• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • AYUSH Department Will Now Go From House To House To Change The Routine Of People, Along With Giving Information About Planting Medicinal Plants, Will Get Treatment For The Serious Patient.

भास्कर खास:आयुष विभाग अब घर-घर जाकर लोगों की बदलेगा दिनचर्या, औषधीय पौधों को लगाने की जानकारी देने के साथ गंभीर रोगी का पता लगा करवाएगा उपचार

हिसारएक महीने पहलेलेखक: भूपेश मथुरिया
  • कॉपी लिंक
  • आयुष विभाग ने प्राकृतिक तरीकों से लोगों को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने का प्लान तैयार किया

आयुष विभाग ने प्राकृतिक तरीकों से लोगों को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने का प्लान तैयार किया है। धरातल पर काम होगा, जिसमें सबसे पहले समय की मांग अनुसार बिगड़ी दिनचर्या में बदलाव किया जाएगा। इसके लिए एएनएम व आशा वर्करों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। इनका काम लोगों की दिनचर्या में बदलाव कर उन्हें योग से जोड़ने, औषधीय पौधे लगाने व घरेलू उपचार की जानकारी देने के साथ संतुलित एवं पौष्टिक आहार के बारे जानकारी देना होगा।

इसके साथ घर-घर जाकर उन रोगियों की पहचान करेंगी, जो शुगर, हाइपर टेंशन, कैंसर इत्यादि गंभीर गैर संक्रमित बीमारियों से ग्रस्त हैं। इन्हें तुरंत इलाज मुहैया करवाने के लिए सेंटर पर भेजेंगी। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक औषधियों के बारे में बताया जाएगा।

दरअसल, कोरोना काल में आयुर्वेद के प्रति लोगों का विश्वास फिर से बढ़ा है। इसे बरकरार रखने के लिए आयुष विभाग ने उक्त कदम उठाया है। विभाग ने सभी जिला सिविल सर्जन को पत्र लिखकर एएनएम व आशा वर्करों को आयुष हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स से जोड़ने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में 350 और हिसार में 31 सेंटर्स हैं। हर सेंटर पर 2-2 एएनएम व 5-5 आशा वर्करों की नियुक्ति होगी।

विभाग ने इसलिए उठाए हैं कदम

  • गैर संक्रमित बीमारियों से ग्रस्त रोगियों पर कोरोना सबसे ज्यादा कहर बरपा था। आयुष विभाग ने इन रोगियों की तुरंत पहचान कर आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज करवाने के प्रति प्रेरित करने का फैसला लिया है। रोगी की इम्युनिटी जितनी मजबूत होगी, उतना बीमारी शरीर पर हावी नहीं होगी।
  • विभाग की लोगों को योग से फिट रखने की सोच है। इससे मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रह सकते हैं। संतुलित एवं पौष्टिक आहार भी रोग से बचाने में सहायक होगा। दिनचर्या में बदलाव करवाने के लिए एएनएम व आशा वर्कर टिप्स देंगी। डाइट प्लान भी बताया जाएगा।
  • खांसी, जुकाम, इम्युनिटी बढ़ाने की देसी दवाइयां हमारी रसोई में उपलब्ध रहती हैं। लोगों को घर में घरेलू उपचार के टिप्स देने के अलावा उन्हें औषधीय पौधे घर में उगाने की जानकारी भी दी जाएगी।

आयुर्वेद से बीमारियों को जड़ से खत्म कर सकते हैं: डॉ. धर्मपाल पूनिया
दिनचर्या में बदलाव कर खुद को मानसिक व शारीरिक रूप से स्वस्थ रखा जा सकता है। स्वच्छता के प्रति गंभीरता और प्राकृतिक के बीच रहकर योगा, सैर करें। गैर संक्रमित बीमारी से ग्रस्त हैं तो औषधियों के सेवन से राहत संभव है। आयुर्वेद से बीमारियों को जड़ से खत्म कर सकते हैं। पर, जरूरी है बीमारी की समय रहते पहचान व तुरंत इलाज करवाना। इसके लिए आयुष विभाग ने आयुष हेल्थ एंंड वेलनेस सेंटर्स की सेवाएं जन-जन को मुहैया करवाने के लिए कदम उठाया है। - डॉ. धर्मपाल पूनिया, जिला आयुर्वेद अधिकारी।

खबरें और भी हैं...