पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

चिंताजनक:लॉक डाउन के बाद फिर से बढ़े बाल विवाह के मामले, दो माह में दस शादियां रुकवाईं

हिसार3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला बाल विवाह निषेध विभाग बाल विवाह करने वालों पर कसा शिकंजा
Advertisement
Advertisement

लॉक डाउन के बाद फिर से बाल विवाह कराने वालों के मामले सामने आने शुरू हो गए। जून माह की भी बात की जाए तो अब तक आठ बाल विवाह जिला बाल विवाह निषेध विभाग के अधिकारी रुकवा चुके हैं। दरअसल, जिला की यदि बात की जाए तो बाल विवाह रोकने की जिम्मेदारी जिला बाल विवाह निषेध विभाग की टीम को सौंपी गई है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जनवरी माह में विभाग की टीम ने तीन बाल विवाह रुकवाये थे, इसी तरह फरवरी में दो बाल विवाह रुकवाए गए। इसके अलावा लॉक डाउन के कारण मार्च और अप्रैल में कोई भी बाल विवाह नहीं हुआ था। जिसके कारण कोई बाल विवाह नहीं रुकवाया गया ।

मई माह कि यदि बात की जाए तो मई में दो बाल विवाह रुकवाया गए। जबकि जून में बाल विवाह की संख्या बढ़कर आठ पहुंच गई। सूचना आते ही जिला बाल विवाह निषेध अधिकारी व उनकी टीम मौके पर पहुंचती हैं। और शादियों को रुकवाती है। टीम के सदस्य परिजनों को बाल विवाह के खिलाफ जागरूक भी करते हैं।

इस तरह के मामलों की बानगी

  • जिला बाल विवाह निषेध अधिकारी को सूचना मिली कि हिसार के आजाद नगर में एक किशोरी की जबरदस्ती शादी कराई जा रही है। सूचना पाते ही टीम मौके पर पहुंची। शादी को रुकवा दिया गया। साथ ही परिजनों को भी चेतावनी दी गई।
  • जिला बाल विवाह निषेध अधिकारी को सूचना मिली कि हिसार के आजाद नगर में एक किशोरी की जबरदस्ती शादी कराई जा रही है। सूचना पाते ही टीम मौके पर पहुंची। शादी को रुकवा दिया गया। साथ ही परिजनों को भी चेतावनी दी गई।
  • जिला बाल विवाह निषेध विभाग की टीम को सूचना मिली की डाया गांव में एक किशोरी की शादी कराई जा रही है, सूचना पाते ही मौके पर पहुंची शादी को रुकवा दिया गया। किशोरी ने जबरदस्ती शादी करने का आरोप लगाया।
  • जिला बाल विवाह निषेध अधिकारी को सूचना मिली हांसी में एक किशोरी की शादी कराई जा रही है। सूचना पाते ही टीम मौके पर पहुंची तथा किशोरी की शादी को रुकवा दिया गया।

दोषियों पर होती है कार्रवाई:बबीता
जिला बाल विवाह निषेध अधिकारी बबीता चौधरी एवं सहायक जिला बाल विवाह निषेध अधिकारी सचिन मेहता ने बताया कि बाल विवाह की सूचना पाते ही टीम मौके पर पहुंचकर कार्रवाई करती है। लोग किसी भी तरह की बाल विवाह की सूचना दे सकते हैं बाल विवाह करवाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

हो सकती है दाे साल तक की सजा
सहायक जिला बाल विवाह निषेध अधिकारी सचिन कुमार मेहता के अनुसार अगर कोई व्यक्ति बाल विवाह को बढ़ावा देता है, बाल विवाह की अनुमति देता है या बाल विवाह में शामिल होता है तो ऐसे व्यक्ति को दण्डित किया जायेगा जो कि 2 साल तक की कारावास की सजा या 1 लाख रुपये तक का जुर्माना या दोनों से दण्डित किया जायेगा।

इन नम्बरों पर दे सकते हैं की सूचना: 100,1091, 1098, 9729011052, 9992963638

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप अपनी रोजमर्रा की व्यस्त दिनचर्या में से कुछ समय सुकून और मौजमस्ती के लिए भी निकालेंगे। मित्रों व रिश्तेदारों के साथ समय व्यतीत होगा। घर की साज-सज्जा संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत हो...

और पढ़ें

Advertisement