पंचायत सचिव के खिलाफ फ्रॉड केस:BDPO का डोंगल प्रयोग करके कंपनियों को जारी कर दी रकम, जांच में हुआ खुलासा

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

हरियाणा के हिसार जिले के अग्रोहा खंड के गांव किराड़ा के ग्राम सचिव देवेंद्र कुमार ने पंचायत फंड में फर्जीवाड़ा कर दिया है। अग्रोहा खंड के विकास अधिकारी भगवानदास की शिकायत पर पुलिस ने गांव मलापुर निवासी आरोपी सचिव देवेंद्र कुमार के खिलाफ फर्जीवाड़े का केस दर्ज किया है।

सचिव देवेंद्र कुमार पर लगे आरोप के अनुसार, उसने बीडीपीओ मनोज कुमार का डोंगल प्रयोग करते हुए खुद ही कई कंपनियों को लाखों रुपए का भुगतान कर दिया, जबकि इस बारे में बीडीपीओ को कोई जानकारी नहीं थी। गांव किराड़ा के कई युवाओं द्वारा इस मामले में पहले बीडीपीओ और हिसार डीसी को शिकायत दी गई।

जांच के बाद आरोपी देवेंद्र के खिलाफ केस दर्ज किया गया। शिकायत होने के बाद सचिव देवेंद्र कुमार को अपना पक्ष रखने के लिए भी बुलाया गया, लेकिन वह जांच में शामिल नहीं हुआ। अभी तक हुई जांच में यह घोटाला करीबन छह लाख रुपए का निकलकर सामने आया है, लेकिन यह रकम कई लाखों तक पहुंच सकती है।

ग्रामीणों द्वारा दी गई शिकायत के अनुसार, सचिव ने उन कामों की पेमेंट कंपनियों को कर दी, जो काम गांव में हुए ही नहीं थे। बीडीपीओ भगवान दास के अनुसार, गांव किराड़ा निवासी अजय सैनी व हेमंत कुमार ने पीएम और सीएम विंडो पर शिकायत देकर अग्रोहा ब्लॉक के तत्कालीन बीडीपीओ मनोज कुमार और ग्राम सचिव देवेन्द्र कुमार पर फर्जी तरीके से लाखों रुपए हजम करने का आरोप लगाया था।

शिकायतकर्ता ने बताया कि इस संबंध में फर्जी तरीके से फर्मों को फर्जी काम के बदले यह राशि दी गई है। यह विभागीय जांच का विषय है कि पंचायतों से रिकॉर्ड जब्त किए जाने के बाद कितने गांवों की इस प्रकार की राशि निकाली गई है और कितने गांवों में फर्जी बिलों के नाम पर पंचायतों की राशि हजम की गई है। इसके अलावा आरोप था कि दोनों अधिकारियों ने मिलीभगत करके गांव का पानी का टैंकर भी बेच दिया, जो गांव को राज्यसभा सांसद द्वारा दिया गया था।

खबरें और भी हैं...