पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना अलर्ट:कोराेना से मरने वालों की संख्या पहुंची 105, पोर्टल पर 5 का आंकड़ा सोमवार को हुआ अपडेट, 118 नये संक्रमित भी मिले

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ये गलत है... सिविल अस्पताल में लोग लापरवाह, नहीं रख रहे सोशल डिस्टेंसिंग
  • डेली ऑडिट नहीं हो पा रहीं कोरोना की डेथ रिपोर्ट्स, जान गंवाने वाले रोगियों का आंकड़ा है ज्यादा

कोरोना संक्रमण से मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। आधिकारिक तौर पर जिले में संक्रमण से जान गंवाने वाले रोगियों की संख्या 105 तक पहुंच गई हैं। इनके अलावा ऐसे भी रोगी हैं जिनकी मौत तो संक्रमण से हुई है मगर उनकी डेथ रिपोर्ट्स अभी तक ऑडिट नहीं हाे सकी है। इसलिए कोविड पोर्टल पर आंकड़ा अपडेट नहीं हो रहा है। यह स्थिति अस्पतालों से केस एवं ट्रीटमेंट हिस्ट्री और डेथ रिपोर्ट समय पर नहीं मिलने के कारण बनी हुई है। अस्पतालों को बाकायदा ई-मेल करके रिपोर्ट्स उपलब्ध करवाने का आग्रह किया जा रहा है।

बता दें कि 15 अक्टूबर को कैमरी रोड स्थित बसंत विहार की रहने वाली 78 वर्षीय वृद्धा, प्रोफेसर काॅलोनी के 80 वर्षीय वृद्ध और सेक्टर 14 के 80 वर्षीय वृद्ध कोरोना संक्रमण से जान गंवा चुके हैं। इनकी रिपोर्ट्स का अभी तक ऑडिट नहीं हुआ है, जिसके चलते पोर्टल पर आंकड़ा नहीं जुड़ा है। वहीं, सोमवार को स्वास्थ्य विभाग ने जिन 5 संक्रमितों के मरने की आधिकारिक तौर पर पुष्टि की है उनमें से चार मृतकों की उम्र 60 प्लस थी।

आईडीएसपी इंचार्ज के अनुसार बालसमंद की रहने वाली 64 वर्षीय महिला की 9 अक्टूबर को निजी अस्पताल में मौत हुई थी। मधुमेह व दिल रोग भी था। नंगथला गांव की 72 वर्षीय वृद्धा ने 16 अक्टूबर, उकलाना के भैणी अकबरपुर के 69 वर्षीय वृद्ध ने 17 अक्टूबर और कुंजलाल गार्डन के 75 वर्षीय वृद्ध ने 16 अक्टूबर को उपचार के दौरान दम तोड़ा था। वहीं, 17 अक्टूबर को 55 वर्षीय बैंकर की मौत हुई थी। ये वे मामले हैं जिनकी डेथ रिपोर्ट ऑडिट होने पर कोविड पोर्टल पर आंकड़ा अपडेट हुआ है।

ये गलत है... सिविल अस्पताल में लोग लापरवाह, नहीं रख रहे सोशल डिस्टेंसिंग

यह गलत है। सिविल अस्पताल की न्यू डिस्पेंसरी के पास शुल्क चिकित्सा सेवा संबंधित रसीद कटती है। यहीं पर नॉन मेडिकल रीजन से काेविड जांच के लिए शुल्क देकर रसीद पाने के लिए लंबी लाइन लगती है। इधर, ही डिस्पेंसरी में लोग दवाइयां लेने के लिए लाइन में लगते हैं। सोमवार को स्थिति यह थी कि सोशल डिस्टेंस की पालना नहीं दिखी।

एक होम गार्ड का जवान व चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी भी लोगों को एक-दूसरे से उचित दूरी रखने के लिए कह रहे थे लेकिन कोई नहीं मान रहा था। यहां बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक मौजूद थे। यह लापरवाही संक्रमण को फैलने में घातक साबित हो सकती है। इसके अलावा किसी एक को संक्रमण है तो वह सभी को संक्रमित कर सकता है। ऐसे में यह तस्वीर बदलनी चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें