पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Cyber Thugs Took Out Fake Jobs On Various Posts Including Postman In The Postal Department, Offering To Recruit For 5 To 10 Thousand Rupees

सावधान:साइबर ठगाें ने डाक विभाग में डाकिया समेत विभिन्न पदाें पर निकाली फर्जी नौकरियां, 5 से 10 हजार रुपए में भर्ती कराने का दे रहे ऑफर

हिसार19 दिन पहलेलेखक: महबूब अली
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

काेराेना काल में युवाओं की नाैकरी छूटी ताे साइबर ठगाें ने भी इसे अवसर बना लिया। ठगी के लिए राेज साइबर ठग राेज नए-नए तरीके निकाल रहे हैं। रेलवे के बाद अब साइबर ठगाें ने डाक विभाग में भी कई पदाें पर फर्जी वैकेंसी निकाल दी हैं। यही नहीं पांच से लेकर 10 हजार रुपए में ठग डाकिया, पाेस्टमैन और अन्य पदाें पर भर्ती करने का झांसा दे रहे हैं।

वहीं, डाक विभाग के अधिकारियाें ने लाेगाें से अपील की है कि साइबर ठगाें से अलर्ट रहें, उनके बहकावे में नहीं आएं। लाेग डाक विभाग के अधिकारियाें से भी मामलाें की शिकायत कर रहे हैं।

इन 3 केसों से समझें तरीका

केस-1: ढूंढूर गांव वासी राहुल ने बताया कि दाे दिन पहले ही उसके पास अनजान नंबर से काॅल आई। काॅलर ने उसे कहा कि वह डाकिया लगवा देगा, जिसके बदले 5 हजार रुपये उसके खाते में डलवाने हाेंगे। मगर राहुल ने रुपए डलवाने से इनकार कर दिया। मामले की शिकायत दी।

केस-2: सिरसा के सुनील ने बताया कि साेशल मीडिया फेसबुक पर डाकिया, पाेस्टमैन की वैकेंसी के संबंध में पाेस्ट थी। उसने दिए गए नंबर पर संपर्क किया ताे दूसरी ओर से बाेले व्यक्ति ने कहा कि हरियाणा में डाक विभाग में नाैकरी लगवा देगा। पहले पेटीएम से 10 हजार रुपए एडवांस देने काे कहा, मगर सुनील ने ठग हाेने का शक हाेने पर इनकार कर दिया।

केस-3: हिसार के गाैरव ने बताया कि साेशल मीडिया पर डाक विभाग में नाैकरी की पाेस्ट देखी। ईमेल से संपर्क किया ताे एडवांस 10 हजार रुपए मांगे गए। गाैरव ने विभागीय अधिकारियाें से शिकायत की है।

पोस्टमैन को 26 व डाकिया को 32 हजार सैलरी देने का लालच

साइबर ठगाें ने फेसबुक पर ईम्प्लाइज पाेर्टल, नाैकरी पाेर्टल के नाम से आईडी बनाई है, जिसमें पोस्टमैन काे हर माह 26 हजार, डाकिया काे 32 हजार तथा ग्रामीण डाक सेवा काे 38 हजार रुपए प्रतिमाह देने का दावा किया जाता है। यही नहीं फेसबुक आईडी पर ही ऑनलाइन आवेदन मांगा जाता है।

ऑनलाइन आवेदन करने के बाद साइबर ठग खुद आवेदन करने वालाें के माेबाइल पर अनजान नंबराें से काॅल करते हैं कि 5 से 10 हजार रुपए यदि उनके खाते में डाल दिए जाएंगे ताे डाकिया, पाेस्टमैन के पद पर नाैकरी लगवा दी जाएगी। हरियाणा ही नहीं देश के किसी भी जिले में नाैकरी लगवाने का दावा किया जाता है।

फोन पर खुद काे बताते हैं डाक विभाग में बड़े अधिकारी

साइबर ठग बेरोजगारों के पास अनजान नंबराें से काॅल कर लालच देकर अपने जाल में फंसाते हैं... साइबर ठग: नमस्कार जी, हम डाक विभाग से बाेल रहे हैं। व्यक्ति: जी बताइए। साइबर ठग: क्या आपकी लाॅकडाउन के दाैरान नाैकरी छूट गई है या फिर नाैकरी नहीं लग पा रही है ताे हम डाक विभाग में पाेस्टमैन, डाकिया के पद पर नाैकरी लगवा देंगे। व्यक्ति: क्या करना हाेगा, मैं ताे पांचवीं ही पास हूं। साइबर ठग: लग जाएगी, मेरे बताए खाते में पांच हजार रुपए डाल देना। मैं खुद बैंक में बड़े पद पर आसीन हूं। व्यक्ति: ओके सर, हालांकि व्यक्ति ने बताए खाते में रुपए नहीं डलवाए और विभागीय अधिकारियाें से भी मामले की शिकायत दी।

साेशल मीडिया पर 10 हजार आईडी

साइबर ठगाें ने साेशल मीडिया फेसबुक पर दस से अधिक आईडी बना ली हैं। जिनके माध्यम से वह लाेगाें काे अपने झांसे में लेते हैं। जिनमें नाैकरी पाेर्टल, बेराेजगार क्याें, एम्प्लॉयज आईडी आदि शामिल है।

9 माह पहले भी सामने आया था फ्रॉड

करीब 9 माह पूर्व ही साइबर ठगाें ने रेलवे विभाग में भी क्लर्क से लेकर अन्य पदाें पर वैकेंसी निकाली थी। हिसार समेत प्रदेश के विभिन्न रेलवे स्टेशनाें पर वैकेंसी से संबंधित पंफ्लेट चस्पा किए गए थे। हालांकि बाद में रेलवे अधिकारियाें ने मामले की जांच भी कराई थी मगर साइबर ठग हत्थे नहीं चढ़ सके थे।

साइबर ठगाें से बचने के लिए ये करें

साेशल मीडिया पर डाली गई पाेस्ट पर ध्यान न दें। {किसी भी तरह की वैकेंसी के बारे में संबंधित डाकघर में जाकर जानकारी हासिल करें। {अनजान नंबर से काेई काॅल कर नाैकरी लगवाने का दावा करता है ताे उसकी शिकायत पुलिस से करें। {साइबर ठगाें से अपनी पर्सनल डिटेल भी शेयर न करें।

लड़कियाें का लिया जा रहा सहारा

युवकों को फंसाने वाले लड़कियाें का सहारा ले रहे हैं। युवाओं काे फंसाने के उद्देश्य से लड़कियाें से ही काॅल कराई जाती है। हालांकि अभी तक किसी के ठगे जाने का मामला सामने नहीं आया है।

हरियाणा में डाक विभाग द्वारा काेई वैकेंसी नहीं निकाली गई है। लाेगाें काे साइबर ठगाें के बहकावे में नहीं आना चाहिए। लाेगाें काे जागरूक भी किया जा रहा है। कुछ लाेगाें ने माैखिक रूप से शिकायत की है।-संजय कुमार, मंडल डाक अधीक्षक, हिसार।

खबरें और भी हैं...