MLA गुप्ता के आवास के बाहर किसानों का धरना जारी:रात को भी डटे हुए हैं किसान, पुलिस ने नहीं लगाने दिया टेंट; बैरिकेडिंग के साथ भारी पुलिस बल तैनात

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधायक कमल गुप्ता के आवास के बाहर तैनात पुलिस बल। - Dainik Bhaskar
विधायक कमल गुप्ता के आवास के बाहर तैनात पुलिस बल।

हरियाणा के हिसार जिले में किसान भाजपा विधायक डॉ. कमल गुप्ता के आवास के नजदीक किसानों का धरना रात को भी जारी है। किसानों ने विधायक से माफी की मांग करते हुए धरना दिया हुआ है। इसके अलावा किसानों ने जिंदल ज्ञान केंद्र के पास टेंट लगातार पक्का धरना लगाने की तैयारी की थी लेकिन पुलिस ने टेंट नहीं लगने दिया। इस दौरान टैंट का सामान लेकर आए वाहन काफी तेज गति में धरनास्थल पर पहुंचा, जिस कारण काफी देर तक माहौल तनावपूर्ण रहा। किसानों इस बात पर अड़े हैं कि जब तक विधायक ने अपने बयान पर माफी नहीं मांगी, तक तक किसानों का धरना जारी रहेगा और कल से यहां पर लोगों की भीड़ बढ़ाने के लिए भी सन्देश भेजा जाएगा।

बता दें कि कम गुप्ता ने चंडीगढ़ में गत सोमवार को एक बयान दिया था, जिसे लेकर विवाद हो गया। उन्होंने कहा था कि पीडब्लूडी रेस्ट हाउस हिसार में किसानों ने उनपर हमला किया और कपड़े फाड़ दिए। अगली बार मैं बर्दाशत नहीं करूंगा, मैं भी जूडो-कराटे का खिलाड़ी हूं और दो-दो हाथ कर लेंगे।

मलिक चौक पर बंद किया गया रास्ता।
मलिक चौक पर बंद किया गया रास्ता।

दूसरी तरफ बताया जा रहा है कि डॉ. कमल गुप्ता एक दिन पहले ही चंडीगढ़ चले गए हैं। वहीं हालातों को देखते हुए पुलिस ने विधायक के आवास की सुरक्षा बढ़ा दी है। उनके घर की तरफ जाने वाले रास्ते को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है। ट्रैफिक को मलिक चौक व लक्ष्मी बाई चौक से डायवर्ट किया गया है। वहीं बैरिकेडिंग के कारण राजस्थान व अन्य ग्रामीण एरिया की तरफ जाने वाली रोडवेज बसों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बसों को काफी लंबा रास्ता काटकर निकलना पड़ रहा है।

विधायक के घर के बाहर जुटे किसान।
विधायक के घर के बाहर जुटे किसान।

मरीज लेकर आई एंबुलेंस भी फंसी रही
आज दिन में रूट डायवर्ट होने के कारण विधायक आवास के पास मौजूद एक निजी अस्पताल में मरीज लेकर आई एंबुलेंस भी फंसी रही। जिसे एक गली के अंदर से गुजारा गया। इसके इलावा प्रेम नगर एरिया की गलियां भी पुलिस ने बेरिगेटिग करके बन्द की हुई हैं जिसके कारण स्थानीय लोगों को परेशानी हो रही है। किसानों की मांग है कि डॉ. कमल गुप्ता ने उनकी मीटिंग में आकर माहौल को भड़काया है और किसानों को अपशब्द कहे हैं, इसलिए विधायक उनसे माफी मांगें। विधायक जानबूझकर उनकी मीटिंग में आए और उसके बाद उन्हीं के ऊपर कपड़े फाड़ने व हाथापाई करने जैसे गलत बयान दे रहे हैं। विधायक लगातार अपनी बयानबाजी से माहौल को भड़काना चाह रहे हैं। एक बार गलत बयानबाजी करने के बावजूद विधायक खुद को जूडो कराटे का खिलाड़ी बताकर दो-दो हाथ करने की बात बोलकर किसानों को उकसाने का काम कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...