कोरोना का संकट / बडाला में सिक्योरिटी गार्ड का भाई, हांसी में युवक सर्वोदय अस्पताल के 2 नर्सिंग कर्मी पॉजिटिव

Brother of Security Guard in Badala, 2 nursing personnel of Youth Sarvodaya Hospital in Hansi positive
X
Brother of Security Guard in Badala, 2 nursing personnel of Youth Sarvodaya Hospital in Hansi positive

  • हिसार-हांसी में शहर से लेकर गांव तक पहुंचा कोरोना

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

हिसार. जिले में कोरोना पॉजिटिव की संख्या तेजी से बढ़कर 12 पहुंच गई है। शुक्रवार को 4 नये केस सामने आने पर स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की नींद उड़ गई। सर्वोदय अस्पताल के नर्सिंग स्टाफ के 2 कर्मी जिनमें से एक 32 वर्षीय गांव चौधरीवास तो दूसरा 28 वर्षीय मूलत: सिरसा हाल सुभाष नगर, वहीं हांसी के गांव बडाला वासी सिक्योरिटी गार्ड का 55 वर्षीय भाई और चौथा हांसी शहर के सेठी चौक में रहने वाला 36 वर्षीय युवक शामिल है। 

हेल्थ की कोविड-19 रेपिड रिस्पोंस टीम ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए तुरंत रोगियों की काॅन्टेक्ट हिस्ट्री जुटाई। इनमें से हाई रिस्क और लो रिस्क लोगों की सूची तैयार कर उनके सैंपल लिए। हाई रिस्क कैटेगिरी वालों को अस्पताल में आइसोलेट किया है, जबकि लो कैटेगिरी वालों को होम क्वारेंटाइन किया है। रोगियों के गृह क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन व इर्द-गिर्द इलाकों को बफर जोन घोषित कर पुलिस तैनात कर दी है। 

डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. जया गोयल ने बताया कि फिलहाल बडाला, हांसी सिटी और चौधरीवास वाला केस ही हिसार में काउंट किया है। सुभाष नगर वाला केस सिरसा में काउंट होगा। नोडल ऑफिसर डॉ. सुभाष खटरेजा, डॉ. नवनीत, डॉ. समीर कंबोज, महामारी विद डॉ. शिल्पी के साथ मीटिंग करके संक्रमण पर कंट्रोल की रणनीति बनाई है।

पॉजिटिव केस की दिल्ली से गांव और हांसी शहर लौटने की हिस्ट्री, आर्य काॅलोनी में काॅन्टेक्ट वाले 34 के सैंपल लिए
 नोएडा से दिल्ली होते हुए 57 वर्षीय सिक्योरिटी गार्ड बडाला पहुंचा था। जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। काॅन्टेक्ट में आकर पत्नी व बेटी भी कोरोना पॉजिटिव हुई। इन्हें अग्रोहा में दाखिल किया। गार्ड के 55 वर्षीय भाई की रिपोर्ट निगेटिव थी। उसे होम क्वारेंटाइन किया था। उसका दोबारा सैंपल लेने पर पॉजिटिव रिपोर्ट आई। वहीं, एक और नया मामला हांसी सिटी के सेठी चौक में सामने आया है, जोकि दिल्ली से लौटकर आया था। यह एक माह तक दिल्ली में रहा था। वहां रिश्तेदार का लीवर ट्रांसप्लांट करवाने के लिए आईएलबीएस अस्पताल में रहा था। 19 मई को लौटकर आया था। इस दौरान सेठी चौक व आर्य कॉलोनी में अपने घर व रिश्तेदारों के यहां रुका। सिविल अस्पताल में सैंपल दिया था, रिपोर्ट पॉजिटिव आई। डॉ. पुलकित बिमल की टीम ने हांसी में जाकर सेठी चौक, आर्य काॅलोनी में रोगी काॅन्टेक्ट वाले 34 और सिविल अस्पताल हांसी में 8 सैंपल लिए हैं।

जानिए... हिसार-हांसी में किस रोगी की क्या है हिस्ट्री

हिसार यहां सर्वोदय अस्पताल के 2 नर्सिंग कर्मी पॉजिटिव मिले हैं। अस्पताल में जींद के गांव पेगा का रहने वाला 54 वर्षीय मुंबई पुलिस कर्मी दाखिल हुआ था। उसे कैंसर था। जिंदल अस्पताल में इलाज करवाने के दौरान लामा हुआ था। तब उसकी कोरोना जांच के लिए सैंपल लैब में भिजवाया हुआ था। इसकी रिपोर्ट आने से पहले वह आधार अस्पताल गया था। वहां दाखिल नहीं किया तो फिर सर्वोदय अस्पताल आया था। यहां उसका इलाज चला। बाद में पता चला कि उसकी लैब से रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसे अग्रोहा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया था। जहां उसकी मृत्यु हाे गई थी।

चौधरीवास का 32 वर्षीय रोगी रोज गांव से अस्पताल आता-जाता था। परिवार में पत्नी, दो बेटियां व माता-पिता हैं। गांव जाकर दंत सर्जन डॉ. बंसीलाल और एलटी वेदव्रत की टीम ने परिजनों के सैंपल लिए। 
दूसरा पॉजिटिव 28 वर्षीय सिरसा स्थित कंगनपुर रोड हाल हिसार स्थित टाउन पार्क के सामने सुभाष नगर में किराये पर कमरा लेकर रहता है। 16 मई के बाद सिरसा नहीं गया। अस्पताल में काम करता और उक्त कमरे में रहता। पैथोलॉजिस्ट डॉ. मनीष पचार की टीम ने सुभाष नगर जाकर 14 सैंपल लिए हैं।

42 दिन बाद सुपर लॉकडाउन से मुक्त हुई डीसी कॉलोनी

हिसार| आखिरकार 42 दिनों से सुपर लॉकडाउन डीसी कॉलाेनी को मुक्ति मिल गई। सगे भाइयों के कोरोना पॉजिटिव आने के चलते पहले 14 और फिर 28 दिनों के लिए स्वास्थ्य विभाग के सुझाव पर जिला प्रशासन ने कंटेनमेंट व बफर जोन घोषित किए थे। डीसी कॉलोनी व इसके इर्द-गिर्द की कॉलोनियों, अर्बन एस्टेट वासियों को राहत मिली है। अब बफर जोन से करीब एक किलोमीटर दूर बैंक काॅलोनी से सटा सुभाष नगर नया कंटेनमेंट जोन बनेगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना