हिसार में अब तक सिर्फ 4 लाख ने लगवाई वैक्सीन:कोरोना की तीसरी लहर का अलर्ट; घटती जा रही डोज की संख्या, सप्लाई की सुस्त रफ्तार संक्रमण रोकने में बाधा

हिसार6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिसार में अब गांवों को वैक्सीनेट करने का अभियान शुरू किया गया है।  - Dainik Bhaskar
हिसार में अब गांवों को वैक्सीनेट करने का अभियान शुरू किया गया है। 

कोरोना महमारी की तीसरी लहर के अलर्ट के बावजूद वैक्सीन सप्लाई की रफ्तार सुस्त है, जो चिंता का कारण बनती जा रही है। विशेषज्ञों द्वारा सितंबर तक कोरोना की तीसरी लहर आने का अंदेशा जताया जा रहा है। लेकिन जिले में कोरोना वैक्सीन सप्लाई की दर बढ़ने की बजाय घटती जा रही है। जिले को प्रतिदिन 12 हजार से ज्यादा डोज की जरूरत है और सिर्फ 5 से 6 हजार मिल रही हैं।

गत साढ़े 6 महीने से वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है और अभी तक सिर्फ 4 लाख लोगों को ही वैक्सीन लग पाई है। अगर यही रफ्तार रही तो जिले के सम्पूर्ण वैक्सिनेशन में ढाई साल का समय लगना निश्चित है, जो चिंताजनक है। जिले की आबाद 12 लाख के करीब है और यहां पर 25 लाख कुल डोज लगाई जानी है। अभी तक 4 लाख 10 हजार को पहली डोज व 90 हजार लोगों को दोनों डोज लगी हैं। अगर सम्पूर्ण सुरक्षा चक्र की बात करें तो जिले में सिर्फ 7.5 प्रतिशत आबादी का ही वैक्सीनेशन हुआ है।

बढ़ने की बजाय घटती जा रही है वैक्सीन सप्लाई

जिले को अब तक वैक्सीन की 5 लाख 4 हजार डोज मिली हैं। जिसमें से करीब 50 हजार डोज वेस्ट हो गई। जुलाई महीने में विभाग ने 3 लाख लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा था, लेकिन डोज नहीं मिल पाने के कारण सिर्फ 1 लाख 20 हजार लोगों को ही वैक्सीन लग पाई है। इसमें से भी 40 हजार हो दूसरी डोज लगी है।

जुलाई में 80 हजार नए लोगों को वैक्सीन दी गई गई है, जो जून के मुकाबले 26 हजार कम हुई हैं। वैक्सीन सप्लाई की रफ्तार कम होने से टीकाकरण बूथ की संख्या भी घटा दी गई है। अब जिले में सिर्फ 8 पॉइंट पर वैक्सीन लगाई जा रही है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रत्ना भारती ने बताया कि अब गांवों को वैक्सीनेट करने का अभियान शुरू किया गया है।

खबरें और भी हैं...