हिसार के चमारखेड़ा में CM फ्लाइंग की रेड:स्कूल के मनरेगा रिकार्ड में 146 मजदूरों की लगी मिली हाजिरी; नहीं मिला कोई

हिसार5 महीने पहले
सीएम फ्लाइंग की टीम जांच करते हुए।

हरियाणा में हिसार के उकलाना खंड के चमारखेड़ा गांव के प्राइमरी स्कूल पर CM फ्लाइंग ने छापा मारा। फ्लाइंग को सूचना मिली थी कि स्कूल में मनरेगा के काम में फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। टीम ने करीब 1 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक कार्रवाई की और मनरेगा का रिकार्ड जब्त कर लिया। साथ ही इस मामले की रिपोर्ट बनाकर पंचायत विभाग हरियाणा को भेज दी है। सीएम फ्लाइंग की टीम में इंस्पेक्टर ऋषिपाल, सब इंस्पेक्टर रणधीर सिंह, एएसआई सुरेंद्र सिंह, एएसआई जयवीर, हैड कांस्टेबल राजबीर शामिल थे।

जानकारी अनुसार, चमारखेड़ा गांव के प्राइमरी स्कूल में मनरेगा का काम कई दिनों से चल रहा था। इस काम में धांधली की शिकायत सीएम फ्लाइंग हिसार को मिली। सीएम फ्लाइंग की टीम ने दोपहर 1 बजे स्कूल में छापेमारी की। टीम ने जब रिकार्ड चैक किया तो उसमें गांव के ही 146 मजदूरों की हाजिरी दिखाई हुई थी। परंतु स्कूल में कोई मजदूर मजदूरी नहीं करता मिला।

सीएम फ्लाइंग ने स्कूल से मनरेगा का रिकार्ड अपने कब्जे में ले लिया। इस मौके पर पंचायत विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे। मौजूदा समय में ग्राम पंचायतें भंग होने के बाद मनरेगा का काम काज पंचायत विभाग और ग्राम सचिव की देख रेख में होता है। इस संबंध में जब उकलाना बीडीपीओ से संपर्क किया गया तो उन्होंने कॉल रिसीव नहीं की।

हमने कोई गलत काम नहीं किया

वहीं मौके पर पंचायत विभाग के प्रेमचंद का कहना है कि 18 अगस्त को स्कूल में पंचायत मंत्री का दौरा था। इसलिए इससे पहले 16 अगस्त को एक दिन स्कूल में मनरेगा के तहत साफ सफाई करवाई गई। मनरेगा के तहत करवाए गए काम की हाजिरी मस्ट्रोल में लगाई जानी होती है। इसलिए मजदूरों को आज मस्ट्रोल में हाजिरी लगाने के लिए बुलाया गया था। हमने सीएम फ्लाइंग को पूरे मामले से अवगत करवा दिया। अब कल स्कूल समिति और प्रिंसिपल इस मामले को लेकर लिखित में यह जानकारी पंचायत विभाग को उपलब्ध करवा देंगे।

वहीं बीडीपीओ उकलाना अशोक कुमार ने कहा कि सीएम फ्लाइंग के पास शिकायत आई थी कि इस बिना काम के हाजिरी लगाई जा रही है। इस मामले की जांच के लिए जब वे भी टीम के साथ गए तो शिकायत सही पाई गई। मनरेगा के काम की हाजिरी हर दिन ऑन लाइन लगती है। ऐसे नहीं होता कि कुछ दिनों बाद हाजिरी लगाई जाए।