पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Data: 158 Corona Positives Have Been Found In 6 Villages Of PHC, 112 Have Recovered, 17 Are Active, 8 Have Died.

जागरूकता से सुधार:डाटा पीएचसी के 6 गांव में 158 कोरोना पॉजिटिव मिल चुके,112 स्वस्थ हुए, 17 एक्टिव, 8 की मौत

सुलखनी19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुलखनी: डाटा पीएचसी में कोरोना की जांच के लिए सैंपल लेते हुए टीम। हेल्थ टीमों का गांवों में सैंपलिंग पर फोकस है। - Dainik Bhaskar
सुलखनी: डाटा पीएचसी में कोरोना की जांच के लिए सैंपल लेते हुए टीम। हेल्थ टीमों का गांवों में सैंपलिंग पर फोकस है।
  • गांवों में कोरोना जांच के लिए लोग खुद आगे आने लगे हैं, तभी टूट रही संक्रमण की चेन

डाटा गांव की पीएचसी के तहत आने वाले 6 गांव की आबादी 42,774 है। यहां एक महीने में कोरोना से आठ लोगों की मौत हुई है। वहीं अभी तक कुल 158 कोरोना पॉजीटिव केस आए। जिसमें 17 केस एक्टिव हैं। साथ ही 112 लोग कोरोना को घर पर ही रहकर मात देकर पूरी तरह से स्वस्थ हो गए हैं।

एक महीने में आठ लोगों को कोरोना की वजह से जान गंवानी पड़ी। मसूदपुर में एक महीने कोई भी मौत नहीं हुई है। डाटा गांव में एक महीने में लगभग 25-30 मौत सामान्य रूप से हुई है। सरसाना में 6 सामान्य मौत हुई है। पनिहारी में 7 सामान्य मौतें हुई हैं।

जानिए गांव वाइज आंकड़े

  • डाटा: जनसंख्या 9845, कुल पॉजीटिव 61, एक्टिव केस 9, ठीक हुए 48, मौत 3।
  • मसूदपुर: जनसंख्या 8415, कुल पॉजीटिव केस 31, ठीक हुए 21, मौत 01।
  • खरक पूनिया: जनसंख्या 7335, कुल पॉजिटिव 35, एक्टिव केस 03, ठीक 22, मौत शून्य।
  • पनिहारी: जनसंख्या 6673, कुल पॉजीटिव 08, एक्टिव केस 0, ठीक हुए 06, मौत शून्य।
  • कापड़ो: जनसंख्या 10506, कुल पॉजिटिव 12, एक्टिव केस 03, ठीक हुए 11, मौत 03।
  • सरसाना: जनसंख्या 1936, कुल पॉजिटिव 07, एक्टिव केस 03, ठीक हुए 11, मौत 01।

नोट सभी आंकड़े पीएचसी डाटा के अनुसार उपलब्ध हैं।

रूटीन में टेस्टिंग कर रहे हैं : महताब

हम रूटीन में टेस्टिंग कर रहे हैं। पीएचसी के सभी गांव में अभी हालात पहले से बेहतर हैं। केंद्र पर आने वाले सभी पेसेंट की नियमित रूप जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि 17 लोग अभी भी होम आइसोलेशन पर है। उनकी भी समय पर जांच कर रहे हैं। एक्टिव जोन में 13 केस कोरोना के बने हैं। उनके यहां कोई भी अस्पतालों में दाखिल नहीं है।'' - महताब, सीनियर हेल्थ इंस्पेक्टर, डाटा पीएचसी

गांव में पंचायत कर पाबंदी हटा दी

हमने तो अपने गांव में पंचायत कर पाबंदी हटाई थी। अन्य गांव में क्या है हमें कोई जानकारी नहीं, दूसरे गांव के बारे में क्या कहे, हमारी खाप की कोई पंचायत अलग से नहीं हुई है।'' - रोशन दलाल, प्रधान, रोघी खाप पंचायत

खबरें और भी हैं...