर धरना जारी, नारेबाजी कर जताया रोष

बीमा कंपनियाें की धोखाधड़ी और मुआवजा की मांग काे लेकर किसानाें का सचिवालय के बाहर धरना जारी है । धरने पर आज कई गांवों से किसान पहुंचे। धरने की अध्यक्षता किसान नेता रतन सिंह मात्रश्याम ने की। मंच का संचालन जिला सचिव सतबीर धायल ने किया।

किसानाें का आराेप है कि फसल योजना में बीमा कम्पनी द्वारा किसानों से धोखाधड़ी करके अरबों रुपये हड़पे गए हैं। किसान नेता सूबे सिंह बूरा ने कहा कि बीमा कम्पनी एवं बैंकों पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करना चाहिए। साथ गिरदावरी के अनुसार किसानों को मुआवजा मिले। गेहूं की पूरी खरीद, उठान तथा भुगतान समय पर करें।

उन्हाेंने कहा कि धरने को जन संगठनों का भारी जन समर्थन मिल रहा है। गांव चिड़ौद, रावतखेड़ा, नंगथला, रावलवास, सरसाना, जाखोद, काजला, मात्रश्याम आदि गांवों के सैकड़ों लोगों ने धरने का समर्थन किया। जिला प्रधान शमशेर सिंह नम्बरदार ने कहा कि किसानों को तीन महीनों से सहकारी दूध समितियों द्वारा किसानों के दूध के पैसों का भुगतान नहीं हो रहा।

धायल ने कहा कि बिजली निगम की कोई भी टीम अगर गांव में आकर कनेक्शन काटने का काम करेगी तो किसान उस टीम को बंधक बनाएगी। धरने को राजीव मलिक, खजानी देवी लाडवा, ऊषा रानी, रोशनी, सुनील कुमार, पृथ्वी गोरखपुरिया, साधुराम, संतलाल, रामफल, विरेन्द्र बागौरिया ने संबोधित किया।

खबरें और भी हैं...