6 मौतों से नारनौंद में मातम:जींद हादसे ने दिए गहरे जख्म; मृतकों में पत्नी, बहनोई, भाई, बेटा, पुत्रवधु और पौता

नारनौंद (हिसार)एक महीने पहले

हरियाणा के हिसार के नारनौंद में शनिवार को हुई प्यारेलाल (70) की मौत से परिवार अभी उबर भी नहीं पाया था कि जींद हादसे में परिवार के 6 और लोगों की मौत ने सबको झकझौर दिया। हादसे ने जहां प्यारे लाल की पत्नी और एक बेटे को छीन लिया, वहीं उसका भाई, एक बेटे की पत्नी, प्यारेललाल का बहनोई और पौते की भी जान चली गई।

हादसे की सूचना के बाद नारनौंद के वार्ड-2 में शोक की लहर दौड़ गई। जिसको भी पता चला, वो ही संवेदना जताने के लिए घर पहुंच गया। दोपहर बाद यहां से मृतकों के शव यहां पहुंचे और शाम को बडे गमगीन माहौल मे अंतिम संस्कार कर दिया गया।

शनिवार को हुई थी मौत

जानकारी के अनुसार 70 वर्षीय प्यारेलाल की अस्थियां विसर्जन करने के लिए पिकअप में सवार होकर परिवार के 23 सदस्य हरिद्वार गए हुए थे। प्यारे लाल का लंबी बीमारी के बाद शनिवार को निधन हुआ था। बीमारी में घर पर ही उनका इलाज चल रहा था। सोमवार सुबह करीब 10:00 बजे प्यारेलाल की अस्थियां विसर्जन के लिए परिवार के लोग हरिद्वार गए थे। मंगलवार सवेरे लौटते समय इनकी गाड़ी जींद के कंडेला मे एक केंटर से टकरा गई।

पांच का मिला शव

जींद हादसे में प्यारेलाल के परिवार के 6 सदस्यों की दर्दनाक मौत हो गई। जींद पुलिस ने नागरिक अस्पताल में 6 में से 5 सदस्यों के शवों को पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिए गए। वहीं छटा सदस्य 60 वर्षीय अर्जुन सिंह, जो प्यारे लाल का चचेरा भाई था तथा हालावाद मोगा पंजाब में रहता था वह नारनौंद में अपने भाई के दाग पर आया हुआ था। उसके शव को उसके परिजनों द्वारा मोगा मंडी पंजाब ले जाया गया है।

ये भी पढ़ेंः जींद में सड़क हादसे में 6 लोगों की मौत:अस्थियां विसर्जित कर लौट रहा था नारनौंद का परिवार; CM ने दु:ख जताया

35 साल पहले नारनौंद आया था परिवार

प्यारेलाल सोरगर जाति से संबंध रखता था। वह अपने परिवार के साथ लगभग 35 साल पहले जींद नहर कॉलोनी से आकर नारनौंद में बसा था। प्यारेलाल के परिवार में पांच बेटे जिनमें सुरेश शीशपाल, वीरभान, सुरेंद्र, रामपाल व एक बेटी जिसका नाम संतोष है। इनमें से उनके दो बेटे शीशपाल व सुरेश जींद में रहते हैं।

नारनौंद में 6 की मौत के बाद प्यारेलाल के घर के बाहर शोक जताने पहुंचे ग्रामीण।
नारनौंद में 6 की मौत के बाद प्यारेलाल के घर के बाहर शोक जताने पहुंचे ग्रामीण।

इनकी हुई मौत

आज हुए इस एक्सीडेंट में 65 वर्षीय प्यारे लाल की पत्नी सुरजी देवी, 47 वर्षीय बेटा शीशपाल, पुत्र वधू 45 वर्षीय चन्नो देवी पत्नी सुरेश व 14 वर्षीय होता अंकुश जो नौवीं कक्षा में पढ़ता था का मौके पर ही देहांत हो गया। इसके अलावा 70 वर्षीय धनाराम जो प्यारेलाल का बहनोई था वह पीलनंगी पंजाब का रहने वाला था। उसका भी इस एक्सीडेंट में देहांत हो गया। वह भी लंबे समय से नारनौंद में रह रहा था।

घर की गाड़ी थी पिकअप

प्यारे लाल का परिवार ईट भट्ठा के अतिरिक्त खुली मजदूरी का कार्य करता है। उसका बेटा शीशपाल जींद में टाटा गाड़ी लेकर डीजे का कार्य करता है। घर की गाड़ी होने की वजह से पूरा परिवार के सदस्य इसमें सवार होकर हरिद्वार गए हुए थे।