हिसार में पति के दोस्तों ने किया महिला से गैंगरेप:किडनैप कर अश्लील वीडियो बनाया; मुंडन कराया, पति ने धोखे से लिया तलाक

हिसार3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो।

हरियाणा के हिसार में राजस्थान की एक विवाहिता से जुर्म की इंतिहा बयां करता केस दर्ज हुआ है। राजविंदर (काल्पनिक नाम) ने शादी के 2 साल के अंदर अपनी बहन की मौत तो देखी ही, साथ ही उसने पुलिस को जो बातें बताई, वो भी कम रोंगटे खड़े करने वाली नहीं है।

आरोप है कि उसके फौजी पति की शह पर दो लोगों ने राजविंदर को किडनैप कर गैंगरेप किया और उसका अश्लील वीडियो बना लिया। इसके अगले दिन ब्यूटी पार्लर ले जाकर राजविंदर का मुंडन करा दिया गया। यहां तक कि उसके पति ने हांसी कोर्ट में उसकी जगह किसी दूसरी महिला को जज के सामने खड़ा कर तलाक भी ले लिया। इसके बाद राजविंदर के घर धमकी भरे पत्र डाले गए। कई महीने चले इलाज के बाद मानसिक बीमारी से उबरने के बाद अब राजविंदर ने पुलिस को आपबीती सुनाई तो सब हैरान रह गए।

दो बहनों की एक साथ हुई थी शादी

FIR के मुताबिक राजस्थान के राजगढ़ क्षेत्र की राजविंदर और उसकी बहन की शादी 6 जून 2020 को राजस्थान के भादरा क्षेत्र में हुई। उसके पति सेना में हैं। शादी के कुछ दिनों बाद ही ससुराल वाले दहेज के लिए तंग करने लगे। 30 मार्च 2021 को राजविंदर ने ससुरालवालों से परेशान होकर जहर खा लिया। उसे हिसार के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती कराया गया। राजविंदर के जहर खाने के 3 दिन बाद, 2 अप्रैल 2021 को उसकी बहन ने भी ससुराल वालों से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। इसके बाद राजविंदर के पिता ने उसकी बहन की आत्महत्या का केस पंचायती समझौते के बाद सिर्फ इसलिए वापस ले लिया कि उसका घर बसा सके। हालांकि ऐसा नहीं हो पाया और राजविंदर की पूरी गृहस्थी बिगड़ गई।

धोखे से लिया तलाक

राजविंदर का कहना है कि पंचायती समझौते के बाद वह पति पर विश्वास करके ससुराल आ गई। पति ने कुछ समय तक उसे अपने पास रखा। फिर उसे धोखा देकर वकीलों की मिलीभगत से हांसी कोर्ट में ले जाकर मैरिज रजिस्ट्रेशन कराने की बात कह कर उससे खाली कागजात पर साइन करा लिए। फिर धोखे से किसी दूसरी महिला को कोर्ट में खड़ा कर तलाक ले लिया। उसके पति की ओर से कोर्ट को बताया गया कि 20 जून 2020 के बाद से वह साथ नहीं रह रहे। इस बीच हांसी तहसीलदार से विवाह का फर्जी मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट भी बनवाया गया।

नानके में दिखाई रिहाइश

पीड़िता राजविंदर का कहना है कि उसका पति मूल रूप से राजस्थान में हनुमानगढ़ जिले के भादरा एरिया के एक गांव का रहने वाला है। उसने तलाक लेने के लिए अपना पता हांसी के एक गांव का दिखाया। यहां उसका ननिहाल है। यहां के फर्जी दस्तावेज तैयार किए गए। शादी से लेकर मैरिज रजिस्ट्रेशन और तलाक आदि के कागजात फर्जी तौर पर तैयार कराए गए।

हिसार में किडनैप कर गैंगरेप

राजविंदर ने बताया कि 18 जनवरी 2022 को उसके पति ने फोन कर उसे दिल्ली बुला लिया। वहां पहुंची तो पति नहीं मिला। उसका फोन भी बंद आ रहा था। परेशान होकर रात को किसी तरह हिसार पहुंची। वहां पहुंचते ही दो युवकों ने डरा-धमका कर उसे किडनैप कर लिया और हिसार के आकाश होटल ले गए। दोनों ने रात में उससे गैंगरेप किया। साथ ही उसकी अश्लील वीडियो भी बना ली। इसके बाद सुबह एक युवक उसे जान से मारने की धमकी देते हुए चला गया।

ब्यूटी पार्लर पर कराया मुंडन

राजविंदर ने पुलिस को बताया कि दोनों युवक उसकी ससुराल वालों की जान-पहचान के थे। वह अपनी शादी में उन दोनों को देख चुकी थी। इसके बाद अगले दिन एक युवक उसे सुबह ब्यूटी पार्लर में ले गया और उसके सिर के सारे बाल कटवा दिए। आकाश होटल और उस ब्यूटी पार्लर के सीसीटीवी में वह साफ दिख रही है। वारदात के बाद वह किसी तरह अपनी ससुराल पहुंची तो वहां ससुराल वालों ने जमीन नाम कराने के लिए उसके साथ मारपीट की। इसके बाद उसे घर से निकाल दिया।

मानसिक संतुलन बिगड़ा

राजविंदर ने पुलिस को बताया कि इस पूरे घटनाक्रम से उसका मानसिक संतुलन बिगड़ गया। वह मायके में रहने लगी। पति और ससुरालवाले उसे डराने के लिए घर पर धमकी भरे पत्र फेंकने लगे। इन पत्रों में लिखा गया कि भतीजी के नाम जो जमीन है, वह हमारे नाम करवा दो वरना उसके पूरे परिवार को जान से मार देंगे। साथ ही उसके अश्लील वीडियो वायरल किए जाएंगे।

वह गहरे सदमे में थी। अस्पताल में चले लंबे इलाज के बाद अब हालत सुधरने पर वह हिसार के एसपी के पास पहुंची और शिकायत दी।

जीरो FIR दर्ज कर हांसी भेजी

हिसार के एसपी ने राजविंदर पर हुए अत्याचार को गंभीरता से लेते हुए उसकी शिकायत पर शहर थाने को तुरंत कार्रवाई करने के आदेश दिए। पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज करके अगली कार्रवाई के लिए हांसी पुलिस को भेजी है। विवाहिता की शिकायत पर पुलिस ने उसके पति और अन्य के खिलाफ धारा 420/467/468/471/323/506/509/376(B)/376(D)/120B IPC के तहत केस दर्ज किया है।