पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हिसाब-किताब:गाेसेवा आयाेग में एजी की ऑडिट, अब निगम से मांगा गोअभयारण्य काे दिए 4 कराेड़ का ब्योरा

हिसार10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राशि कहां-कहां खर्च की उसके फाइनल बिल मांगे

गाे सेवा आयाेग से एजी की टीम ने हिसार गाेअभयारण्य काे दी गई 4 कराेड़ से अधिक की ग्रांट का रिकाॅर्ड मांगा है। गाेसेवा आयाेग ने अब एजी की टीम काे जवाब देने के लिए नगर निगम अधिकारियाें काे लिखा है। उन्हाेंने लिखा कि जल्द जाे गाे सेवा आयाेग से ग्रांट प्राप्त हुई थी, उसका कहां यूज किया गया, इसका फाइनल बिल भिजवाया जाए।

नगर निगम कमिश्नर को गाे सेवा आयाेग ने लिखा कि अभी तक आपके कार्यालय ने गाे अभयारण्य के नाम दी गई चार कराेड़ रुपये की ग्रांट के बिल सबमिट नहीं किए गए हैं। एजी की टीम ऑडिट पर कार्यालय आई हुई है ये बिल उनके सामने प्रस्तुत करने हैं। फाइनल बिल सबमिट हाेने के बाद ही एजी की ऑब्जेक्शन हट पाएगी।

निगम काे दी थी गाेअभयारण्य के नाम पर चार कराेड़ की ग्रांट
वर्ष 2017 में नगर निगम काे गाे सेवा आयाेग ने 4 कराेड़ रुपये की ग्रांट दी थी। इस ग्रांट से गाे अभयारण्य का निर्माण कराया जाना था। जिसमें पाेंड, शेड, चारदीवारी, फाेडर शेड, पशु अस्पताल सहित सभी जरूरत के काम करने थे। हालांकि इससे पहले गाे सेवा आयाेग ने गाेअभयारण्य के निर्माण काे लेकर 10 कराेड़ रुपये की ग्रांट देने की घाेषणा की थी। गाेअभयारण्य बनाने की घाेषणा सीएम मनाेहर लाल ने की थी। बाद में फंड की कमी की बात कहकर आयाेग ने 4 कराेड़ रुपये की ग्रांट रिलीज की थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें